विवाहिता की मौत, परिजनों ने शव रखकर लगाया धरना

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

 

By: adrish khan

Published: 30 Dec 2018, 01:02 PM IST

विवाहिता की मौत, परिजनों ने शव रखकर लगाया धरना
- बच्चेदानी के ऑपरेशन के दौरान निजी अस्पताल में मौत
- रावतसर कस्बा स्थित निजी अस्पताल का मामला
हनुमानगढ़. रावतसर कस्ब में न्योलखी बस स्टैंड स्थित डॉ. हनुमानसिंह नेहरा मेमोरियल हॉस्पिटल में लगे ऑपरेशन शिविर के दौरान शनिवार रात विवाहिता की मौत हो गई। इससे गुस्साए परिजनों ने अस्पताल के समक्ष शव रखकर धरना शुरू कर दिया। वे चिकित्सकों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। मौके पर पहुंचे पुलिस व प्रशासन के अधिकारी समझाइश में लगे हुए थे।
जानकारी के अनुसार रावतसर के हरदासवाली निवासी विवाहिता सावित्री देवी (40) पत्नी कृष्णलाल शर्मा मामूली पेट दर्द की दवा लेने शनिवार को नेहरा अस्पताल गई। वहां सात दिवसीय ऑपरेशन कैम्प लगा हुआ था। अन्य शहरों के चिकित्सक आकर कथित तौर पर कम शुल्क में ऑपरेशन कर रहे थे। शिविर में डॉ. रजनीश व डॉ. सोनेन्द्र शर्मा ने विवाहिता की बच्चेदानी में रसोली बताते हुए दूरबीन (लेप्रोस्कॉपिक) पद्धति से ऑपरेशन कराने को कहा। इस पर विवाहिता व परिजन सहमत हो गए। आरोप है कि डॉक्टर्स ने ऑपरेशन के दौरान विवाहिता की मौत होने के बावजूद हार्ट अटैक बताकर उसे जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया। परिजन उसे हनुमानगढ़ स्थित जिला अस्पताल ले गए। वहां उसे चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। इसके बाद शनिवार रात परिजन विवाहिता के शव को लेकर वापस रावतसर स्थित नेहरा अस्पताल गए। वहां पहुंचे तो सभी चिकित्सक फरार हो गए। परिजनों ने विवाहिता के शव को एम्बुलेंस में ही अस्पताल के बाहर रखा। फिर रविवार सुबह चिकित्सकों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना शुरू कर दिया।
बाइट : कृष्णलाल, मृतका का पति।

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned