scriptThe promising people of Hanumangarh showed enchantment in the art clas | हनुमानगढ़ के होनहारों ने दिखाई कला वर्ग में करामात, पहली बार परिणाम 96 पार | Patrika News

हनुमानगढ़ के होनहारों ने दिखाई कला वर्ग में करामात, पहली बार परिणाम 96 पार

अदरीस खान @ हनुमानगढ़. हनुमानगढ़ जिले के होनहारों ने कला संकाय में कमाल का प्रदर्शन किया है। कला में करामात दिखाते हुए जिले के लाडलों एवं लाडलियों ने अब तक का रेकॉर्ड प्रदर्शन किया है। पहली बार जिले का परिणाम 96 प्रतिशत से पार गया है।

हनुमानगढ़

Updated: June 07, 2022 09:18:27 am

हनुमानगढ़ के होनहारों ने दिखाई कला वर्ग में करामात, पहली बार परिणाम 96 पार
- प्रदेश में तेरहवें नम्बर पर रहा हनुमानगढ़ जिला
- बीते बरस बिना परीक्षा जारी किया गया परिणाम रहा था 98.96 प्रतिशत
- परीक्षा देकर अब तक का जिले का श्रेष्ठ परीक्षा परिणाम
- कला संकाय में नामांकन से लेकर प्राप्तांक तक में रही बेटियां आगे
- सरकारी स्कूलों की बालिकाएं रही आगे
अदरीस खान @ हनुमानगढ़. हनुमानगढ़ जिले के होनहारों ने कला संकाय में कमाल का प्रदर्शन किया है। कला में करामात दिखाते हुए जिले के लाडलों एवं लाडलियों ने अब तक का रेकॉर्ड प्रदर्शन किया है। पहली बार जिले का परिणाम 96 प्रतिशत से पार गया है। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, अजमेर की ओर से सोमवार को जारी किए गए बारहवीं कला संकाय के परीक्षा परिणाम में जिले का ओवरऑल परीक्षा परिणाम 96.63 रहा, इससे पहले परीक्षा देकर कभी ऐसा नतीजा नहीं रहा। पिछले साल जरूर जिले का कला संकाय का परिणाम 98.96 प्रतिशत रहा था। मगर इसके लिए परीक्षा का आयोजन नहीं किया गया था।
कोरोना संक्रमण संकट के कारण बिना परीक्षा विशेष फार्मूले से विद्यार्थियों को पास किया गया था। लेकिन इस साल विधिवत सभी पेपर हुए, जैसा परिणाम अब रहा है, वैसा पहले कभी नहीं रहा। हनुमानगढ़ जिले का प्रदर्शन प्रदेश के ओवरऑल नतीजे 96.33 प्रतिशत से भी अधिक रहा है। वहीं हर साल, हर परीक्षा की तरह कला संकाय में भी इस बार बेटियों ने ही बाजी मारी है। मगर कला संकाय की खास बात यह है कि जिले से लेकर प्रदेश भर में बालिकाओं का नामांकन लड़कों से ज्यादा है। नामांकन के साथ प्राप्तांक और प्रथम श्रेणी हासिल करने में भी बेटियां आगे रही हैं। रोचक यह कि जिले में सरकारी स्कूलों की छात्राएं आगे रही हैं। अब तक सरकारी स्कूलों के टॉपर की जो सूची जारी की गई है, उसमें सभी बालिकाएं ही शामिल हैं।
प्रदर्शन: अब व पहले
जिले का ओवरऑल परिणाम इस साल 96.63 फीसदी रहा है। पिछले बरस यह 98.96 प्रतिशत रहा। जबकि परीक्षा देकर श्रेष्ठ परिणाम की बात करें तो वर्ष 2020 में पहली दफा कला संकाय का परिणाम 90.91 फीसदी रहा था जो इस बार साढ़े पांच प्रतिशत तक की बढ़ोतरी से और बेहतर हो गया है। वहीं वर्ष 2019 में जिले का परिणाम 88.33 प्रतिशत तथा 2018 में 88.88 फीसदी रहा था।
नामांकन के साथ फस्र्ट डिवीजन में भी आगे
छात्राओं का नामांकन कला संकाय में छात्रों से अधिक है। मगर नामांकन के साथ परिणाम प्रतिशत, प्रथम श्रेणी हासिल करने आदि में भी छात्राएं आगे रही। जिले में कला संकाय से 18911 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। इनमें 9087 लड़कों में से 4465 प्रथम श्रेणी से पास हुए हैं। जबकि 356 थर्ड डिवीजन से पास हुए हैं। लड़कों का परिणाम 95.28 फीसदी रहा। वहीं 9824 लड़कियों में से 7134 प्रथम श्रेणी से पास हुई तथा 126 की थर्ड डिवीजन आई। लड़कियों का परिणाम 97.87 प्रतिशत रहा।
सप्लीमेंट्री व थर्ड डिवीजन में नहीं आगे
बेटियां गुणवत्तापूर्ण परीक्षा परिणाम में तो लड़कों से आगे रही। मगर सप्लीमेंट्री व थर्ड डिवीजन में लड़के ही आगे रहे। प्रदेश में कुल 640239 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। इनमें से 317209 छात्र थे तथा 323030 छात्राएं थी। प्रदेश में 144144 छात्र प्रथम श्रेणी से तथा 195330 छात्राएं प्रथम श्रेणी से पास हुई। वहीं 21788 छात्र तथा 12866 छात्राएं थर्ड डिवीजन से पास हुई। सप्लीमेंट्री की बात करें तो प्रदेश में 4691 छात्रों तथा 3543 छात्राओं के सप्लीमेंट्री आई।
छाई सरकारी स्कूलों की बालिकाएं
कला संकाय के परिणाम में सरकारी विद्यालयों के होनहार छाए रहे। खास बात यह कि इन टॉपर में सभी बालिकाएं शामिल हैं। एडीईओ माध्यमिक रणवीर शर्मा ने बताया कि सोमवार शाम तक प्राप्त सूचना के अनुसार सरकारी विद्यालयों के 11 ऐसे विद्यार्थी हैं जिन्होंने 94 प्रतिशत या उससे अधिक अंक प्राप्त किए हैं। यह सूची और लम्बी हो सकती है। कई स्कूलों से सूचना मिलना शेष है। एडीईओ ने बताया कि प्रीति पुत्री जगदीश राउमावि मेघाना ने 97.80 प्रतिशत, आरजू पुत्री महावीर सिंह उज्जलवास ने 97, हिमानी पुत्री विनोद कुमार राबाउमावि जंक्शन ने 96.80, रवीना पुत्री राजेन्द्र मेघाना ने 96.40, तमन्ना पुत्री सुरेन्द्र कुमार उज्जलवास ने 95.80, आरजू पुत्री हरी सिंह ढंढ़ेला ने 95.40, पूनम पुत्री दयाल खान 31 एसएसडब्ल्यू 95.20, इंदूबाला पुत्री शिशपाल सोनड़ी ने 94.80, पूजा बरोड़ पुत्री पवन कुमार रतनपुरा नोहर ने 94.80, रीटा पुत्री रामजीलाल श्योराणी ने 94.40, अनीता पुत्री धर्मवीर सिंह सागड़ा ने 94.20 एवं दीपिका पुत्री प्रेम कुमार उज्जलवास ने 94.20 प्रतिशत अंक प्राप्त किए हैं। मेघाना की प्रीति संभवत: जिला टॉपर है। हालांकि जिला वरीयता सूची माशिबो की ओर से परीक्षा परिणाम के साथ जारी नहीं की जाती है।
जिले का पांच साल का परिणाम
वर्ष परिणाम प्रतिशत
2022 96.63
2021 98.96(बिना परीक्षा)
2020 90.91
2019 88.33
2018 88.88
हनुमानगढ़ के होनहारों ने दिखाई कला वर्ग में करामात, पहली बार परिणाम 96 पार
हनुमानगढ़ के होनहारों ने दिखाई कला वर्ग में करामात, पहली बार परिणाम 96 पार
फैक्ट फाइल : जिला व प्रदेश
प्रदेश का परिणाम : 96.33 प्रतिशत
लड़कों का परिणाम : 95.44 प्रतिशत
लड़कियों का परिणाम: 97.21 प्रतिशत
जिले का परिणाम : 96.63 प्रतिशत
लड़कों का परिणाम: 95.28 प्रतिशत
लड़कियों का परिणाम: 97.87 प्रतिशत

बेटियों का गुणवत्तापूर्ण परिणाम
जिले में छात्राएं - 9824
छात्राओं की प्रथम श्रेणी - 7134
थर्ड डिवीजन - 126
जिले में छात्र - 9087
छात्रों की प्रथम श्रेणी - 4465
थर्ड डिवीजन - 356
प्रदेश में छात्राओं की सप्लीमेंट्री - 3543
प्रदेश में छात्रों की सप्लीमेंट्री - 4691

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाबPM Modi in Germany for G7 Summit LIVE Updates: 'गरीब देश पर्यावरण को अधिक नुकसान पहुंचाते हैं, ये गलत धारणा है' : G-7 शिखर सम्मेलन में बोले पीएम मोदीयूक्रेन में भीड़भाड़ वाले शॉपिंग सेंटर पर रूस ने दागी मिसाइल, 2 की मौत, 20 घायल"BJP से डर रही", तीस्ता की गिरफ़्तारी पर पिनाराई विजयन ने कांग्रेस की चुप्पी पर साधा निशानाअंबानी परिवार की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शिवसैनिकों से बोले आदित्य ठाकरे- हम दिल्ली में भी सत्ता में आएंगे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.