scriptMany challenges in life's 'Dangal' | जीवन के 'दंगल' में कई चुनौतियां | Patrika News

जीवन के 'दंगल' में कई चुनौतियां

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. बाल संरक्षण के क्षेत्र में हो रहे कार्यों में हनुमानगढ़ जिला मॉडल के रूप में उभर रहा है। भिक्षावृत्ति की रोकथाम तथा ईंट भट्ठों पर श्रमिक बच्चों के लिए पाठशाला का संचालन करके यहां बाल संरक्षण के क्षेत्र में अच्छे कार्य हो रहे हैं।

हनुमानगढ़

Published: March 28, 2022 06:29:48 pm

जीवन के 'दंगल' में कई चुनौतियां, चुप्पी तोड़ो, हमसे कहो विषय पर आयोजित बाल संवाद कार्यक्रम मेें शामिल हुई आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल

बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनने की दी सीख
आयोग अध्यक्ष ने बाल संरक्षण से संबंधित कार्य में हनुमानगढ़ जिले में हो रहे नवाचारों को सराहा

हनुमानगढ़. बाल संरक्षण के क्षेत्र में हो रहे कार्यों में हनुमानगढ़ जिला मॉडल के रूप में उभर रहा है। भिक्षावृत्ति की रोकथाम तथा ईंट भट्ठों पर श्रमिक बच्चों के लिए पाठशाला का संचालन करके यहां बाल संरक्षण के क्षेत्र में अच्छे कार्य हो रहे हैं। यह बात सोमवार को जंक्शन के बेबी हैप्पी मॉर्डन पीजी कॉलेज में राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में वक्ताओं ने कही। सीएम कार्यालय स्तर पर भी हनुमानगढ़ में हो रहे कार्यों को सराहा जा रहा है। राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल ने कहा कि हनुमानगढ़ सहित प्रदेश के अन्य जिलों में बालिकाओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। लेकिन हनुमानगढ़ में यह देखकर अच्छा लगा कि यहां मूक-बधिर बालिकाओं को भी आत्मनिर्भर बनाने के लिए उन्हें आत्मरक्षा का गुर सिखया जा रहा है। यह कार्य काफी सराहनीय है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के बाद पहली बार इतने सारे बालकों-बालिकाओं से मिलने का अवसर हनुमानगढ़ में मिला है। बालिका शिक्षा पर जोर देकर कहा कि इसके लिए सामूहिक सोच बनानी होगी। दंगल फिल्म का जिक्र कर कहा कि इससे पहले तक बालिकाओं के लिए कुश्ती को सही नहीं माना जाता था। परंतु फिल्म ने जन मानस की सोच बदली। इसके बाद बालिकाएं भी कुश्ती में दमखम दिखाने लगी। जीवन के दंगल में कई चुनौतियां हैं। इसलिए सामाजिक सोच बदलने पर ही अच्छे बदलाव आएंगे। आयोग अध्यक्ष बेनीवाल ने कहा कि जिस तरह हर जिले में बच्चियों को लेकर अलग समस्याएं निकलकर सामने आती हैं। उसी तरह हनुमानगढ़ में नशे को लेकर एक चिंता सताती है। हनुमानगढ़ जिले में नशे की प्रवृत्ति बहुत अधिक बढ़ गई है। उसको लेकर बाल आयोग काफी चिंतित है। मुख्यमंत्री ने भी बजट में नशे पर अंकुश लगाने के लिए घोषणाएं की थी। उन घोषणाओं को मूर्त रूप देने, धरातल पर उतारने व जागरूकता लाने के लिए बाल आयोग जिला मुख्यालय पर पहुंचा है। चुप्पी तोड़ो, हमसे कहो विषय पर आयोजित बाल संवाद एवं जन जागृति कार्यशाला के बाद मीडियाकर्मियों से मुखातिब होते आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल ने कहा कि उन्हें इस बात की खुशी है कि यहां के कलक्टर नशे के खिलाफ हो रहे कार्यक्रमों में अपनी सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। कचरा एकत्रित करने, भिक्षावृत्ति-बालश्रम करने वाले बच्चों को शिक्षा से जोड़ा जा रहा है। बेनीवाल ने कहा कि कार्यक्रम में करीब पांच हजार छात्र-छात्राओं को प्रतिज्ञा दिलवाई गई है कि वे अपने घर, गांव, पड़ोस से शुरुआत करें कि किस तरह से नशे पर अंकुश लगाया जाए। जब हमारा युवा व बच्चे यह बात ठान लेंगे कि नशे को पूरी तरह से समाप्त करना है तो उन्हें लगता है कि कहीं न कहीं इस मकसद में काफी हद तक कामयाबी मिलेगी।
जीवन के 'दंगल' में कई चुनौतियां
जीवन के 'दंगल' में कई चुनौतियां
मिलती रही है शिकायतें
पुलिस की ओर से कई मामलों में बालश्रम रोकने के लिए बाल कल्याण समिति का सहयोग नहीं करने के सवाल के जवाब में आयोग अध्यक्ष बेनीवाल ने कहा कि इस तरह की शिकायतें उन्हें भी मिली हैं। कई जगहों पर पुलिस की लापरवाही की बात सामने आई है। इसको लेकर जिला पुलिस अधीक्षक से बातचीत कर बच्चों के मामले में गंभीरता रखने के निर्देश दिए जाएंगे। आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल ने नशे की बढ़ती प्रवृत्ति को रोकने के लिए हनुमानगढ़ के लिए अलग से मास्टर प्लान बनाने की आवश्यकता जताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री को इस बारे में अवगत करवाया जाएगा।
यह रहे मौजूद
जंक्शन के बेबी हैप्पी कॉलेज में आयोजित बाल संवाद एवं जन जागृति कार्यशाला में मुख्य अतिथि आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल थी। विशिष्ट अतिथि आयोग सदस्य डॉ. विजेन्द्र सिंह, विशिष्ट अतिथि शिवभगवान नागा थे। अध्यक्षता जिला कलक्टर नथमल डिडेल ने की। विशिष्ट अतिथि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीलम चौधरी, कॉलेज निदेशक तरुण विजय, बाल कल्याण समिति अध्यक्ष जितेन्द्र गोयल, सदस्य प्रेमचन्द शर्मा, विजयसिंह चौहान थे। आयोग अध्यक्ष ने बालिकाओं के साथ संवाद भी किया। इस दौरान बाल फिल्म के माध्यम से बालिकाओं को सुरक्षित एवं असुरक्षित स्पर्श की जानकारी प्रदान की गई। कॉलेज के चैयरमेन आशीष विजय, एडीईओ रणवीर शर्मा, पीआरओ सुरेश बिश्नोई, प्राचार्य डॉ. विशाल पारीक, डॉ. मनोज शर्मा, प्रशासक परमानंद सैनी सहित अन्य मौजूद रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठाLiquor Latest News : पियक्कडों की मौज ! रात एक बजे तक खरीदी जा सकेगी शराबशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफMorning Tips: सुबह आंख खुलते ही करें ये 5 काम, पूरा दिन गुजरेगा शानदारDelhi Schools: दिल्ली में बदलेगी स्कूल टाइमिंग! जारी हुई नई गाइडलाइनMahindra Scorpio 2022 का लॉन्च से पहले लीक हुआ पूरा डिजाइन और लुक, बाहर से ऐसी दिखती है ये पावरफुल कारबैड कोलेस्‍ट्राॅल और डिमेंशिया को कम करके याददाश्त को बढ़ाता है ये लाल खट्‌टा-मीठा फल, जानिए इसके और भी फायदेAC में लगाइये ये डिवाइस, न के बराबर आएगा बिजली बिल, पूरे महीने होगी भारी बचत

बड़ी खबरें

अब असम में भी चला बुलडोजर, थाना फूंकने वाले पांच परिवारों के घर गिराए, 20 आरोपी हिरासत मेंAzam Khan और अखिलेश में बढ़ी दूरियां, सपा विधानमंडल दल की बैठक में नहीं गए आजम खान'मातोश्री क्या कोई मस्जिद है?' पुणे रैली में राज ठाकरे ने PM से की यूनिफॉर्म सिविल कोड व जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांगपटना एयरपोर्ट पर बड़ा हादसा, निर्माण कार्य के दौरान गिरा लोहे का स्ट्रक्चर, दो मजदूरों की मौत, एक की टूटी रीढ़ की हड्डीPM मोदी तक पहुंची अल्मोड़ा की 'बाल मिठाई', स्टार शटलर लक्ष्य सेन ने ऐसा पूरा किया अपना वायदाराजस्थान में 50 हजार अपराधियों की बनेगी'कुंडली' थाना स्तर पर बनेगा डोजीयरभारतीय स्टार Veer Mahaan ने WWE दिग्गज को मार-मारकर किया बेसुध, पाकिस्तानी मूल का रेसलर धराशाईविश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हेमकुंड साहिब और लक्ष्मण मंदिर के खुले कपाट, दो साल बाद लौटी रौनक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.