सैनिकों के बेटों को विदेश मंत्रालय का अफसर बताकर ठगा

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

 

By: adrish khan

Published: 15 Nov 2018, 12:52 PM IST

सैनिकों के बेटों को विदेश मंत्रालय का अफसर बताकर ठगा
- नकली वीजा दिखाकर ऐंठे रुपए, पीडि़त पहुंचे एसपी के पास
- रावतसर पुलिस पर कार्यवाही नहीं करने का आरोप
हनुमानगढ़. विदेश भेजने के नाम पर ठगी का मामला दर्ज नहीं करने का आरोप लगाते हुए मामले की शीघ्र जांच की मांग को लेकर रावतसर क्षेत्र के कई युवक बुधवार को एसपी अनिल कयाल से मिले। उनको मांग के संबंध में ज्ञापन सौंपा। ठगी के शिकार युवकों में से दो जनों के पिता आर्मी व बीएसएफ से सेवानिवृत्त हैं। ज्ञापन में बताया कि रोहतक के काहनौर निवासी उमेश कुमार पुत्र प्रेम सिंह, मेरठ के अमित पुत्र सतपाल सिंह, सुमित शर्मा पुत्र अनिल शर्मा, दीपक भारती पुत्र रिषपाल सिंह व आयुष कुमार पुत्र गजराज सिंह ने बताया कि इंटरनेट पर सर्चिंग के दौरान उनका सम्पर्क रावतसर के नरेंद्र सिंह राठौड़ पुत्र रेवंत सिंह से हुआ। उसने विदेश में नौकरी लगवाने के लिए प्रति वीजा दो लाख रुपए का खर्चा बताते हुए पैसा वीजा बनने के बाद लेने को कहा। भरोसा कर उसे वीजा लगवाने के लिए कह दिया। राजकोट के अमीर खान पुत्र जोबन खान, इलाहाबाद के दिग्विजय सिंह कनोजिया व नासिक के गौतम मडेया पुत्र कैलाश मडेया भी उसके झांसे में आ गए।
आरोप है कि नरेंद्र सिंह ने फर्जी वेबसाइट बना रखी है। उससे उनको फर्जी वीजा दिखाकर सभी आठ जनों से दो-दो लाख के हिसाब से कुल 16 लाख रुपए ले लिए। बाद में पता चला कि नरेंद्र सिंह ने खुद को विदेश मंत्रालय का अधिकारी बताकर उनके साथ धोखाधड़ी की। फिर जब उससे सम्पर्क करना चाहा तो वह गायब हो गया। मजबूरन उनको हनुमानगढ़ आना पड़ा। रावतसर थाना पुलिस उनका कोई सहयोग नहीं कर रही है। युवकों ने नरेंद्र सिंह पर मामला दर्ज कर पैसे वापस दिलाने की मांग की। एसपी ने मामले में उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया। ठगी के शिकार युवकों में से दो के पिता बीएसएफ व आर्मी से सेवानिवृत्त हैं।
बाइट - सुमित शर्मा, पीडि़त युवक।

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned