scriptहनुमानगढ़ में राज्यपाल बोले, कोई नहीं बदल सकता हमारा संविधान, किसी भी तरह के भ्रम में नहीं पड़े | The governor said, no one can change our constitution, do not fall into any kind of confusion | Patrika News
हनुमानगढ़

हनुमानगढ़ में राज्यपाल बोले, कोई नहीं बदल सकता हमारा संविधान, किसी भी तरह के भ्रम में नहीं पड़े

नोहर में गौरीशंकर बिहाणी कन्या महाविद्यालय के लोकार्पण समारोह में बोले राज्यपाल कलराज मिश्र, शिक्षा के लिए दिए दान को बताया सर्वोपरि

हनुमानगढ़Jun 28, 2024 / 09:50 pm

adrish khan

Governor said in Hanumangarh district, no one can change our constitution, do not fall into any kind of confusion

Governor said in Hanumangarh district, no one can change our constitution, do not fall into any kind of confusion

हनुमानगढ़. जैसा गीता, बाइबिल व कुरआन, वैसा ही हमारा संविधान, इसको कोई नहीं बदल सकता। संविधान जैसा है, वैसा ही रहेगा। किसी भी तरह के भ्रम में नहीं पड़े। पंथ, भाषा, क्षेत्र का भेद दूर कर हमें राष्ट्रीय एकता को मजबूत करें। नोहर में गौरीशंकर बिहाणी राजकीय कन्या महाविद्यालय भवन के लोकार्पण समारोह में राज्यपाल कलराज मिश्र ने यह बात कही।
उन्होंने कहा कि मूल अधिकारों की तो सब बात करते हैं। हमें मूल कर्तव्यों का भी ध्यान रखना चाहिए। हिंसा से दूर रहें। माता-बहनों की इज्जत करें।
पर्यावरण का संरक्षण किया जाए और ज्ञानार्जन को बढ़ावा दिया जाए। राज्यपाल ने कहा कि आजकल संविधान की बड़ी चर्चा है। विश्व में सबसे श्रेष्ठ और सबसे बड़ा लिखित संविधान हमारा है। इसे बदला नहीं जा सकता। इसमें संशोधन हो सकते हैं जिसके लिए संवैधानिक प्रक्रिया है। ऐसा समय-समय पर होता रहा है।

इससे पहले दोपहर करीब पौने एक बजे राज्यपाल का काफिला महाविद्यालय परिसर में पहुंचा। पुलिस बैंड ने राष्ट्रगान की धुन बधाई तथा राज्यपाल को गॉर्ड ऑफ ऑनर दिया। राज्यपाल ने फीता काटकर तथा पट्टिका का अनावरण कर महाविद्यालय का लोकार्पण किया। महाविद्यालय परिसर में स्थापित गौरीशंकर बिहाणी एवं नर्मदा देवी बिहाणी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। बिहाणी चैरिटेबल ट्रस्ट के सदस्यों ने राज्यपाल को कॉलेज भवन का अवलोकन कराया।
इसके बाद राज्यपाल, विधायक अमित चाचाण, पूर्व कैबिनेट मंत्री बीडी कल्ला, बिहाणी चैरिटेबल ट्रस्ट के लक्ष्मीनारायण बिहाणी व ओमनारायण बिहाणी ने सभास्थल पर दीप प्रज्जवलित किया। ट्रस्ट के केशव बिहाणी, तरुण बिहाणी सहित अन्य सदस्यों ने राज्यपाल का पुष्प भेंट कर व शॉल ओढ़ाकर सम्मान किया।
गौरतलब है कि बिहाणी चैरिटेबल ट्रस्ट ने करीब छह करोड़ रुपए की लागत से दो मंजिला कन्या महाविद्यालय भवन का निर्माण कराया है। इससे पहले ट्रस्ट ने जिले के पहले राजकीय महाविद्यालय नर्मदा देवी बिहाणी महाविद्यालय भवन का निर्माण कराया था।

नौकरी की ना रहे चिंता

राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि शिक्षा वही सार्थक है जिससे विद्यार्थी संस्कारित बने। जीवन मूल्यों की समझ बढ़े और जीविकापार्जन के लिए तैयार हो सके। केवल अक्षर ज्ञान शिक्षा का उद्देश्य नहीं है। मनुष्य का निर्माण व विकास ही शिक्षा का उद्देश्य है। विद्यार्थी की उत्तम दिशा तय हो, नहीं शिक्षा नीति से ऐसा हो सकेगा। कक्षा छह से ही कौशल विकास की शिक्षा दी जाएगी। इससे विद्यार्थी अपनी रुचि के अनुसार आत्मनिर्भरता की तरफ बढ़ेगा। नौकरी मिलेगी कि नहीं मिलेगी, इस चिंता में नहीं पहुंचेंगे।

जन्मभूमि को बिसराया नहीं

राज्यपाल ने बिहाणी परिवार व ट्रस्ट का आभार जताते हुए कहा कि जो दूसरों के लिए जीवन समर्पित करता है सच्चा कर्मयोगी होता है। जिसका ह्रदय निश्छल हो, वहीं गौरीशंकर बिहाणी की तरह कार्य कर सकता है। उनकी तथा उनके परिवार की कर्मभूमि जहां भी रही हो, मगर कभी अपनी जन्मभूमि को बिसराया नहीं, यह बड़ी बात है। शिक्षा के लिए किया गया कार्य श्रेष्ठ होता है। कन्या शिक्षा को बढ़ावा देने वाले ऐसे कार्य से ही समाज व राष्ट्र का विकास होता है।

Hindi News/ Hanumangarh / हनुमानगढ़ में राज्यपाल बोले, कोई नहीं बदल सकता हमारा संविधान, किसी भी तरह के भ्रम में नहीं पड़े

ट्रेंडिंग वीडियो