सूरज की लालिमा ने बिखेरी खुशी,छठ महोत्सव का हुआ समापन

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. जिला मुख्यालय पर सूरज की लालिमा ने शनिवार को पूर्वांचल समाज के लोगों के चेहरों पर खुशियां बिखेर दी।

 

By: Purushottam Jha

Updated: 21 Nov 2020, 09:21 PM IST

सूरज की लालिमा ने बिखेरी खुशी,छठ महोत्सव का हुआ समापन
हनुमानगढ़. जिला मुख्यालय पर सूरज की लालिमा ने शनिवार को पूर्वांचल समाज के लोगों के चेहरों पर खुशियां बिखेर दी। सुबह करीब सात बजे जैसे ही बादलों की ओट से सूर्यदेव निकले, श्रद्धालुओं ने जयकारे लगाने शुरू कर दिए। व्रती महिला व पुरुषों ने पकवान, मिठाई व फलों के साथ पूजा अर्चना कर उगते सूर्य को अघ्र्य दिया। घर आकर व्रतियों ने निर्जल व्रत भी खोले। इसके साथ ही छठ महोत्सव का समापन हो गया। इससे पहले टाउन व जंक्शन में इस बार ज्यादातर लोगों ने घरों में ही सूर्य देव की आराधना कर उन्हें अघ्र्य दिया। वहीं खुंजा नहर पर कुछ श्रद्धालु भी पहुंचे। कोरोना नियमों की पालना करते हुए सभी ने छठ पूजन किया।
नोहर. पूर्वांचलवासियों ने शनिवार सुबह उगते सूर्य की आराधना कर छठ पर्व मनाया। कोरोना महामारी के चलते छठ घाट तो सूना रहा। परंतु पूर्वांचलवासियों ने घरों के आसपास ही अपने स्तर पर अस्थाई छठ घाट बनाकर पूजा की। कस्बे के ओसवाल मोहल्ला, लोहेवाली पुरानी टंकी क्षेत्र, दुर्गा कॉलोनी व पारीक कॉलोनी न्यू हनुमान मंदिर में छठ पूजा हुई। 21 परिवारों ने सूर्य आराधना कर कोरोना संकट से निजात व शांति की कामना की। ब्राह्मण महासभा अध्यक्ष सुरेश पांडिया, सुधीर बिहारी, कांता देवी, विक्रम शास्त्री ने छठ पर्व को त्याग, तप व निर्मलता की प्रेरणा देने वाला बताया।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned