scriptHelpless farmers are destroying their gardens with their own hands, du | बेबस किसान अपने हाथों से उजाड़ रहे अपनी बगिया, नहरबंदी की वजह से किन्नू बागों को नहीं मिला सिंचाई पानी, अस्सी प्रतिशत तक झुलसे पौधे | Patrika News

बेबस किसान अपने हाथों से उजाड़ रहे अपनी बगिया, नहरबंदी की वजह से किन्नू बागों को नहीं मिला सिंचाई पानी, अस्सी प्रतिशत तक झुलसे पौधे

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

पुरुषोत्तम झा. हनुमानगढ़. भ्ीाषण गर्मी के बीच इस बार नहरबंदी की वजह से सिंचाई पानी नहीं मिलने के कारण क्षेत्र में कई जगहों पर किन्नू के बाग उजड़ गए। कुछ जगहों पर कुदरत ने बाग उजाड़ दिए तो बचे हुए झुलसे बागों को बेबस किसान अपने हाथों से उजाड़ रहे हैं। क्योंकि पौधे इतने झुलस गए हैं कि उनका फिर से हरा होना मुश्किल है।

 

हनुमानगढ़

Published: June 12, 2022 09:02:51 pm

बेबस किसान अपने हाथों से उजाड़ रहे अपनी बगिया, नहरबंदी की वजह से किन्नू बागों को नहीं मिला सिंचाई पानी, अस्सी प्रतिशत तक झुलसे पौधे
-फसल बीमा का पोर्टल भी सरकार ने अब तक नहीं खोला, किसान हो रहे चक्करघिनी
पुरुषोत्तम झा. हनुमानगढ़. भ्ीाषण गर्मी के बीच इस बार नहरबंदी की वजह से सिंचाई पानी नहीं मिलने के कारण क्षेत्र में कई जगहों पर किन्नू के बाग उजड़ गए। कुछ जगहों पर कुदरत ने बाग उजाड़ दिए तो बचे हुए झुलसे बागों को बेबस किसान अपने हाथों से उजाड़ रहे हैं। क्योंकि पौधे इतने झुलस गए हैं कि उनका फिर से हरा होना मुश्किल है। इस स्थिति में जले हुए किन्नू के पौधों को किसान हटाकर वहां अन्य फसलों की खेती करने को मजबूर हो रहे हैं। हनुमानगढ़ जिले में ११२०० बीघे में किन्नू के बाग लगे हुए हैं। इसमें ९६०० बीघे में फल लगे हुए हैं। गत वर्ष बाजार में अच्छे भाव मिलने से किसानों ने अबकी बार भी काफी उम्मीदें लगा रखी थी। परंतु जिले में बिना डिग्गी व ड्रिप वाले करीब ८० प्रतिशत तक किन्नू बाग उजड़ गए हैं। उद्यान विभाग के अधिकारियों ने नुकसान को लेकर सर्वे का काम शुरू कर दिया है। प्रारंभिक मूल्यांकन में ८० से ८५ प्रतिशत पौधों में फ्रूटिंग प्रक्रिया प्रभावित होने की सूचना है। इस स्थिति में किसानों ने अब सरकार स्तर पर मुआवजा मिलने की आस लगा रखी है। परंतु सरकार की गंभीरता तो इसी बात से झलकती है कि अभी तक फसल बीमा का पोर्टल भी नहीं खोला गया है। पोर्टल खुलने पर किसान खराबे की रिपोर्ट तो अपलोड करवा सकेंगे। लेकिन अभी तक इसे लेकर सरकार स्तर पर किसी तरह के निर्देश जारी नहीं किए गए है। मौसम आधारित फसल बीमा योजना में किन्नू की खेती को शामिल किया गया है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से हालांकि इसकी खेती को अभी तक दूर ही रखा गया है।
बेबस किसान अपने हाथों से उजाड़ रहे अपनी बगिया, नहरबंदी की वजह से किन्नू बागों को नहीं मिला सिंचाई पानी, अस्सी प्रतिशत तक झुलसे पौधे
बेबस किसान अपने हाथों से उजाड़ रहे अपनी बगिया, नहरबंदी की वजह से किन्नू बागों को नहीं मिला सिंचाई पानी, अस्सी प्रतिशत तक झुलसे पौधे
तपन ने तोड़े सपने
इस बार मार्च,अप्रेल व मई में भीषण गर्मी का दौर रहा। अधिकतम तापमान ४८ डिग्री तक चला गया। जबकि रीलाइनिंग कार्य चलने की वजह से नहरबंदी भी लंबी चली। इसकी वजह से बागों को पानी नहीं मिला और पौधे झुलस गए। अधिक तापमान व पानी की कमी की वजह से किन्नू के पौधे फला अवस्था में ही जल गए। हालांकि डिग्गी व ड्रिप वाले बागों की स्थिति काफी ठीक बताई जा रही है।
महंगे रेट पर मिलेगा
जिले में उन्नत कृषि करने वाले किसान दुष्यंत बेनीवाल का कहना है कि इस बार किन्नू की फसल खराब होने की वजह से जो बचे हुए बाग हैं, उनके रेट अधिक जा रहे हैं। अभी से बागों के रेट लगने शुरू हो गए हैं। गत वर्ष २३ से २४ रुपए प्रति किलो भाव लगे थे। इस बार ३० रुपए प्रति किलो तक मिलने के आसार हैं।
इतना प्रीमियम निर्धारित
हनुमानगढ़ जिले में किन्नू की खेती को मौसम आधारित फसल बीमा योजना में शामिल किया गया है। इसमें कुल ३० प्रतिशत प्रीमियम राशि बीमा कंपनी वसूल करती है। इसमें साढ़े बारह प्रतिशत केंद्र व इतना ही राज्य सरकार प्रीमियम पेटे बीमा कंपनी को जमा करवाती है। जबकि पांच प्रतिशत कृषक हिस्सा राशि निर्धारित है। इसमें किसानों से १०१२ रुपए प्रति हेक्टैयर प्रीमियम राशि निर्धारित है। एक हैक्टैयर में ८१ हजार रुपए बीमा राशि कवर करने का नियम है।
.....फैक्ट फाइल.....
-हनुमानगढ़ जिले में ११२०० बीघे में किन्नू के बाग लगे हुए हैं।
-सिंचाई पानी नहीं मिलने की वजह से ८५ प्रतिशत तक बागों के झुलसने की सूचना है।
-मौसम आधारित फसल बीमा में किन्नू की फसल अधिसूचित है। किसानों से १०१२ रुपए प्रति हेक्टैयर प्रीमियम राशि वसूलने का नियम है।
-कम उत्पादन होने की वजह से इस बार किसानों को ३० रुपए प्रति किलो तक मिलने के आसार हैं। गत वर्ष २४ रुपए मिले थे।

......वर्जन.....
दो माह से अधिक समय तक नहरबंदी चलने की वजह से इस बार किन्नू के बागों को पानी नहीं मिला। इससे ८५ प्रतिशत तक पौधे झुलस गए हैं। नुकसान का सर्वे करवा रहे हैं। मौसम आधारित फसल बीमा योजना में किन्नू फसल अधिसूचित है। पोर्टल खुलने पर किसान क्लेम का दावा कर सकेंगे।
-डॉ. विपिन भादू, सहायक कृषि अधिकारी, उद्यान विभाग हनुमानगढ़

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

सुशील कुमार मोदी का नीतीश सरकार पर हमला, कहा - 'लालू के दामाद और कार्यकर्ता चला रहे सरकार, नीतीश लाचार'ड‍िप्‍टी सीएम मनीष स‍िसोद‍िया के यहां CBI की रेड के बाद LG का बड़ा आदेश, 12 IAS अफसरों का ट्रांसफरमनीष सिसोदिया के घर समेत 31 जगहों पर रेड, 17 अगस्त को ही दर्ज हुई थी FIR, CBI ने जारी की पूरी डीटेलउपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर CBI की छापेमारी के बाद आम आदमी पार्टी ने किया ऐलान - '2024 में मोदी Vs केजरीवाल'Kerala News: मुस्लिम लीग के महासचिव का विवादित बयान, बोले- 'लड़के-लड़कियों का स्कूल में साथ बैठना खतरनाक'CBI Raids Manish Sisodia House Live Updates: बीजेपी की बौखलाहट ने देश को ये संदेश दिया है कि 2024 का चुनाव AAP v/s BJP होगा- संजय सिंहबंगाल, महाराष्ट्र में भी ED के छापे, उनके सामने तो मैं तिनका हूँ, 'सांसद अफजाल अंसारी ने दी चुनौती- पूर्वांचल हमारा ही रहेगा'Mumbai News: दही हांड़ी फोड़ने पर 55 लाख से लेकर स्पेन जाने सहित मिल रहे हैं ये खास ऑफर; पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.