scriptGandhigiri outside the victim's bank employee's branch | पीडि़त बैंक कर्मचारी की ब्रांच के बाहर गांधीगिरी | Patrika News

पीडि़त बैंक कर्मचारी की ब्रांच के बाहर गांधीगिरी

हनुमानगढ़. अपनी मांगों को लेकर बैंक कर्मचारी ने बुधवार को ब्रांच के बाहर गांधीगिरी करते हुए रोष जताया। छह सूत्री मांगों का बैनर लेकर बैंक शाखा के बाहर सांकेतिक धरना देते हुए प्रबंधन की अनदेखी व कार्यशैली पर रोष जताया।

हनुमानगढ़

Published: November 17, 2021 08:51:50 pm

पीडि़त बैंक कर्मचारी की ब्रांच के बाहर गांधीगिरी
- प्रबंधन का ध्यान खींचने के लिए मांगों का बैनर लेकर बैंक शाखा के समक्ष सांकेतिक धरना
- बैंक प्रबंधन की कार्यशैली पर जताया विरोध
हनुमानगढ़. अपनी मांगों को लेकर बैंक कर्मचारी ने बुधवार को ब्रांच के बाहर गांधीगिरी करते हुए रोष जताया। छह सूत्री मांगों का बैनर लेकर बैंक शाखा के बाहर सांकेतिक धरना देते हुए प्रबंधन की अनदेखी व कार्यशैली पर रोष जताया। जंक्शन धानमंडी स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की शाखा के सामने इसी शाखा से सेवानिवृत्त कर्मचारी जैनेन्द्र कुमार झाम्ब ने अधिकारियों का ध्यान मांगों की तरफ आकर्षित करने का यह प्रयास किया।
सेवानिवृत्त कर्मचारी झाम्ब ने बताया कि उसने एसबीआई की जंक्शन धानमंडी शाखा से तीन अप्रेल 2021 को स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ली थी। तब वह विशेष सहायक के पद पर था। वह भारतीय स्टेट बैंक प्रशासन से छह मांगें कर रहा है। बैंक की ओर से मार्च 2020 से जून 2020 पांच माह के समाचार पत्र आदि व्यय का पुनर्भरण नहीं किया गया है। फरवरी-मार्च 2020 की एक संवेदनशील एवं महत्वपूर्ण ड्यूटी का भुगतान नहीं किया है। जबकि सितंबर 2020 की उसी ड्यूटी के लिए बैंक के एक अन्य कर्मचारी को भुगतान कर दिया गया है। सेवानिवृत्ति पर अवकाश नकदीकरण में हुई असाधारण देरी के लिए ब्याज का भी भुगतान नहीं किया गया है। ऐसा उदाहरण है कि आकस्मिक देहावसान पर बैंक एक माह से भी कम समय में अवकाश नकदीकरण कर चुका है। जबकि उसकी सेवानिवृत्ति तो नियमानुसार नोटिस देकर हुई थी। देहावसान कोई नोटिस देकर नहीं होता है। इस असाधारण देरी के लिए संबंधित अधिकारियों की जिम्मेदारी भी तय की जाए। इसके अलावा 11वें द्विपक्षीय समझौते में वर्णित नौवीं स्टेग्नेशन वेतन वृद्धि उसे शीघ्र जारी की जाए। फिर उसी के अनुरूप पेंशन संशोधित की जाए। उसके पुत्र का शिक्षा ऋण, ऋण दिनांक से स्टाफ रेट पर किया जाए। साथ ही उसे एसबीआई की गरिमा के अनुरूप भाषा में लिखा सेवानिवृत्ति आदेश दिया जाए। यदि 2 अप्रेल 2021 को दिया गया आदेश एसबीआई की गरिमा के अनुरूप है तो यह बताया जाए कि 3 अप्रेल 2021 को कार्य समाप्ति पर उसकी ओर से निवेदन करने के बावजूद उसे कोई आदेश क्यों नहीं दिया गया था। झाम्ब के अनुसार उसकी मांगों के संबंध में लिखित आदेश किए जाएं। इन विषयों पर वह अनेक ई-मेल बैंक के पास भेज चुका है जो लंबित हैं।
पीडि़त बैंक कर्मचारी की ब्रांच के बाहर गांधीगिरी
पीडि़त बैंक कर्मचारी की ब्रांच के बाहर गांधीगिरी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

विराट कोहली ने छोड़ी टेस्ट टीम की कप्तानी, भावुक मन से बोली ये बातAssembly Election 2022: चुनाव आयोग ने रैली और रोड शो पर लगी रोक आगे बढ़ाई,अब 22 जनवरी तक करना होगा डिजिटल प्रचारArmy Day 2022: सेना प्रमुख MM Naravane ने दी चीन को चेतावनी, कहा- हमारे धैर्य की परीक्षा न लेंUP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावPunjab Assembly Election: कांग्रेस ने जारी की 86 उम्मीदवारों की पहली सूची, चमकोर से चन्नी, अमृतसर पूर्व से सिद्धू मैदान मेंदिल्ली में लगातार दूसरे दिन कम हुए कोरोना केस, जानिए कितने मरीजों ने गंवाई जानUP Assembly Elections 2022 : भाजपा ने काटे 20 विधायकों के टिकट, 2 गये सपा में, बाकी कहां, पढ़िये खबरHaryana: सरकार का निर्देश, बिना वैक्सीन लगाए 15 से 18 वर्ष के बच्चों को स्कूल में नहीं मिलेगी एंट्री
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.