scriptRelease of poetry collection 'Darpan Jhooth Na Bole', the speaker said | 'दर्पण झूठ ना बोले' काव्य संग्रह का विमोचन, वक्ता बोले, समाज व देश की समस्याओं को कवि जिस तरह महसूस कर सकता है, कोई दूसरा नहीं कर सकता | Patrika News

'दर्पण झूठ ना बोले' काव्य संग्रह का विमोचन, वक्ता बोले, समाज व देश की समस्याओं को कवि जिस तरह महसूस कर सकता है, कोई दूसरा नहीं कर सकता

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. गुरदीपसिंह सोहल के काव्य संग्रह 'दर्पण झूठ ना बोलेÓ का विमोचन शनिवार को सूचना एवं जन संपर्क विभाग कार्यालय में किया गया। मुख्य अतिथि सूचना एवं जन संपर्क अधिकारी सुरेश बिश्नोई, वरिष्ठ साहित्यकार नरेश मेहन व बाल साहित्यकार दीनदयाल शर्मा, सीमांत सोहल तथा वरिष्ठ पत्रकार गोपाल झा ने पुस्तक का विमोचन किया।

 

हनुमानगढ़

Updated: June 25, 2022 07:38:21 pm

'दर्पण झूठ ना बोले' काव्य संग्रह का विमोचन, वक्ता बोले, समाज व देश की समस्याओं को कवि जिस तरह महसूस कर सकता है, कोई दूसरा नहीं कर सकता
-काव्य संग्रह में मानवीय संवेदनाओं, सामाजिक मूल्यों, रिश्तों की कशमकश सहित विभिन्न पहलुओं पर 86 कविताएं शामिल
हनुमानगढ़. गुरदीपसिंह सोहल के काव्य संग्रह 'दर्पण झूठ ना बोलेÓ का विमोचन शनिवार को सूचना एवं जन संपर्क विभाग कार्यालय में किया गया। मुख्य अतिथि सूचना एवं जन संपर्क अधिकारी सुरेश बिश्नोई, वरिष्ठ साहित्यकार नरेश मेहन व बाल साहित्यकार दीनदयाल शर्मा, सीमांत सोहल तथा वरिष्ठ पत्रकार गोपाल झा ने पुस्तक का विमोचन किया। काव्य संग्रह में मानवीय संवेदनाओं, सामाजिक मूल्यों, रिश्तों की कशमकश सहित विभिन्न पहलुओं पर 86 कविताएं हैं। वरिष्ठ साहित्यकार नरेश मेहन एवं बाल साहित्यकार दीनदयाल शर्मा ने कहा कि समाज व देश की समस्याओं को कवि जिस तरह महसूस कर सकता है, कोई दूसरा नहीं कर सकता। नि:संदेह गुरदीपसिंह सोहल की कविताएं मन- मस्तिष्क पर चोट कर चिंतन को विवश करती हैं7 जीवन में समस्याओं से जूझकर आगे बढ़ाने को प्रोत्साहित करती है। पीआरओ सुरेश बिश्नोई ने कवि सोहल को बधाई दी। कवि गुरदीपसिंह सोहल ने बताया कि कोरोना संक्रमण काल के दौरान कविताएं लिखनी शुरू की। प्रारंभ में कोरोना आपदा को लेकर कविताएं लिखी। मित्रों आदि से प्रोत्साहन मिला तो फिर हर मुद्दे व विषय पर कविताएं लिखी। इससे पहले उनका कहानी संग्रह 'बंद घड़ी की मौत' का वर्ष 1995 में प्रकाशन हो चुका है। राजस्थान साहित्य अकादमी उदयपुर के आर्थिक सहयोग से इसका प्रकाशन हुआ। इसके अलावा वर्ष 2007 में 'घर बसाने की तमन्ना' हास्य नाटक संग्रह प्रकाशित हो चुका है।
'दर्पण झूठ ना बोले' काव्य संग्रह का विमोचन, वक्ता बोले, समाज व देश की समस्याओं को कवि जिस तरह महसूस कर सकता है, कोई दूसरा नहीं कर सकता
'दर्पण झूठ ना बोले' काव्य संग्रह का विमोचन, वक्ता बोले, समाज व देश की समस्याओं को कवि जिस तरह महसूस कर सकता है, कोई दूसरा नहीं कर सकता

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

आरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश'हर घर तिरंगा' अभियान में शामिल हुई PM नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन, बच्‍चों के संग फहराया राष्‍ट्रीय ध्‍वज7,500 स्टूडेंट्स ने मिलकर बनाया सबसे बड़ा ह्यूमन फ्लैग, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नामबिहारः सत्ता गंवाते ही NDA के 3 सांसद पाला बदलने को तैयार, महागठबंधन में शामिल होने की चल रही चर्चा'फ्री रेवड़ी ' कल्चर व स्कूल के मुद्दे पर संबित्र पात्रा ने AAP को घेरा, कहा- 701 स्कूलों में प्रिंसिपल नहीं, 745 स्कूलों में नहीं पढ़ाया जाता विज्ञानPM मोदी ने कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने वाले दल से मुलाकात की, कहा- विजेताओं से मिलकर हो रहा गर्व
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.