'अब आ रहे फोटो खिंचवाने, तीन साल पहले घोषणा, पैसे आज तक नहीं मिले

pawan uppal

Publish: Jul, 14 2018 11:40:00 AM (IST) | Updated: Jul, 14 2018 12:24:10 PM (IST)

Hanumangarh, Rajasthan, India
'अब आ रहे फोटो खिंचवाने, तीन साल पहले घोषणा, पैसे आज तक नहीं मिले

-माफी प्रमाण शिविरों में आया पसीना

संगरिया.

गांव हरिपुरा स्थित ग्राम सेवा सहकारी समिति में ऋण माफी योजना के तहत 764 किसानों का दो करोड़ 12 लाख रुपए का ऋण माफी किया गया। सरपंच पूनम जाखड़, उपसरपंच परमजीतकौर, सोसायटी अध्यक्ष सतपाल जाखड़, व्यवस्थापक हरगोपाल सहित भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष गुलाब सींवर आदि ने किसानों को ऋणमाफी के प्रमाण पत्र सौंपे। इससे पूर्व ग्रामीणों के विरोध का सामना भाजपा पदाधिकारियों को करना पड़ा। हरिपुरा में सुबह 11 बजे शिविर में प्रमाण-पत्र वितरित करने पहुंची भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष गुलाब सींवर को ग्रामीणों की नाराजगी का सामना करना पड़ा।

सरपंच पति देवेंद्र जाखड़ ने खरी-खरी सुनाते हुए कहा कि कुछ दिन पहले गांव बारिश से जलमग्न था, तब तो कोई भाजपाई ग्रामीणों की खैर-खबर लेने नहीं आया। अब फोटो खिंचवाने आ रहे हैं। अन्य लोगों के भी बोलने से माहौल गरमा गया। सोसायटी अध्यक्ष सुरेन्द्र जाखड़ ने ग्रामीणों को शांत कर कार्रवाई फिर से शुरू करवाई।


घोषणा याद दिलाई तो हाथापाई की नौबत
विधायक की मौजूदगी में पूर्व सरपंच से भिड़े कार्यकर्ता
पीलीबंगा.

गांव लिखमीसर में शुक्रवार को ऋण माफी शिविर में विधायक द्रोपती मेघवाल की मौजूदगी में पूर्व सरपंच बलबीर सिंह सिद्धू के साथ कार्यकर्ताओं की तकरार हो गई। ऋण माफी शिविर में पहुंची विधायक द्रोपती मेघवाल ने किसानों को संबोधित करते हुए गांव में विकास कार्य करवाने की बात कही, इस दौरान पूर्व सरपंच बलबीर सिंह सिद्धू ने विधायक पर तीन वर्ष पूर्व गांव के राजकीय विद्यालय में 15 लाख रुपए देने की घोषणा करने के बावजूद बजट उपलब्ध नहीं करवाए जाने का आरोप लगाया। इससे उनकी भाजपा कार्यकर्ताओं से बहस हो गई। स्थिति इतनी बिगड़ी कि नौबत हाथापाई तक पहुंच गई। ग्रामीणों ने बीच-बचाव कर मामला शांत किया। पूर्व सरपंच बलबीर सिंह सिद्धू ने आरोप लगाए कि विधायक द्वारा वाहवाही लूटने के लिए आनन फानन में अधूरे कार्यों पर पत्थर लगवा कर ग्रामीणों को भ्रमित किया जा रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned