किसानों के खातों में आ रहा राहत का क्लेम, किसानों ने जताया पत्रिका का आभार

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

 

By: Purushottam Jha

Published: 10 Apr 2019, 11:16 AM IST

किसानों के खातों में आ रहा राहत का क्लेम, किसानों ने जताया पत्रिका का आभार
नोहर. प्रधानमंत्री फसल बीमा क्लेम की बकाया राशि को लेकर पिछले करीब ढाई माह से अधिक समय से यहां एक्सिस बैंक के समक्ष धरना जारी रखने का असर अब दिखाई देने लगा है। एक ओर जहां बैंक प्रबंधन ने प्रशासन से बीमा क्लेम राशि को लेकर सेटलमेंट प्रक्रिया अपनाने के संकेत दिए हैं। वहीं दूसरी ओर धरनारत करीब आधा दर्जन किसानों के खातों में लाखों रुपए की बकाया बीमा क्लेम राशि भी आ चुकी है। क्लेम मिलने पर किसानों के चेहरे पर खुशी है, वहीं अन्य किसानों को अपनी बकाया क्लेम राशि का इंतजार है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सुरपुरा निवासी कान्हाराम सहारण के खाते में खरीफ 2०1७ की बीमा क्लेम राशि के ४ लाख ४४ हजार ५५2 रुपए, खरसंडी निवासी हनुमान पचार के ३ लाख 13 हजार ६६० रुपए, खरसंडी निवासी भोमाराम पचार के 2 लाख 5 हजार ३० रुपए, सोनड़ी निवासी रामप्रताप गोदारा के 1 लाख 2५ हजार ६६६ रुपए, सूरपुरा निवासी प्रभुराम सहारण के 2 लाख 4 हजार ७६३ रुपए व असरजाना निवासी पप्पुराम कस्वां के ९2६५ रुपए बैंक खाते में आ चुके हैं। कुछ किसानों को बीमा क्लेम मिलने के बाद अन्य किसानों को उम्मीद है कि उनके खातों में भी शीघ्र ही बकाया राशि जमा हो जाएगी। लेकिन आंदोलनकारी किसान प्रतिनिधियों का कहना है कि जब तक तहसील के गांव सोनड़ी, बिरकाली, खरसंडी, सूरपुरा, दुर्जाना, कणाऊ, रामगढ, ललाना, असरजाना, ननाऊ, बडबिराना, फेफाना, किंकराली आदि गांव के सभी किसानों का बीमा क्लेम नहीं मिल जाता उनका आंदोलन जारी रहेगा। मंगलवार को धरने के ७६वें दिन किसान प्रतिनिधियों ने आंदोलन की समीक्षा बैठक की। इसमें किसान प्रतिनिधियों ने बताया कि बैंक की ओर से बीमा क्लेम राशि के सेटलमेंट के लिए दो दिन का समय और मांगा गया है। इसके बाद ही बैंक प्रबंधन व प्रशासन कोई निर्णय कर पाएंगे। किसान प्रतिनिधियों ने पत्रिका में किसानों की समस्याओं को लेकर प्रमुखता से समाचार प्रकाशित करने पर खूब प्रशंसा की। मंगलवार को हनुमान पचार, रामलाल सहारण, रणजीतसिंह, रामप्रताप गोदारा, कान्हाराम सहारण, काशीराम, पवन देहडू, ओमप्रकाश कस्वां, बंशीलाल देहडू आदि धरने पर बैठे। (नसं.)

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned