नहर में गिरे पिता-पुत्री का नहीं लगा सुराग, गोताखोरों के साथ तलाश में जुटी पुलिस

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

 

By: adrish khan

Published: 03 Jan 2019, 01:44 PM IST

नहर में गिरे पिता-पुत्री का 24 घण्टो बाद भी नही लगा सुराग
टिब्बी. मसीतांवाली हैड के पास इंदिरा गांधी मुख्य नहर में बुधवार को गिरे पिता-पुत्री का गुरूवार दोपहर तक कोई सुराग नही लग पाया। बुधवार सुबह करीब 10 बजे सहजीपुरा निवासी संदीप जाट व उसकी नाबालिग पुत्री कल्पना की कार व अन्य सामान मसीतांवाली हैड के पास बरामद होने के बाद उनके नहर में गिरने की आशंका जताई गई थी। बुधवार सुबह से ही पुलिस व नहर में गिरे पिता पुत्री के परिजन नहर में उनकी तलाश में जुटे हुए है लेकिन 24 घण्टों से अधिक का समय बीतने के बावजूद दोनों का कोई सुराग नही मिल पाया। मसीतांवाली हैड चौकी प्रभारी भागीरथ भूकर के अनुसार संदीप जाट के परिजन नहर किनारे व नहर के गेट व हैडो पर उनकी निगरानी कर रहे है।
गोताखोर हो रहे असफल
इंदिरा गांधी मुख्य नहर में पानी का तेज बहाव के साथ ही कडकडाती ठण्ड के कारण ठण्डे पानी में डुबकी लगाना गोताखोरो के लिए सहज नही हो रहा। बुधवार को गोताखोरो ने कई बार नहर में डुबकी लगातार संदीप व कल्पना की तलाश का प्रयास किया था लेकिन कडकडाती ठण्ड की वजह से गोताखोर भी लम्बे समय तक पानी में नही टिक सके जिसके कारण दोनों का नहर में कोई सुराग नही मिल पाया। गोताखोरो के असफल हो जाने के बाद अब परिजन नहर किनारे दोनों की निगरानी में जुटे हुए है।
यह था मामला
बुधवार सुबह करीब 10 बजे सहजीपुरा निवासी संदीप जाट अपनी नाबालिग पुत्री के साथ कार में सवार होकर मसीतांवाली हैड पहुंचा तथा वहां पर अपने परिजनों को नहर में गिरने से पहले फोन किया। जिसके बाद उनकी कार व अन्य सामान नहर किनारे मिला था। जिसके बाद पुलिस व उनके परिजनों ने उनके नहर में गिरने की आशंका जताते हुए नहर में तलाश शुरू की थी। प्रारम्भिक तौर पर पिता-पुत्री के नहर में गिरने का कारण सहजीपुरा के तीन लडक़ो के छेडछाड़ कर परेशान किया जाना माना जा रहा है। पुलिस का कहना है कि वास्तवित कारणों का पता नहर में गिरे पिता-पुत्री के मिल जाने तथा जांच के बाद ही लग पाएगा।

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned