scriptThis time less sowing of wheat will affect government procurement | इस बार गेहूं की कम बिजाई से सरकारी खरीद पर पड़ेगा असर | Patrika News

इस बार गेहूं की कम बिजाई से सरकारी खरीद पर पड़ेगा असर

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. जिले में गत वर्ष की तुलना में इस बार गेहूं की बिजाई काफी कम हुई है। इस कारण इस बार गेहूं की सरकारी खरीद पर इसका असर पड़ेगा। एफसीआई अधिकारियों के पास हालांकि अभी सरकारी खरीद को लेकर लक्ष्य आवंटन नहीं हुआ है। औसत उत्पादन का डाटा तैयार होने के बाद फरवरी के दूसरे सप्ताह में खरीद लक्ष्य निर्धारित किया जाएगा।

 

हनुमानगढ़

Updated: December 25, 2021 08:19:11 pm

इस बार गेहूं की कम बिजाई से सरकारी खरीद पर पड़ेगा असर
-जिले में गत वर्ष की तुलना में इस बार आधे क्षेत्र में ही हुई गेहूं बिजाई

हनुमानगढ़. जिले में गत वर्ष की तुलना में इस बार गेहूं की बिजाई काफी कम हुई है। इस कारण इस बार गेहूं की सरकारी खरीद पर इसका असर पड़ेगा। एफसीआई अधिकारियों के पास हालांकि अभी सरकारी खरीद को लेकर लक्ष्य आवंटन नहीं हुआ है। औसत उत्पादन का डाटा तैयार होने के बाद फरवरी के दूसरे सप्ताह में खरीद लक्ष्य निर्धारित किया जाएगा।
इंदिरागांधी नहर में सिंचाई पानी की कम उपलब्धता के चलते किसानों ने इस बार गेहूं की बजाय सरसों बिजाई पर जोर दिया है। क्योंकि सरसों की फसल कम सिंचाई पानी में तैयार हो जाती है। जबकि रेट भी इस बार सरसों के अभी तक ठीक रहे हैं। इसलिए किसानों ने नकदी फसल के तौर पर इस बार सरसों की तरफ भरोसा जताया है। इसके तहत जिले में इस वर्ष 225000 हैक्टेयर में सरसों फसल की बिजाई हुई है। गत वर्ष एक लाख ३० हजार हेक्टैयर में ही सरसों की बिजाई हुई थी।
इस बार गेहूं की कम बिजाई से सरकारी खरीद पर पड़ेगा असर
इस बार गेहूं की कम बिजाई से सरकारी खरीद पर पड़ेगा असर
यूरिया की मांग
जिले में सिंचाई पानी के साथ ही फसलों में यूरिया की मांग भी बढ़ रही है। इसके तहत किसानों का दल बीते दिनों कृषि विभाग के उप निदेशक से भी मिला था। इसमें उप निदेशक ने जरूरी मात्रा में ही यूरिया का उपयोग करने की सलाह किसानों को दी है।
मछली पालक किसानों का बनेगा क्रेडिट कार्ड
केंद्र सरकार की योजना किसान क्रेडिट कार्ड से राज्य के मत्स्य कृषकों को लाभान्वित करने के उद्देश्य से मत्स्य कृषकों के केसीसी बनाने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। मत्स्य विकास अधिकारी मोहम्मद इरशाद खान ने बताया कि जिले में मत्स्य कृषकों को किसान क्रेडिट कार्ड योजना से लाभान्वित किया जाएगा। मत्स्य पालन से जुड़े जो भी मत्स्य कृषक किसान क्रेडिट योजना के अंतर्गत लोन लेने के इच्छुक हैं वह सभी योजना के आवेदन के लिए दो फोटो, पैन आधार, वोटर कार्ड, जलाशय का लाइसेंस, जलाशय का एग्रीमेंट इत्यादि की छायाप्रति के साथ सब्जी मंडी पुलिस थाने के सामने स्थित कृषक मत्स्य विकास अधिकारी कार्यालय में सम्पर्क कर सकते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Sharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावSchool Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालइस एक्ट्रेस को किस करने पर घबरा जाते थे इमरान हाशमी, सीन के बात पूछते थे ये सवालजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहFace Moles Astrology: चेहरे की इन जगहों पर तिल होना धनवान होने की मानी जाती है निशानीSatna: कलेक्टर की क्लास में मिलेगी UPSC की निःशुल्क कोचिंगकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशDwane Bravo ने 'पुष्पा' गाने पर दी डेविड वॉर्नर को टक्कर, खुद को कमेंट करने से रोक नहीं पाए अल्लू अर्जुन

बड़ी खबरें

RRB-NTPC Result : गुस्साए छात्रों का बवाल जारी, गया में पैसेंजर ट्रेन में आग लगाई और स्टेशन पर किया पथरावRepublic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवानहीं चाहिए अवार्ड! इन्होंने ठुकरा दिया पद्म सम्मान, जानिए क्या है वजहजिनका नाम सुनते ही थर-थर कांपते थे आतंकी, जानें कौन थे शहीद ASI बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्ररेलवे का बड़ा फैसला: NTPC और लेवल-1 परीक्षा पर रोक, रिजल्‍ट पर पुर्नविचार के लिए कमेटी गठितIPL 2022: शिखर धवन को खरीद सकती हैं ये 3 टीमें, मिल सकते हैं करोड़ों रुपएएक गांव ऐसा भी: यहां इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्मUP Assembly Elections 2022 : मिशन 300+ पाने में जुटी भाजपा, दिनेश शर्मा और स्वतंत्र देव सिंह नहीं लड़ेंगे विधानसभा का चुनाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.