डेयरी चुनावों में अनपढ़ लोग नहीं अजमा सकेंगे अपना भाग्य, डेयरी की दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों से जुड़े हैं 46758 सदस्य

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

पुरुषोत्तम झा. हनुमानगढ़. श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिले में होने जा रहे गंगमूल डेयरी के चुनावों में इस बार बहुत कुछ खास होगा। इसमें पहली बार सहकारिता विभाग के जरिए इस चुनाव में कई तरह के प्रयोग किए जा रहे हैं।

 

By: Purushottam Jha

Updated: 13 Jan 2021, 11:56 AM IST

डेयरी चुनावों में अनपढ़ लोग नहीं अजमा सकेंगे अपना भाग्य, डेयरी की दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों से जुड़े हैं 46758 सदस्य
-श्रीगंगानगर जिला दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड हनुमानगढ़, गंगमूल डेयरी की स्थापना के बाद पहली बार चुनावों में शैक्षणिक अनिवार्यता का नियम लागू
-डेयरी की दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों से जुड़े हैं 46758 सदस्य

पुरुषोत्तम झा. हनुमानगढ़. श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिले में होने जा रहे गंगमूल डेयरी के चुनावों में इस बार बहुत कुछ खास होगा। इसमें पहली बार सहकारिता विभाग के जरिए इस चुनाव में कई तरह के प्रयोग किए जा रहे हैं। स्थानीय स्तर पर डेयरी से जुड़े प्राथमिक दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों में चुनाव करवाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसमें गत दिनों संपन्न पंचायतीराज चुनावों में सरकार को भले शैक्षणिक बाध्यता के निर्णय को हटाने को लेकर बाध्य होना पड़ा था। मगर डेयरी चुनावों में अबकी बार सरकार स्तर पर पहली दफा शैक्षणिक अनिवार्यता लागू की गई है। नियमानुसार डेयरी चुनाव में पांचवीं पास अभ्यर्थी ही नामांकन दाखिल करवा सकेंगे।
इसके अलावा जमानत राशि के तौर पर भी अभ्यर्थी को दो सौ रुपए जमा करवाने होंगे। यह राशि इससे पहले संपन्न डेयरी चुनावों में नामात्र की थी। श्रीगंगानगर व हनुमानगढ़ जिले की ७७६ दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों में पांच चरणों में होने वाले चुनाव को लेकर अंतिम मतदाता सूची के प्रकाशन का कार्य अंतिम चरण में चल रहा है। अब तक प्रस्तावित मतदाता सूची के अनुसार १०६५५ मतदाता डेयरी चुनावों में अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे। हालांकि अंतिम मतदाता सूची को तैयार करने का कार्य अभी जारी है।

पांच चरणों में चुनाव
जिले में हो रहे डेयरी चुनाव के तहत पहले चरण का मतदान २१ फरवरी को संपन्न होगा। इसी तरह दूसरे चरण का मतदान २२, तीसरे चरण का २३, चौथे चरण का मतदान २४ व पांचवें चरण का मतदान २५ फरवरी को पूर्ण होगा। श्रीगंगानगर जिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड हनुमानगढ़ में दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों के निर्वाचन अधिकारियों को चुनाव करवाने को लेकर ट्रेनिंग भी दी जा चुकी है।

इस तरह होंगे चुनाव
डेयरी चुनाव राजस्थान सहकारी सोसायटी अधिनियम, २००१ एवं राजस्थान सहकारी सोसायटी नियम, २००३ व संबंधित सोसायटी के पंजीकृत उप नियम एवं राजस्थान राज्य सहकारी निर्वाचन प्राधिकारी की ओर से जारी अनुदेशों के अनुसार करवाए जाएंगे। इसमें नाम निर्देशन पत्र एवं घोषणा पत्र का प्रारूप निर्वाचन अधिकारी को दस रुपए का भुगतान करके प्राप्त किया जा सकेगा। गंगमूल डेयरी हनुमानगढ़ में चुनाव प्रकोष्ठ प्रभारी बलवंत राय ने बताया कि इस बार शैक्षणिक बाध्यता का नियम लागू किया गया है। इसमें पांचवीं पास अभ्यर्थी ही चुनाव लडऩे का पात्र होगा। इससे पहले के हुए चुनावों में निरक्षर भी चुनाव लड़ सकता था। इसलिए इस बार चुनाव लडऩे वाले लोगों के लिए पांचवीं पास होना जरूरी है।

मौत के बाद भी चलता रहेगा मतदान
डेयरी चुनाव में यदि किसी उम्मीदवार की मृत्यु मतदान प्रारंभ होने से पहले हो जाती है तो निर्वाचन प्रक्रिया रोकी नहीं जाएगी। निर्वाचन अधिकारी ऐसे मृत उम्मीदवार के नाम के मतपत्र में स्याही को काट देंगे। इसके बाद मतदान निर्धारित समय पर प्रारंभ किया जाएगा। यदि किसी उम्मीदवार की मृत्यु मतदान प्रारंभ होने के पश्चात होती है तो उपरोक्त प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। मृतक उम्मीदवार का नाम भी मतपत्र से नहीं काटा जाएगा।

ऐसे बढ़ता गया कुनबा
श्रीगंगानगर जिला दुग्ध उत्पादक संघ लिमिटेड हनुमानगढ़, गंगमूल डेयरी की स्थापना तीस जनवरी १९८४ को की गई। शुरुआती दौर में संघ ने दस संकलन केंद्रों का एक रूट बनाकर 300 लीटर प्रतिदिन के हिसाब से दुग्ध संकलन कार्य शुरू किया था। जो आज हनुमानगढ़ व श्रीगंगानगर जिले में ५७४ क्रियाशील पंजीकृत समितियों, ५२० संकलन केंद्रों से प्रतिदिन करीब एक लाख लीटर दूध संग्रहित कर रही है। वर्तमान में बीस हजार से अधिक पशुपालक डेयरी के कारोबार से सीधे तौर पर जुड़े हुए हैं।

.....फैक्ट फाइल....
-डेयरी चुनावों में जमानत के तौर पर इस बार २०० रुपए की राशि करवानी होगी जमा।
-जिले में ०५ चरणों में संपन्न होंगे डेयरी चुनाव।
-गंगमूल डेयरी हनुमानगढ़ से ११५४ दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियां पंजीकृत हैं।
-इन समितियों से कुल ४६७५८ सदस्य जुड़े हुए हैं।

......वर्जन......
शैक्षणिक अनिवार्यता लागू
गंगमूल डेयरी से जुड़ी ७७६ प्राथमिक दुग्ध उत्पादक सहकारी समितियों में चुनाव करवाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। पांच चरणों में हो रहे चुनावों में इस बार शैक्षणिक अनिवार्यता का नियम भी लागू किया गया है। नए नियमों के तहत चुनाव प्रक्रिया पूर्ण करवा रहे हैं।
-दीपक कुक्कड़, उप रजिस्ट्रार, सहकारिता विभाग हनुमानगढ़

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned