सुविधाओं के अभाव से जूझ रहा राजकीय विद्यालय

सुविधाओं के अभाव से जूझ रहा राजकीय विद्यालय
school

Manoj Goyal | Updated: 14 Jul 2019, 12:45:10 PM (IST) Hanumangarh, Hanumangarh, Rajasthan, India

- गांव रामसरा के विद्यालय में भवन का अभाव


हनुमानगढ़. जिले की नोहर तहसील के गांव ढाणी अराईयान क्षेत्र के गांव रामसरा स्थित राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में व्याप्त कमियों से बच्चों की पढ़ाई बाधित हो रही है। वर्तमान 12 कमरों में से पांच कमरे जर्जर हैं, जिनका उपयोग खतरे से खाली नहीं है। इसके अलावा पेयजल समस्या, खेल मैदान नहीं होना, हिंदी और अंग्रेजी के व्याख्याताओं के पद रिक्त होना, प्रायोगिक विषय के उपकरण आदि का अभाव विद्यार्थियों के लिए परेशानी बन गया है। ग्रामीण जर्जर कमरों ओर असुविधाओं में सुधार की मांग लम्बे समय से कर रहे हैं और समस्या अभी भी जस की तस है।


ग्रामीणों ने बताया कि 2013 में विद्यालय को माध्यमिक से उच्च माध्यमिक में क्रमोन्नत किया गया है। क्रमोन्नित के समय विद्यालय में विज्ञान संकाय के विषय स्वीकृत हुए लेकिन विद्यालय में पर्याप्त संसाधन नहीं होने से विज्ञान संकाय की स्वीकृति रद्द हो गयी। मौजूदा प्रायोगिक विषय चित्रकला व भूगोल है। जिसके लिए पर्याप्त उपकरण ओर लैब नहीं है। इस सम्बंध में ग्रामीण ओर स्टाफ पिछले वर्ष सरपंच के नेतृत्व में डीईओ माध्यमिक, रामसा कार्यालय में संपर्क कर चुके हैं। विद्यालय प्रबंधन द्वारा हर वर्ष डाटा कैप्चर फॉर्म भरकर भिजवाया जाता है।


निरीक्षण में नकारा घोषित
विद्यालय में लगभग 500 बच्चे अध्ययनरत हैं। बड़ी तादाद में बच्चों को बैठाने की व्यवस्था प्रबंधन के लिए बड़ी समस्या है। लगभग चालीस साल पूर्व बने कमरो की छत पूरी तरह से क्षतिग्रस्त है। इससे जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा निरीक्षण के पश्चात नकारा घोषित किया हुआ है। करीब अस्सी प्रतिशत अनुसूचित जाति वाले इस गांव में जनसहयोग से कमरों का पुन: निर्माण करवाना असंभव है। ग्रामीणों ने प्रशासन और जनप्रतिनिधियों पर लम्बे समय से अनदेखी का आरोप लगाया।

 

हमने बनवाए तीन कमरे
ग्राम पंचायत रामसरा की सरपंच शिमला रानी का कहना है कि पिछले दो वर्षों में जनप्रतिनिधियों के सहयोग से हमने तीन कमरों का निर्माण विद्यालय में करवाया है। अभी भी विद्यालय में कमरों की कमी है क्योंकि पुराने कमरे जर्जर हो चुके हैं इसके अलावा शैक्षिक उपकरण, खेल मेदान, विद्यालय जगह की कमी आदि समस्याएं है। जिसे लेकर शिक्षा उच्च अधिकारियों ओर मौजूदा विधायक को अवगत करवाया गया। जिस पर अभी तक कोई ध्यान नही दिया गया।

 

पांच कमरे जर्जर हालात में
राउमावि रामसरा के प्रधानाचार्य गिरधारीलाल सिंधी के अनुसार विद्यालय में बच्चों की संख्या अधिक है कमरों का अभाव है। पूर्व में निर्मित कमरों में से पांच कमरे जर्जर हालात में है। विद्यालय द्वारा हर वर्ष डाटा कैप्चर फॉर्म भरकर भेजा जा रहा है।

 

मेरे ध्यान में नहीं समस्या
डीईओ माध्यमिक हनुमानगढ़ राजेंद्र यादव ने बताया कि संस्था प्रधान से डाटा कैप्चर आवेदन में विद्यालय की मूलभूत समस्याओं को लिखित में लिया जाता है। इस विद्यालय की समस्याओं से मैं अवगत नहीं हूं। अगर ऐसी समस्या है तो संस्था प्रधान को हमें लिखित में अवगत करवाना चाहिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned