दो अलग-अलग मामलों में आरोपियों को कारावास

Purushotam Jha | Updated: 12 Oct 2019, 10:57:58 AM (IST) Hanumangarh, Hanumangarh, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

संगरिया. राज्य में प्रतिबंधित पांच किलो अवैध पोस्त रखने के आरोप में दोषी मानते हुए गुरुवार को अपर जिला एवं सैशन न्यायाधीश डॉ. नरेन्द्र सिंह राठौड़ ने आरोपी चक 8 केएसडी रोही मालारामपुरा निवासी अमित कुमार (२०) पुत्र शिवकुमार बिश्नोई को दो साल के कठोर कारावास व दस हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है।

 

संगरिया. राज्य में प्रतिबंधित पांच किलो अवैध पोस्त रखने के आरोप में दोषी मानते हुए गुरुवार को अपर जिला एवं सैशन न्यायाधीश डॉ. नरेन्द्र सिंह राठौड़ ने आरोपी चक 8 केएसडी रोही मालारामपुरा निवासी अमित कुमार (२०) पुत्र शिवकुमार बिश्नोई को दो साल के कठोर कारावास व दस हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना राशि न चुकाने पर आरोपी को छह माह का अतिरिक्त कठोर कारावास और भुगतना होगा। राज्य की ओर से अपर लोक अभियोजक अनिल कुमार चोयल ने पैरवी की।
ये था मामला
दिनांक 13 जनवरी 2015 की दोपहर अढ़ाई बजे संगरिया थाना प्रभारी विजय कुमार मय पुलिस जाब्ता गश्त पर थे। इसी दौरान नगराना-रतनपुरा मार्ग की ओर से एक लडक़ा अपने हाथ में थैला लिए आते दिखाई दिया। पुलिस पार्टी को देख खिसकने का प्रयास किया तो उसे शक की बिनाह पर काबू कर पूछताछ की। युवक अमित कुमार ने संतोषप्रद जवाब नहीं दिया। जिस पर थैला की तलाशी ली गई तो उसमें पांच किलोग्राम पोस्त चूरा बरामद हुआ। बाद अनुसंधान अमित के खिलाफ मादक पदार्थ अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल किया। [पसं.]
लूट मामले में तीन जनों को तीन साल कारावास
रावतसर. स्थानीय न्यायिक मजिस्ट्रेट एसएस बिश्नोई ने करीब आठ साल पुराने लूट के प्रकरण में तीन जनों को दोषी करार देते हुए तीन-तीन साल कारावास की सजा सुनाई। तीनों पर दस हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया। जुर्माना अदा नहीं करने पर एक माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा। सहायक अभियोजन अधिकारी सुशीला ढाका ने बताया कि पुलिस ने आरोपी जयसिंह पुत्र बलराम वाल्मीकि निवासी गाहडू तहसील हनुमानगढ़, संजय पुत्र लालचंद वाल्मीकि पालीवाला तहसील सूरतगढ़ व मेघाराम पुत्र कालूराम वाल्मीकि निवासी हरदासवाली बिचलाबास रावतसर के खिलाफ लूट मामले में चालान पेश किया था। मामले के अनुसार 4 जनवरी 2011 की रात्रि 8 बजे आरोपियों ने तेजाराम बावरी निवासी चक 2 एनजीएम तहसील रावतसर का टेम्पो हरदासवाली जाने के लिए किराए पर लिया था। गांव के पास आरोपी किराया देने के बहाने उसे खेत में ले गए तथा वहां उसे बांधकर उसके जेब में रखे रुपए व मोबाइल फोन निकाल लिया तथा टेम्पो लूटकर फरार हो गए। पीडि़त ने थाने पहुंच पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस को सूरतगढ़ कल्याण भूमि के पास लावारिस हालत में टेम्पो मिला था। अभियोजन ने प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए न्यायालय में 9 मौखिक साक्ष्य पेश किए। साथ ही 17 दस्तावेजी साक्ष्य प्रस्तुत करवाए। दोनों पक्षों को सुनने के बाद मजिस्ट्रेट बिश्नोई ने प्रकरण में अपराध की गंभीरता के मद्देनजर आरोपियों को परिवीक्षा अधिनियम का लाभ ना देकर कारावास की सजा से दण्डित किया। लूट के अलावा आरोपियों को भादसं की 342 के तहत एक एक माह की कैद व 5०० रुपए जुर्माना तथा धारा 323 भादसं के तहत एक एक माह की कैद व 5०० रुपए जुर्माना की सजा सुनाई। जुर्माना अदा नहीं करने पर 7 दिन का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned