scriptRabi crops shine after Maavath | मावठ के बाद रबी फसलों में आई चमक | Patrika News

मावठ के बाद रबी फसलों में आई चमक

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ. बरसात के बाद अचानक यूरिया की मांग बढऩे के कारण विभाग के लिए उपलब्ध यूरिया का वितरण चुनौती बन गया है। मांग के अनुसार आपूर्ति नहीं होने की वजह से खाद दुकानों पर किसानों की लंबी कतारें कई जगह देखी जा रही है।

 

हनुमानगढ़

Updated: January 13, 2022 07:24:09 pm

मावठ के बाद रबी फसलों में आई चमक
-जिले में करीब छह लाख हेक्टेयर में लगी है रबी फसलें, विभाग का तर्क, ज्यादा यूरिया का उपयोग करना फसल के लिए अच्छा नहीं
-अब यूरिया प्रबंधन पर विभाग दे रहा जोर, विभागीय सलाह के अनुसार ही यूरिया का उपयोग करने की नसीहत

हनुमानगढ. बरसात के बाद अचानक यूरिया की मांग बढऩे के कारण विभाग के लिए उपलब्ध यूरिया का वितरण चुनौती बन गया है। मांग के अनुसार आपूर्ति नहीं होने की वजह से खाद दुकानों पर किसानों की लंबी कतारें कई जगह देखी जा रही है। इस स्थिति में रबी सीजन 2021-22 में यूरिया उर्वरक की मांग के अनुरूप कम मात्रा में आपूर्ति होने के कारण किसानों को आ रही परेशान के निराकरण एवं यूरिया उर्वरक की सूचारू वितरण व्यवस्था के लिए उर्वरक विक्रेताओं एवं यूरिया उर्वरक वितरण व्यवस्था में नियुक्त विभागीय कार्मिकों की सामूहिक बैठक करके उन्हें जागरूक किया जा रहा है। कृषि विभाग के उप निदेशक कार्यालय में हुई बैठक में यूरिया प्रबंधन को लेकर सभी ने सामूहिक चर्चा की। उप निदेशक दानाराम गोदारा ने बैठक में उपस्थित उर्वरक विक्रेताओं से आग्रह किया कि प्रत्येक छोटी से छोटी जोत वाले कृषक से लेकर सभी कृषकों को उनके पास विभाग द्वारा जारी टोकन में अंकित मात्रा के अनुसार यूरिया उर्वरक उपलब्ध करवाएं। जिन किसानों को टोकन जारी किया जा चुका है उनको बिना किसी परेशानी के यूरिया उर्वरक उपलब्ध कराएं। एवं कोई भी किसान बिना यूरिया उर्वरक लिए घर नहीं लौटे ऐसी व्यवस्था बनाए रखें। बैठक में यूरिया उर्वरक वितरण व्यवस्था हेतु नियुक्त विभागीय कार्मिकों को निर्देशित किया गया कि कृषकों को टोकन जारी करने से पूर्व कृषक होने का दस्तावेज यथा भूमि की जमाबंदी, पासबुक, किसान क्रेडिट कार्ड, पानी के बारी की पर्ची सहित कोई भी दस्तावेज जिससे किसान होने का प्रमाण हो प्राप्त करें। ताकि यूरिया उर्वरक वितरण व्यवस्था में किसी भी तरह की अनियमितता या परेशानी नहीं हो सके। इसके साथ-साथ उपस्थित आदान विक्रेताओं एवं विभागीय कार्मिकों को आपसी समन्वय कर सूचारू यूरिया उर्वरक वितरण व्यवस्था बनाये रखने हेतु आग्रह किया। वर्तमान समय में सम्पूर्ण जिले में बहुत अच्छी वर्षा हुई है, जिससे फसलों की स्थिति अच्छी है। अत्याधिक वर्षा होने के कारण कुछ क्षेत्र में फसलोंं मेंं जल भराव होने के कारण विशेषकर नाली बेल्ट में गेहूं फसल मेंं पीलापन दिखाई दे रहा है। इसके कारण किसान अत्याधिक मात्रा मेंं यूरिया का प्रयोग कर रहे हंै। इस संबंध में कृषकों से आग्रह किया गया है कि घबराहट में आवश्यकता से अधिक यूरिया का उपयागे गेहूं फसल में नहीं करे। गेहूं फसल में आवश्यकता के अनुरूप ही यूरिया उर्वरक का प्रयोग करे एवं जिन फसलों में पीलापन दिखाई दे रहा है उसमें जिंक सल्फेट 33 प्रतिशत की 0.5 किलोग्राम मात्रा एवं यूरिया उर्वरक की 1.5 किलोग्राम मात्रा का अलग-अलग घोल बनाने के बाद एक साथ स्प्रे करें। इससे गेहूं फसल में पीलापन की समस्या भी खत्म होगी। इसके साथ-साथ फसल की बढ़वार एवं फुटान भी अच्छी होगी। इसके परिणामस्वरूप उत्पादन भी बढ़ेगा। जैसा कि विदित है गेहूं फसल में वैज्ञानिकों द्वारा 57 किलोग्राम यूरिया प्रति बीघा प्रयोग करने की सलाह दी गई है, परन्तु कुछ किसानों द्वारा अत्याधिक मात्रा में लगभग 2 से 3 बैग यूरिया यूरिया प्रति बीघा प्रयोग किया जा रहा है। जो कि फसल के लिए उचित नहीं है। अधिक मात्रा में यूरिया उर्वरक का उपयोग करने से फसल को नुकसान होता है एवं भूमि की उर्वरा शक्ति पर भी विपरित प्रभाव पड़ता है। अधिक मात्रा में यूरिया उर्वरक का प्रयोग करने से जैसे ही तापमान में वृद्धि होगी उस समय फसल पकाव पर विपरित प्रभाव पड़ेगा। अत: किसानों से आग्रह है कि आवश्यकता से अधिक मात्रा में यूरिया उर्वरक का प्रयोग नहीं करे एवं विभागीय कार्मिकों से समन्वय कर संतुलित उर्वरक प्रबंधन एवं आवश्यक शष्य क्रियाएं करें। जिले में इस बार छह लाख से अधिक हेक्टेयर में रबी फसलों की बिजाई की गई है।
मावठ के बाद रबी फसलों में आई चमक
मावठ के बाद रबी फसलों में आई चमक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां

बड़ी खबरें

Mizoram Earthquake: मिजोरम में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर पैमाने पर रही 5.6 तीव्रताराष्ट्रीय युद्ध स्मारक में विलय की गई अमर जवान ज्योति की लौ; देखें VIDEO'हिजाब' पर कर्नाटक के शिक्षा मंत्री के बयान पर बवाल! जानिए क्या है पूरा मामलाUP Election 2022: राहलु और प्रियंका ने जारी किया कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं पर फोकसदिल्ली उपराज्यपाल ने आप सरकार के प्रस्ताव को किया खारिज, वीकेंड कर्फ्यू हाटने और प्रतिबंधों में ढील से इनकारकर्नाटक: शनिवार व रविवार को भी खुलेंगे बाजार लेकिन एक शर्त हैIND vs SA: मायूस विराट कोहली के चेहरे पर आई खुशी, ऋषभ पंत का सिक्स देखकर करने लगे डांसतत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal Loan
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.