केंद्रीय कृषि मंत्री के खिलाफ राजस्थान में यहां आक्रोश, विरोध करने चप्पल लेकर सड़कों पर आए लोग

हनुमानगढ़ में केंद्रीय कृषि मंत्री के खिलाफ उग्र रोष देखने को मिला।

By: Nidhi Mishra Nidhi Mishra

Published: 07 Jun 2018, 11:32 AM IST

नोहर/हनुमानगढ़। केन्द्रीय कृषि मंत्री के कथित विवादित बयान तथा पिछले छ: दिनों से जारी गांव बंद किसान आंदोलन पर केन्द्र सरकार की चुप्पी के विरोध में बुधवार को अखिल भारतीय किसान सभा व सीटू के संयुक्त नेतृत्व में उपखंड कार्यालय पर प्रदर्शन कर केन्द्रीय कृषि मंत्री का पुतला जलाया गया। किसान सभा व सीटू कार्यकर्ताओं ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने की मांग की। इससे पूर्व यहां सरस डेयरी के समक्ष पड़ाव स्थल पर एकत्रित होकर किसान सभा व सीटू कार्यकर्ता रैली के रूप में उपखंड कार्यालय पहुंचे। आंदोलनकारियों ने यहां केन्द्र एवं राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने उपखंड कार्यालय के मुख्य द्वार के समक्ष केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह का पुतला फूंका।

 


कृषि मंत्री के बयान की निंदा
यहां आयोजित सभा में वक्ताओं ने केन्द्रीय कृषि मंत्री के कथित रूप से दिए गए उस बयान की निंदा की जिसमें उन्होंने किसानों के आत्महत्या करने का कारण मीडिया में आना बताया गया था। वक्ताओं ने कहा कि गांव बंद आंदोलन के तहत किसान छ: दिनों से रात-दिन विरोध प्रदर्शन कर अनाज, सब्जी व दूध का वितरण ठप्प कर रहे हैं। लेकिन सरकार किसानों की समस्याओं को लेकर लेस मात्र भी संवेदनशीलता नहीं दिखाई दे रही। एसे में किसान आंदोलन को ओर तेज कर आर-पार की लड़ाई लडऩे को तैयार हैं। सभा के बाद आंदोलनकारियों ने एसडीएम सैय्यद शिराज अली जैदी को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया। इस मौके पर किसान सभा सचिव सुरेश स्वामी, सीटू नेता रिद्धकरण कस्वां, नियामत अली, राकेश नेहरा, बजरंग नेहरा, कुलदीप जिनानियां, रामजीलाल, रमेश देदड़, संतलाल राहड़, महेन्द्र राठौड़, विनोद खाती, बिल्लू बेनीवाल, जगतपाल, महावीर जाखड़, अनिल हालु आदि मौजूद थे।

 


एसडीएम नहीं मिले तो दीवार पर चिपका दिया ज्ञापन

संगरिया। वहीं किसानों की विभिन्न मांगों को लेकर पहुंचे माकपा कार्यकर्ताओं ने एसडीएम व प्रतिनिधि की अनुपस्थिति में उनके नाम का ज्ञापन दीवार पर ही चिपका दिया। कार्यकर्ताओं ने स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करने, कर्जा काफी, भाखड़ा नहरों में 1872 क्यूसेक पानी, स्वच्छ पेयजल, आवारा पशु नियंत्रण, समर्थन मूल्य पर खरीद सहित अनेक मांगे ज्ञापन में उठाई। उन्होंने अधिकारी की अनुपस्थिति पाकर गहरी नाराजगी व्यक्त की। वहीं, सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए मांगों को मुखरित किया। प्रतिनिधि मंडल में माकपा के रामकुमार नुकेरा, शिव भगवान बिश्रोई, रणवीर कड़वासरा, रविकांत वर्मा, भूपेंद्र धालीवाल, शंकर छींपा, भादर फगोडिय़ा, नौजवान सभा जिला सचिव मोहन लोहरा, चंद्रशेखर भादू, पूर्ण नायक आदि शामिल थे।

Nidhi Mishra Nidhi Mishra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned