scriptGovernment's silence on Base Hospital continues | बेस अस्पताल को लेकर सरकार की चुप्पी बरकरार | Patrika News

बेस अस्पताल को लेकर सरकार की चुप्पी बरकरार

बेस अस्पताल को लेकर सरकार की चुप्पी बरकरार
- आश्वसान देकर भूला प्रशासन तो बोले नागरिक धरना लगाने की फिर से करेंगे तैयारी
- जिला अस्पताल में सौ बेेड बढ़ाने पर बनी थी सहमति
हनुमानगढ़. जिला अस्पताल को मेडिकल कॉलेज का बेस अस्पताल घोषित करने को लेकर सरकार अभी तक चुप्पी साधे हुए है।

हनुमानगढ़

Published: July 02, 2022 10:02:50 pm

बेस अस्पताल को लेकर सरकार की चुप्पी बरकरार
- आश्वसान देकर भूला प्रशासन तो बोले नागरिक धरना लगाने की फिर से करेंगे तैयारी
- जिला अस्पताल में सौ बेेड बढ़ाने पर बनी थी सहमति
हनुमानगढ़. जिला अस्पताल को मेडिकल कॉलेज का बेस अस्पताल घोषित करने को लेकर सरकार अभी तक चुप्पी साधे हुए है। जबकि सौ दिन तक चले धरने को समाप्त करने के लिए सरकार के नुमाईंदों ने आश्वासन दिया था कि जल्द ही सीकर की तर्ज पर टाउन स्थित महात्मा गांधी अस्पताल में बैड की संख्या में बढ़ोतरी कर करीब 50 करोड़ का बजट जारी किया जाएगा। अभी तक राज्य सरकार ने जिला अस्पताल के कायाकल्प के लिए अतिरिक्त बजट देना तो दूर बैड की संख्या में भी बढ़ोतरी नहीं की है। ऐसे में निर्माणाधीन मेडिकल के बेस अस्पताल को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं होने पर नागरिकों में रोष है। गौरतलब है कि जिला अस्पताल प्रशासन को कायाकल्प अवार्ड में प्रदेश स्तर पर दो बार सम्मान किया जा चुका है। इसके अलावा क्वालिटी एश्योरेंस सर्टिफिकेट भी हासिल कर चुकी है। सर्टिफिकेट मिलने से राज्य सरकार की ओर से सलाना अनुदान भी मिलता है। नागरिकों की माने तो जिला अस्पताल की व्यवस्था में बढ़ोतरी की जानी थी। इसकी बजाए, जिला अस्पताल को सेटेलाइट अस्पताल का रूप देने की कार्यवाही की जा चुकी है। इसके विरोध में टाउन के नागरिक व भाजपा के कई कार्यकर्ताओं ने सौ दिन तक धरना दिया था। इस धरने को समाप्त करने के लिए जिला प्रशासन ने सीकर की तर्ज पर सरकारी अस्पताल को 50 करोड़ का अतिरिक्त बजट व बैड की संख्या भी अतिरिक्त सौ कराने की घोषणा की थी। लेकिन आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई।
बेस अस्पताल को लेकर सरकार की चुप्पी बरकरार
बेस अस्पताल को लेकर सरकार की चुप्पी बरकरार
120 दिन के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं
जिला अस्पताल बचाओ संघर्ष समिति का धरना गत 5 मार्च को खत्म हुआ था। उक्त धरने को खत्म हुए 120 दिन हो चुके हैं। ऐसे में जिला चिकित्सालय में सौन्दर्यकरण, नवीनीकरण व पुन: निर्माण कार्य करवाने को लेकर डीपीआर भी तैयार नहीं हुई। हालांकि मेडितल कॉलेज के निर्माण के बाद जिला चिकित्सालय को लेकर कार्यवाही होने की बात कही जा रही है। फिलहाल 2023 में मेडिकल कॉलेज का निर्माण करना निर्धारित है। इसके बाद इसके सामने स्थित 16 बीघा में अस्पताल निर्माण की डीपीआर तैयार की जाएगी। उसी दौरान जिला अस्पताल का कायाकल्प करने के लिए डीपीआर तैयार की जा सकती है।
प्रथम स्तर पर यह बनाई थी योजना
अगस्त 2021 में जिला अस्पताल की इमारत को छह मंजिला करने का प्रस्ताव तैयार किया गया था। इस पर कमेटी के सदस्यों के हस्ताक्षर भी थे। जिस नक्शे पर हस्ताक्षर किए गए थे। उसके नक्शे में सड़कों की चौड़ाई 12 मीटर व डिवाइडर दिखाया गया था। इन डिवाइडरों पर पौधरोपण कर सौंदर्यीकरण की योजना तैयार की गई थी। वहीं तीन प्रवेश द्वार की चौड़ाई बढ़ाते हुए चालीस फीट करने को लेकर भी नक्शे में योजना दर्शा रखी थी। लेकिन इसके बाद से मेडिकल कॉलेज के लिए गठित टीम ने इस योजना पर काम बंद कर दिया। गत दीपावली त्यौहार से ठीक पहले उसी कमेटी के सदस्यों की ओर से नए नक्शा तैयार कर हस्ताक्षर करने की बात सामने आई थी। इसकी जानकारी वायरल होने पर टाउन के लोगों ने जिला अस्पताल के समक्ष धरना शुरू किया था।

जी प्लस थ्री फ्लोर था
कमेटी ने अगस्त 2021 में जो नक्शा तैयार कर स्वीकृति थी उसमें मेडिकल कॉलेज का बेस अस्पताल जिला अस्पताल रखते हुए कायाकल्प करने की जो योजना थी। नक्शे में ग्राउंड फ्लोर पर 110 बेड का विभिन्न वार्ड, फस्र्ट फ्लोर पर 100 बेड के विभिन्न वार्ड, एक्स रे कक्ष, सीटी स्कैन की सुविधा को एमसीएच की पुरानी यूनिट में शिफ्ट करने की योजना, ऑपरेशन थियेटर को ग्राउंड फ्लोर पर ही रखा जाना था। एमसीएच यूनिट के फ्स्र्ट फ्लोर पर बीस बेड का एक वार्ड, द्वितीय फ्लोर पर 50 बेड का एक वार्ड व इसके अलावा बीस बेड का दूसरा वार्ड व एमबीबीएस स्टूडेंट के लिए लेक्चर थियेटर भी किए जाने का निर्णय लिया गया था। छह मंजिला इमारत में जनरल मेडिसन के चार वार्ड, प्रत्येक वार्ड में 25 बेड करने की योजना थी। इसी तरह जनरल सर्जरी के भी चार वार्ड और इनमें बेड की संख्या सौ की गई थी। बच्चों के इलाज के लिए दो वार्ड। प्रत्येक वार्ड में 50 बच्चों को भर्ती करने की सुविधा। इसके अलावा 50-50 बेड की क्षमता के दो जेएसएसवाई वार्ड। कान-नाक व गले से संबंधित रोगी के इलाज के लिए 10 बेड का एक वार्ड अलग से करने का प्रावधान किया गया था। इसी छह मंजिला इमारत में आखों के इलाज के लिए एक यूनिट भी तय की गई थी। जिसमें दस बेड पर रोगी भर्ती करने की सुविधा नक्शे में दर्शाई गई थी।
पीएमओ को ज्ञापन सौंपेगे
प्लस फोटो...37
संघर्ष समिति के साथ हुए समझौते हुए को लेकर अभी तक ठोस कार्यवाही नहीं होने पर जिला अस्पताल के पीएमओ को ज्ञापन सौंपेगे। इसके बावजूद मांगों पर सुनवाई नहीं हुई तो फिर से धरना लगाएंगे
प्रदीप ऐरी, टाउन ब्लॉक अध्यक्ष, भाजपा
लगाएंगे धरना
प्लस फोटो...38
जिला अस्पताल को लेकर जो समझौता हुआ था। उस को लेकर जिला अस्पताल व जिला प्रशासन ने कोई कार्यवाही नहीं की। इस संदर्भ में मेडिकल कॉलेज के नोडल प्रभारी से भी कई बार वार्ता हो चुकी है। लेकिन ठोस योजना तैयार नहीं होने पर फिर से धरना लगाया जाएगा।
सुशील जैन, संरक्षक, जिला अस्पताल बचाओ संघर्ष समिति

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Bihar News: तेज प्रताप भी बन सकते हैं मंत्री, बिहार में 16 अगस्त को मंत्रिमंडल विस्तारBilkis Bano Gang Rape: आजीवन कारावास की सजा काट रहे सभी 11 दोषी रिहा, राज्य सरकार की माफी योजना के तहत जेल से आए बाहरIndependence Day 2022: भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इन देशों ने दी बधाईयां और कही ये बातKarnataka News: शिवमोग्गा में सावरकर के पोस्टर को लेकर बढ़ा विवाद, धारा 144 लागूसिंगर राहुल जैन पर कॉस्ट्यूम स्टाइलिस्ट के साथ रेप का आरोप, मुंबई पुलिस ने दर्ज की एफआईआरशख्स के मोबाइल पर गर्लफ्रेंड ने भेजा संदिग्ध मैसेज, 6 घंटे लेट हुई इंडिगो की फ्लाइट, जाने क्या है पूरा मामलासिर्फ 'हर घर' ही नहीं, 'स्पेस' में भी लहराया 'तिरंगा', एस्ट्रोनॉट राजा चारी ने अंतरिक्ष स्टेशन पर लहराते झंडे की शेयर की तस्वीरबिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.