MURDER गोली लगने से एक व्यक्ति की मौत

Anurag Thareja | Updated: 13 Jul 2019, 10:41:54 PM (IST) Hanumangarh, Hanumangarh, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

रावतसर. निकटवर्ती गांव न्यौलखी के पास खेतों की रखवाली करने वाले दो बनबावरी जाति के दो व्यक्तियों में आपसी विवाद के चलते गोली लगने से एक जने की मौत हो गई।

 

गोली लगने से एक व्यक्ति की मौत
रावतसर. निकटवर्ती गांव न्यौलखी के पास खेतों की रखवाली करने वाले दो बनबावरी जाति के दो व्यक्तियों में आपसी विवाद के चलते गोली लगने से एक जने की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार खेतों की रखवाली के क्षेत्राधिकार को लेकर दो बनबावरी जाति के व्यक्तियों में आपसी विवाद हो गया। जिसके चलते एक व्यक्ति ने दूसरे पर टॉपीदार बंदूक से गोली चला दी व हमलावर मौके से फरार हो गया। जिससे मायला निवासी गुलजारीलाल (40) पुत्र मघाराम बावरी को पेट व हाथ पर गोली लगी। जिससे गुलजारी लाल गम्भीर रूप से घायल हो गया। जिसे आस पास के लोगों ने स्थानीय राजकीय चिकित्सालय पहुचाया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद जिला चिकित्सालय रैफर कर दिया। गुलजारी लाल ने बीच रास्ते में ही दम तोड़ दिया। शव को जिला चिकित्सालय की मोर्चरी में रखवाया गया है। गुलजारी लाल पर गोली किसने चलाई। इसका अभी तक कोई खुलासा नही हुआ है। समाचार लिखे जाने तक इस संबध में पुलिस थाने में कोई मामला दर्ज नही था।


छह जनों पर घर से भगा कर ले जाने और बलात्कार का आरोप

नोहर. कस्बे की एक युवती ने आधा दर्जन जनों पर घर से जबरन ले जाकर बलात्कार करने के आरोप में मामला दर्ज करवाया है। अपने भाई के साथ पहुुंची इस 21 वर्षीय दलित युवती ने पुलिस को दी रिपोर्ट में बताया कि एक मई की रात्रि को करीब 12 बजे वह अपने घर से बाहर लघुशंका के लिए आई। इसी दौरान नेहरू नगर निवासी अजरूदीन पुत्र उम्मेद खां दमामी, कांता पुत्री दुनीचंद सैनी, सुनीता पुत्री पूर्णाराम मेघवाल व हरियाणा की ऐलनाबाद तहसील के गांव मल्लेका निवासी अरूण कुमार पुत्र पूर्णचंद अरोड़ा व उसके दो साथी उसके मुंह पर कपड़ा डालकर गाड़ी में डालते हुए चंडीगढ एक गुरूद्वारा में ले गए। जिसके बाद अरूण अरोड़ा उसे चंडीगढ में अपनी मौसी के घर पर ले गया। जहंा उसने पिस्तौल की नोक पर जबरदस्ती बलात्कार किया। आरोपी ने उसे चंडीगढ कोर्ट में ले जाकर इच्छा विरूद्ध कागजात पर हस्ताक्षर करवा लिए। बाद में आरोपी उसे मल्लेका ले आए ओर कमरे में बंद कर खाने की चीजों में नशा मिलाकर देने लगे। बेहोशी की हालत में अरूण अरोड़ा व उसके दो अन्य साथियों ने कई बार उसके साथ सामुहिक बलात्कार किया। अरूण अरोड़ा की मां उसे जान से मारने या वेश्यावृत्ति के धंधे में धकेलने की धमकियां देती थी। पीडि़ता ने पुलिस को बताया कि सुनीता मेघवाल, कांता सैनी व अजरूदीन ने उसे दो लाख रूपए में अरूण अरोड़ा व उसके साथियों को बेचा था। पीडि़ता ने बताया कि मौका मिलते ही उसने अपने पिता को फोन कर घटना की जानकारी दी। जिस पर एसडीएम के सर्च वारंट पर गुरुवार को पुलिस ने उसे आरोपियों के चंगुल से मुक्त करवाया। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ भादसं की धारा 366, 376घ, 384, 506, 344,143 व 3-2बी एससीएसटी एक्ट में मामला दर्ज कर लिया है। मामले की जांच सीओ रावतसर दुर्गपाल सिंह को सौंपी गई है।
दुसरी तरफ पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार युवती के परिजनों ने 3 मई को नोहर पुलिस थाने में युवती की गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। जिसके कुछ दिनों बाद युवती हरियाणा के सिरसा पुलिस थाने में पेश हुई। जहां नोहर पुलिस को दिए बयान में उसने स्वेच्छा से मल्लेका निवासी अरूण अरोड़ा के साथ जाना बताया था। (नसं.)

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned