गेहूं की चमक फीकी, खरीद में टालमटोल

Purushotam Jha | Publish: Apr, 19 2019 12:18:10 PM (IST) | Updated: Apr, 19 2019 12:18:11 PM (IST) Hanumangarh, Hanumangarh, Rajasthan, India


-सरकार स्तर पर गुणवत्ता को लेकर नई गाइड लाइन जारी नहीं करने पर खरीद प्रभावित होने की आशंका
हनुमानगढ़. जिले में दो दिन पहले आई तेज बारिश के कारण गेहंू की चमक फीकी पड़ गई है। इसलिए एफसीआई अधिकारी अब नमी बढऩे का बहाना बनाकर खरीद में टालमटोल करने का प्रयास कर रहे हैं। हालत यह है कि खेतों के अलावा जो गेहूं मंडी में पड़ी है, वह भी भीग गई है। इसके कारण गुणवत्ता प्रभावित होने की बात अधिकारी कह रहे हैं। इस स्थिति में किसान हैरान व परेशान हो रहा है। गौरतलब है कि मंगलवार शाम को सर्वाधिक बारिश हनुमानगढ़ में ३७ एमएम दर्ज की गई थी। कुछ जगह ओलावृष्टि भी हुई। खराबा कितना हुआ है, इसका तथ्यात्मक आंकड़ा जुटाने में कृषि विभाग की टीम लगी हुई है। इसे लेकर सर्वे टीम गठित कर दी गई है। कृषि विभाग के उप निदेशक दानाराम गोदारा के अनुसार गेहूं की फसल को दस से बीस प्रतिशत नुकसान पहुंचने की आशंका है। कुछ जगह चने के आकार के ओले गिरने से फसलों को नुकसान हुआ है। विभागीय टीम नुकसान का जायजा ले रही है। मंगलवार रात को हनुमानगढ़ में ३७, नोहर में १०, रावतसर में १९, संगरिया में १९, टिब्बी में २० व पीलीबंगा में २० एमएम बारिश रिकॉर्ड किया गया था। मंडियों के हालात ऐसे हैं कि गेहूं को सुरक्षित रखने के बंदोबस्त भी नहीं हैं। इस स्थिति में किसान अपनी फसल को कहां सुरक्षित रखे, इसकी चिंता सता रही है। वहीं एफसीआई अधिकारियों का दबी जुबान यह कहना है कि सरकार स्तर पर गुणवत्ता को लेकर नई गाइड लाइन जारी होती है तभी आगे समर्थन मूल्य पर खरीद करना संभव होगा। वरना जो मापदंड निर्धारित किए हुए है, उसके आधार पर आगे गेहूं की सरकारी खरीद करना संभव नहीं होगा।

hmh

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned