आपदा में भी कमाई को दे रहे अहमियत,चिरंजीवी योजना में पंजीकृत ई मित्र संचालक कर रहे गड़बड़ी

आपदा में भी कुछ ईमित्र संचालक कमाई को अहमियत दे रहे हैं। हालात ऐसे हैं कि कोरोना काल में लोगों को चिकित्सा सुविधा का लाभ दिलाने के लिए शुरू की गई चिंरजीवी योजना के पंजीकरण कार्य में भी ई मित्र संचालक अनियमितता बरत रहे हैं।

 

By: Purushottam Jha

Updated: 07 May 2021, 01:04 PM IST

हनुमानगढ़. आपदा में भी कुछ ईमित्र संचालक कमाई को अहमियत दे रहे हैं। हालात ऐसे हैं कि कोरोना काल में लोगों को चिकित्सा सुविधा का लाभ दिलाने के लिए शुरू की गई चिंरजीवी योजना के पंजीकरण कार्य में भी ई मित्र संचालक अनियमितता बरत रहे हैं। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत लाभार्थी से पंजीकरण को लेकर अधिक राशि वसूलने पर टिब्बी के सूरेवाला में एक ईमित्र की आईडी को स्थाई रूप से बंद कर दिया गया है।

टिब्बी स्थित सूरेवाला में उक्त ईमित्र संचालक के विरुद्ध लाभार्थी ने चिरंजीवी योजना के पंजीकरण को लेकर अधिक राशि वसूल करने की शिकायत दर्ज करवाई थी। इस पर सूचना प्रोद्योगिकी एवं संचार विभाग टिब्बी की टीम की ओर से ईमित्र कियोस्क का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान उक्त ईमित्र संचालक की ओर से अनियमितता करने की पुष्टि होने के बाद सूचना प्रोद्योगिकी एवं संचार विभाग टिब्बी के प्रोग्रामर की अनुशंसा रिपोर्ट पर ईमित्र कियोस्क की आईडी को स्थायी रूप से बंद किया गया है। इसके अलावा गत दिनों करीब बारह ईमित्र सेंटरों को नोटिस जारी कर सूचना प्रोद्योगिकी एवं संचार विभाग की ओर से उक्त ई मित्र संचालकों से ट्रांजक्शन को लेकर सवाल-जवाब किया गया है।

इन्होंने सेंटर ही नहीं खोले
राज्य सरकार की मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत लाभार्थियों के पंजीकरण ईमित्र कियोस्क के माध्यम से किए जा रहे हैं। जन अनुशासन पखवाड़े में राज्य सरकार ने ई-मित्र खोलने को लेकर अलग से आदेश जारी किए थे कि सभी ईमित्र कियोस्क खोले जाकर उनमें लाभार्थियों का ज्यादा से ज्यादा पंजीकरण किया जाए। मगर संगरिया के 12 ईमित्र संचालकों ने अप्रैल माह में कियोस्क ही नहीं खोले। संगरिया के इन सभी 12 ई-मित्र संचालकों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है।

इतने सेंटर संचालित
हनुमानगढ़ जिले में कुल 2300 ईमित्र सेंटर संचालित हो रहे हैं। वर्तमान में सभी सेंटर सीएम चिरंजीवी योजना में पंजीकृत हैं। जो मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत पंजीकृत हैं। अभी तक जिले में 85400 परिवारों ने चिरंजीवी योजना में पंजीकरण करवाया है। पंजीकरण का कार्य नि:शुल्क है। प्रदेश में तीस अप्रेल तक इस योजना से कुल 22.85 लाख परिवार जुड़ चुके हैं। इस योजना के तहत कैशलेस इलाज के लिए पांच लाख रुपए तक का बीमा कवर होगा। इसमें 850 रुपए की प्रीमियम राशि जमा करवाने पर पूरे परिवार का इलाज हो सकेगा।

कर रहे कार्रवाई
जिले में एक ई मित्र सेंटर पर चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में अनियमितता को लेकर शिकायत मिली थी। इसकी आईडी स्थाई रूप से बंद कर दी गई है। इसके अलावा नियमों की पालना नहीं करने पर संगरिया के बारह सेंटर संचालकों को नोटिस जारी किया गया है।
-योगेंद्र कुमार, उप निदेशक, सूचना-प्रौद्योगिक एवं संचार विभाग हनुमानगढ़

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned