टिड्डी दल ने उड़ाई अन्नदाताओं की नींद

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. जिले में दो दिनों से टिड्डी दल फिर सक्रिय हो गया है। इसने अन्नदाताओं की नींद उड़ाकर रख दी है। पीलीबंगा में फसलों व अन्य वनस्पतियों को नष्ट करने के बाद यह दल मंगलवार को पल्लू के बिसरासर व उदासर गांव के आसपास नजर आया। कृषि विभाग के उप निदेशक दानाराम गोदारा ने बताया कि सोमवार को एक दल जिले में आया था। बाद में यह दल बड़े क्षेत्र में फैल गया।

 

By: Purushottam Jha

Published: 01 Jul 2020, 03:31 PM IST

टिड्डी दल ने उड़ाई अन्नदाताओं की नींद
-दिन-रात नियंत्रण के प्रयास में जुटे
-खरीफ फसलों के अलावा जिले की वनस्पतियों को पहुंचा रहा नुकसान
हनुमानगढ़. जिले में दो दिनों से टिड्डी दल फिर सक्रिय हो गया है। इसने अन्नदाताओं की नींद उड़ाकर रख दी है। पीलीबंगा में फसलों व अन्य वनस्पतियों को नष्ट करने के बाद यह दल मंगलवार को पल्लू के बिसरासर व उदासर गांव के आसपास नजर आया। कृषि विभाग के उप निदेशक दानाराम गोदारा ने बताया कि सोमवार को एक दल जिले में आया था। बाद में यह दल बड़े क्षेत्र में फैल गया। रोकथाम को लेकर सूरतगढ़ से टिड्डी नियंत्रण की टीम पहुंच गई। किसानों के सहयोग से टिड्डी नियंत्रण का प्रयास जारी है। किसान पीपे बजाकर व धुंआ करके टिड्डी को उड़ा रहे हैं। विभाग स्तर पर रसायन का छिड़काव किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इससे पहले टिड्डी दल के प्रकोप से हुए नुकसान को लेकर रिपोर्ट बनाकर मुख्यालय को भेज दी गई है। हनुमानगढ़ जिले में चालू खरीफ सीजन में छह लाख हेक्टेयर में फसल बिजाई का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। नहरी क्षेत्रों में बिजाई कार्य लगभग पूरा हो चुका है। जबकि असिंचित क्षेत्र में बिजाई को लेकर किसान बारिश की बाट जोह रहे हैं। विभाग स्तर पर टिड्डी दल के संभावित खतरे से निपटने को लेकर किसानों व फील्ड स्टॉफ को ट्रेनिंग दिया जा चुका है। अफ्रिकी देशों में इस समय तेजी से टिड्डी का प्रजनन होने की आशंका को देखते हुए भारत में अलर्ट जारी किया गया है।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned