scriptOne of the two MS Gayani left and left the district hospital, the dist | दो में से एक एमएस गायनी और छोड़ गई जिला अस्पताल, जिला अस्पताल ने निदेशक को करवाया अवगत | Patrika News

दो में से एक एमएस गायनी और छोड़ गई जिला अस्पताल, जिला अस्पताल ने निदेशक को करवाया अवगत

दो में से एक एमएस गायनी और छोड़ गई जिला अस्पताल, जिला अस्पताल ने निदेशक को करवाया अवगत
- व्यवस्था बिगडे नहीं आउट सोर्स के जरिए तीन प्राइवेट अस्पताल के चिकित्सकों का बनाया पैनल
गत तीन माह में तीन एमएस गायनी ने छोड़ी सरकारी सेवाएं।

हनुमानगढ़

Updated: April 07, 2022 10:25:07 pm


दो में से एक एमएस गायनी और छोड़ गई जिला अस्पताल, जिला अस्पताल ने निदेशक को करवाया अवगत
- व्यवस्था बिगडे नहीं आउट सोर्स के जरिए तीन प्राइवेट अस्पताल के चिकित्सकों का बनाया पैनल
गत तीन माह में तीन एमएस गायनी ने छोड़ी सरकारी सेवाएं।
हनुमानगढ़. जिला अस्पताल में दो एमएस गायनी में से एक एमएस गायनी और छोड़कर जा चुकी है। जानकारी के अनुसार यह एमएस गायनी भी प्राइवेट अस्पताल में अपनी सेवाएं दे रही हैं। इधर, जिला अस्पताल में एक ही एमएस गायनी के रहने से व्यवस्था नहीं बिगड़े, इसके लिए प्राइवेट अस्पताल की तीन एमएस गायनी का एक पैनल बनाया गया है। सरकारी अस्पताल में एक मात्र सेवाएं दे रही एमएस गायनी के छुट्टी पर जाने या फिर डेऑफ के दिन अस्पताल प्रशासन पैनल में शामिल तीन चिकित्सकों में एक को बुलाए गया। पैनल में सेवानिवृत एमएस गायनी डॉ. ओला, डॉ. सीमा खीचड़ व डॉ. प्रेरणा राठौड़ को शामिल किया गया है। इनकी सेवाएं के बदले जिला अस्पताल प्रशासन प्रति सर्जरी तीन हजार रुपए शुल्क देगा। गौरतलब है कि 2020 में भी जिला अस्पताल प्रशासन ने आउट सोर्स के जरिए यह व्यवस्था की थी। लेकिन ज्यादा दिन तक चल नहीं पाई थी। इन आउट सोर्सेज के पैनल में शामिल चिकित्सकों का भुगतान भी अटक गया था। जिला अस्पताल में तीन माह में तीन एमएस गायनी सरकारी सेवाएं छोड़कर जा चुकी है। दो एसएस गायनी पूर्व में अपनी सेवाएं छोड़कर गई थी तो हाल ही में एक एमएस गायनी जिला अस्पताल छोड़कर चली गई हैं। इस स्थिति के बारे में अस्पताल प्रशासन ने निदेशक को भी अवगत करवा दिया है। वर्तमान में केवल एक ही एमएच गायनी के सहारे एमसीएच यूनिट रह गई है। इसलिए आउट सोर्स के जरिए तीन एमएस गायनी से करार किया गया है। हालांकि इन्हें भी बुलाने के लिए जिला अस्पताल प्रशासन बाध्य नहीं कर सकता। एमएस गायनी की संख्या कम होने के कारण व्यवस्था प्रभावित होगी।
दो में से एक एमएस गायनी और छोड़ गई जिला अस्पताल, जिला अस्पताल ने निदेशक को करवाया अवगत
दो में से एक एमएस गायनी और छोड़ गई जिला अस्पताल, जिला अस्पताल ने निदेशक को करवाया अवगत
अनुबंध पर नहीं हुई व्यवस्था
गत माह में जिला अस्पताल प्रशासन ने सीएमएचओ को पत्र लिखकर अनुबंध पर एमएस गायनी लगाने की मांग की थी। 2020 में जिला अस्पताल की एमसीएच यूनिट में एक भी एमएस गायनी नहीं होने के कारण करीब 46 दिन तक ताला लटका रहा था। एमएस गायनी नहीं होने के कारण परिजन साधारण प्रसव करवाने के लिए भी गर्भवती को जिला अस्पताल में लाने से कतराते थे। गर्भवती की तबीयत खराब होने पर सर्जरी की आवश्यकता होती है।
125 से अधिक होती है सर्जरी
एमसीएच यूनिट में एक माह में 125 से अधिक सर्जरी होती है। कई बार यह आंकड़ा 150 से अधिक भी पहुंच जाता है। वहीं 400 से अधिक साधारण प्रसव होते हैं। वर्तमान में जिला अस्पताल में सात एनस्थेसिया चिकित्सक है और छह पीडियाट्रिशन हैं। चार एमएस गायनी में एक डयूटी पर हैं। इनमें से दो एमएस गायनी को दो बार नोटिस भेजा जा चुका है और एक एमएस गायनी हाल ही में नोटिस भेजा गया है।
प्रसव की संख्या होगी कम
जिला अस्पताल को लेबर रूम व जेएसएसवाई वार्ड में बेहतर व्यवस्था होने पर राज्य स्तर पर सम्मानित किया जा चुका है। लेकिन अब एक ही एमएस गायनी होने के कारण प्रसव की संख्या में कमी आएगी। दरअसल इनमें से एक गायनी डे ऑफ या फिर छुट्टी पर जाएंगी तो व्यवस्था पूरी तरह बिगड़ जाएगी।
आउट सोर्स की व्यवस्था की है।
तीन एमएस गायनी छुट्टी पर जा चुकी हैं। निदेशालय को अवगत करवाया जा चुका है ताकि जिला अस्पताल में एमएस गायनी के तीन पद रिक्त हो जाएं। फिलहाल आउट सोर्स के जरिए तीन एमएस गायनी का एक पैनल तैयार किया गया है। जरुरत पढऩे पर ऑन कॉल इन्हें बुलाया जा रहा है।
डॉ. मुकेश कुमार पोटलिया, पीएमओ, जिला अस्पताल, हनुमानगढ़।
********************************

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

India-China Tension: पैंगोंग झील पर बॉर्डर के पास दूसरा पुल बना रहा चीन, सैटेलाइट इमेज से खुलासाHeavy rain in bangalore: तेज बारिश से दो मजदूरों की मौत, मुख्यमंत्री ने की मुआवजे की घोषणाज्ञानवापी मस्जिद: नौ तालों में कैद वजूखाना, दो शिफ्टों में निगरानी कर रहे CRPF जवान, महंतो का नया दावापाकिस्तान व चीन बॉडर पर S-400 मिसाइल तैनात करेगा भारत, जानिए क्या है इसकी खासियतप्रयागराज में फिर से दिखा लाशों का अंबार, कोरोना काल से भयावह दृश्य, दूर-दूर तक दफ़नाए गए शवFarmers protest: विरोध कर रहे किसानों से मिलेंगे CM मान, आखिर क्यों धरने पर बैठे किसान?जब कांस के दौरान खो गई दीपिका पादुकोण की ड्रेस तो आखिरी समय में किया गया ये बदलावबेटा IPL 2022 में ढा रहा कहर, मां इस बात से अनजान, भारतीय क्रिकेटर ने किया चौंकाने वाला खुलासा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.