पर्यावरण हो रहे नुकसान से परेशान दिखे हनुमानगढ़ के भविष्य के वैज्ञानिक

पर्यावरण हो रहे नुकसान से परेशान दिखे हनुमानगढ़ के भविष्य के वैज्ञानिक
पर्यावरण हो रहे नुकसान से परेशान दिखे हनुमानगढ़ के भविष्य के वैज्ञानिक

Adrish Khan | Updated: 11 Oct 2019, 12:31:53 PM (IST) Hanumangarh, Hanumangarh, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. विश्व में क्लाइमेट चेंज को चेलेंज के रूप में देखा जा रहा है। अधिकांश देश बदलते वातावरण को लेकर गंभीर है। जंक्शन के राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में लगे तीन दिवसीय विज्ञान मेले में बच्चों के अधिकांश मॉडल क्लाइमेंट चेंज पर आधारित है। बच्चों ने मॉडल के जरिए बढ़ते प्रदूषण को रोकने, जलसरंक्षण व अधिक से अधिक पौधे लगाने की अपील की।

पर्यावरण हो रहे नुकसान से परेशान दिखे हनुमानगढ़ के भविष्य के वैज्ञानिक
- हनुमानगढ़ में जिला स्तरीय विज्ञान मेले में पर्यावरण संरक्षण संबंधी मॉडल पर रहा जोर
- विद्यार्थियों ने जल व पर्यावरण संरक्षण का पढ़ाया पाठ
हनुमानगढ़. विश्व में क्लाइमेट चेंज को चेलेंज के रूप में देखा जा रहा है। अधिकांश देश बदलते वातावरण को लेकर गंभीर है। जंक्शन के राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में लगे तीन दिवसीय विज्ञान मेले में बच्चों के अधिकांश मॉडल क्लाइमेंट चेंज पर आधारित है। बच्चों ने मॉडल के जरिए बढ़ते प्रदूषण को रोकने, जलसरंक्षण व अधिक से अधिक पौधे लगाने की अपील की। बच्चों ने संदेश दिया कि भविष्य को बेहतर बनाने के लिए इस विषय पर सोचना होगा। अभी नहीं सोचा तो इसके परिणाम गंभीर होंगे। विज्ञान मेले में जूनियर व सीनियर वर्ग की सात-सात टीमों ने भाग लिया है। इसमें 60 स्कूलों के 246 विद्यार्थी शामिल हैं। प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ मॉडल तैयार करने वाला एक विद्यार्थी राजस्थान स्तर की प्रतियोगिता में हिस्सा लेगा।
इसके अलावा विज्ञान मेले में क्विज प्रतियोगिता भी हुई। इसमें पैनल में शामिल पांच से सात बच्चों से एक साथ सवाल पूछे गए, बच्चे बजर दबाकर सबसे पहले जवाब देने के लिए उत्सक दिखाई दिए। विज्ञान मेले के दूसरे दिन गुरुवार को प्रथम दिन विद्यार्थी सेमिनार प्रतियोगिता का परिणाम घोषित किया गया। इसमें जंक्शन की छात्रा रिया शर्मा प्रथम स्थान पर रही। विज्ञान मेले में द्वितीय दिवस जूनियर व सीनियर वर्ग की ओर से तैयार किए मॉडल का अवलोकन एसपी राशि डोगरा ने किया। इस मौके पर शिक्षा विभाग के अधिकारी सीडीईओ तेजा सिंह, ब्लॉक बीसीएमओ ज्योति धींगड़ा, डीईओ हंसराज जाजेवाला, एसीबीईओ रजनीश गोदारा, एडीईओ रणवीर शर्मा, प्राचार्य सीमा भल्ला, एसडीएमसी अध्यक्ष दुलीचंद, उमाशंकर अरुण, ओपी नंदीवाल, व्याख्याता अनिल जिंदल आदि मौजूद रहे। टिब्बी स्थित केजीबीवी की 13 छात्राओं ने भाग लिया।
यह भी तैयार किए मॉडल
बच्चों ने सोलर पर आधारित खेती, बूंद-बूंद सिंचाई पद्धति, इजराइल में हो रही हाइड्रो पैनिक खेती, बायोगेस यूनिट, वाटर हार्वेस्टिंग, प्रदूषित पानी से हो रहे खेतों को नुकसान आदि समस्या व उनके समाधान पर आधारित मॉडल प्रदर्शनी में लगाए हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned