हत्या की वारदात में इस्तेमाल लाठी, बाइक, मोबाइल जब्त, आरोपियों को भेजा जेल

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. युवक की पीटकर हत्या करने व हाथ-पैर बांधकर शव नहर में फेंकने के मामले में रिमांड पर चल रहे चारों आरोपियों को टाउन पुलिस ने रविवार को कोर्ट में पेश किया। वहां से उनको जेल भिजवा दिया गया। मामले की जांच कर रहे एसआई अनिल चिंदा ने बताया कि रिमांड अवधि के दौरान उनसे हत्या के कारणों की पूछताछ कर इसमें इस्तेमाल हथियार आदि बरामद किए गए। आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में इस्तेमाल लाठी, बाइक तथा मृतक का मोबाइल फोन बरामद कर लिया।

By: adrish khan

Published: 07 Jul 2019, 08:42 PM IST

हत्या की वारदात में इस्तेमाल लाठी, बाइक, मोबाइल जब्त, आरोपियों को भेजा जेल
- युवक की हत्या कर शव नहर में फेंकने का मामला
हनुमानगढ़. युवक की पीटकर हत्या करने व हाथ-पैर बांधकर शव नहर में फेंकने के मामले में रिमांड पर चल रहे चारों आरोपियों को टाउन पुलिस ने रविवार को कोर्ट में पेश किया। वहां से उनको जेल भिजवा दिया गया। मामले की जांच कर रहे एसआई अनिल चिंदा ने बताया कि आरोपी मुकेश कुमार (28) पुत्र श्रवण नायक व सुभाष (22) पुत्र बनवारीलाल नायक दोनों निवासी अराईयांवाली, मदनलाल उर्फ टीनू (22) पुत्र पप्पूराम नायक निवासी ढाणी खेत चक 24 एनडीआर तथा रमेश (20) पुत्र दुलीचन्द वाल्मीकि निवासी 22 एनडीआर तीन दिन के रिमांड पर थे। रिमांड अवधि के दौरान उनसे हत्या के कारणों की पूछताछ कर इसमें इस्तेमाल हथियार आदि बरामद किए गए। आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में इस्तेमाल लाठी, बाइक तथा मृतक का मोबाइल फोन बरामद कर लिया है। बाइक पर मृतक का शव डालकर आरोपी नहर तक ले गए थे। इस मामले में अन्य की संलिप्तता को लेकर जांच की जा रही है।
आरोपियों ने पूछताछ में खुलासा किया था कि थप्पड़ वारदात का तत्कालिक कारण बना। मगर इसके मूल में मृतक के प्रति दो आरोपियों की पुरानी रंजिश थी। इसमें मृतक के एक महिला के साथ अवैध संबंध तथा किशोरी से छेड़छाड़ शामिल थी। किशोरी से छेड़छाड़ के प्रकरण में तो मृतक जेल की हवा भी खा चुका था। इस मामले में कालूराम सहित दो अन्य फरार हैं। आरोपियों ने पुलिस को बताया कि मृतक सुनील कुमार (25) पुत्र बद्रीप्रसाद पूनिया ने घटना से चार-पांच दिन पहले किसी बात को लेकर आरोपी मदनलाल उर्फ टीनू को थप्पड़ जड़ा था। इसका बदला लेने के लिए मदनलाल ने सुभाष वगैरह के साथ मिलकर सुनील कुमार से मारपीट की साजिश रची।


क्या था मामला
गौरतलब है कि बद्रीप्रसाद जाट पुत्र जयमल पूनिया निवासी वार्ड नम्बर 13, अराईयांवाली ने बुधवार को टाउन थाने में रिपोर्ट दी थी कि मंगलवार रात नौ बजे वह अपने बेटे सुनील के साथ ऊंट गाड़े पर 27 एनडीआर खेत से घर आ रहा था। गांव अराईयांवाली में श्मशान भूमि के पास पुलिया पर पहुंचे तो छिपकर बैठे मुकेश, सुभाष, मदन, कालूराम चारों निवासी अराईयांवाली व रमेश निवासी 22 एनडीआर के अलावा दो अन्य ऊंटगाड़ा के पास आए। उसके बेटे सुनील को नीचे उतार उस पर लाठियों, सरियों व पाइपों से ताबड़तोड़ वार शुरू कर दिए। मारपीट में सुनील के गम्भीर चोटें लगी। आरोपितों ने साफे से गला घोंटकर सुनील की हत्या कर दी। इसके बाद शव को ठिकाने लगाने के लिए आरोपी सुभाष, मदन व रमेश बाइक पर लादकर सुनील के शव को गांव दौलतांवाली से पहले सूरतगढ़ ब्रांच ले गए। वहां सुनील के हाथ-पैर बांध उसे नहर में फेंक दिया तथा भाग गए।

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned