scriptPreparations to develop village service cooperative societies into mac | ग्राम सेवा सहकारी समितियों को अब मशीन बैंक के रूप में विकसित करने की तैयारी | Patrika News

ग्राम सेवा सहकारी समितियों को अब मशीन बैंक के रूप में विकसित करने की तैयारी

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. आने वाले समय में सरकार ग्राम सेवा सहकारी समितियों को मशीन बैंक की तर्ज पर विकसित करने जा रही है। इसके लिए गांवों में कस्टम हायरिंग सेंटर खोले जा रहे हैं। इसका मकसद है कि किसानों को महंगे रेट पर मिलने वाले कृषि यंत्र व उपकरण उनके गांव में ही सस्ती दरों पर किराए पर मिल जाए।

 

हनुमानगढ़

Published: June 25, 2022 02:59:22 pm

ग्राम सेवा सहकारी समितियों को अब मशीन बैंक के रूप में विकसित करने की तैयारी
-जिले की आठ ग्राम सेवा सहकारी समितियों को कृषि उपकरणों की खरीद के लिए अनुदान जारी
-किसानों को उसके नजदीक के गांव में ही सस्ती दर पर किराए पर कृषि उपकरण उपलब्ध करवाने की योजना

हनुमानगढ़. आने वाले समय में सरकार ग्राम सेवा सहकारी समितियों को मशीन बैंक की तर्ज पर विकसित करने जा रही है। इसके लिए गांवों में कस्टम हायरिंग सेंटर खोले जा रहे हैं। इसका मकसद है कि किसानों को महंगे रेट पर मिलने वाले कृषि यंत्र व उपकरण उनके गांव में ही सस्ती दरों पर किराए पर मिल जाए। जिससे अनावश्यक रूप से वह मशीनों की खरीद के नाम पर कर्ज तले नहीं दबें। उदाहरण के तौर पर हनुमानगढ़ जिले में गेहूं कटाई के समय कम्बाइन की मांग अधिक रहती है। लेकिन यह भी सच है कि डेढ़ महीने तक ही इसकी मांग रहती है। जबकि इसकी कीमत काफी ज्यादा होती है। इस तरह सामान्य किसान इसे अकेले दम पर नहीं खरीद सकते। इस स्थिति में समिति स्तर पर ऐसे कृषि उपकरण खरीदने पर इसे किराए पर देने से किसानों को राहत मिलने के साथ ही समितियों की स्थाई आय भी बढ़ सकेगी।
इसके अलावा आने वाले समय में खेती में ड्रोन तकनीक विकसित करने को लेकर भी सरकार विचार कर रही है। इसे लेकर कृषि बजट में सभी जिलों को ड्रोन खरीदने के लिए लक्ष्य भी आवंटित किए गए हैं। पहले चरण में चयनित कस्टम हायरिंग सेंटरों को अनुदानित दरों पर ड्रोन सहित अन्य कृषि उपकरण उपलब्ध करवाने की तैयारी है। सहकारी व निजी स्तर पर हनुमानगढ़ जिले में वर्तमान में 56 कस्टम हायरिंग सेंटर अधिकृत हैं। जो किसानों को किराए पर कृषि यंत्र उपलब्ध करवा रहे हैं। ड्रोन तकनीक के बारे में किसानों को जागरूक करने के लिए कृषि विभाग स्तर पर पहले कृषि पर्यवेक्षकों व कृषि अधिकारियों को प्रशिक्षित किया गया है। कृषि बजट पर आयोजित जिला स्तरीय कार्यशाला में जनप्रतिनिधियों को भी इसे लेकर जागरूक किया गया है। हनुमानगढ़ जिले की बात करें तो जिले में दो लाख से अधिक किसान खेती पर निर्भर हैं। जिले के आर्थिक विकास का बड़ा आधार खेती पर निर्भर है। इस स्थिति में कस्टम हायरिंग सेंटर के जरिए खेती व किसानी आसान हो सकती है।
ग्राम सेवा सहकारी समितियों को अब मशीन बैंक के रूप में विकसित करने की तैयारी
ग्राम सेवा सहकारी समितियों को अब मशीन बैंक के रूप में विकसित करने की तैयारी
पहले आठ, अब बारह समितियां
कस्टम हायरिंग सेंटर के रूप में गत वर्ष तक जिले की केवल चार सहकारी समितियां कार्य कर रही थी। लेकिन चालू वर्ष में आठ नई समितियों को अनुदान स्वीकृत किया गया है। इसमें प्राथमिक मल्टपर्पज सहकारी समिति हनुमानगढ़ जंक्शन, ग्राम सेवा सहकारी समिति बशीर, सूरेवाला, रतनपुरा, नवां, फेफाना, परलीका व गोलूवाला निवादान ग्राम सेवा सहकारी समितियां शामिल है। इन समितियों को आठ लाख रुपए का अनुदान जारी किया गया है। जबकि दो लाख रुपए समिति अपने फंड से खर्च करके कृषि उपकरणों की खरीद करेगी। किराया निर्धारण समिति स्तर पर ही निर्धारित किया जा रहा है।
अभी मांग के अनुसार खाद उपलब्ध
जिले में अभी कपास की बिजाई ही पूरी हुई है। जिले में २३ जून २०२२ तक डीएपी खाद ८००० एमटी, एएसपी-सिंगल सुपर फास्फेट ९८०० एमटी तथा यूरिया २१२०० एमटी उपलब्ध है। करीब एक लाख ७० हजार हेक्टेयर में कपास की बिजाई हुई है। वर्तमान में खाद की किल्लत यहां नहीं है। अन्य फसलों की बिजाई के लिए जितनी मांग है, उसके हिसाब से खाद उपलब्ध है। कृषि पर्यवेक्षक जगदीश दूधवाल ने बताया कि खरीफ सीजन में अभी खाद की कमी नहीं है। मांग के अनुसार जिले में पर्याप्त खाद की उपलब्धता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

शेयर मार्केट के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का निधन, 62 साल की उम्र में ली अंतिम सांसRajasthan: तीसरी कक्षा के दलित छात्र को निजी स्कूल के शिक्षक ने पानी का कंटेनर छूने को लेकर पीटा, मौत के बाद तनाव, इंटरनेट सेवा बंदMaharashtra: रायगढ़ के पूर्व विधायक विनायक मेटे की सड़क दुर्घटना में मौत, मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे पर हुआ भीषण हादसाJ-K: स्वतंत्रता दिवस से पहले आतंकियों का ग्रेनेड से हमला, कुलगाम में पुलिसकर्मी शहीदकैबिनेट विस्तार से पहले आज नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव से मुलाकात करेगी कांग्रेस!राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू आज 76वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को करेंगी संबोधितNashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरल14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़े
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.