scriptThose who collect lakhs in the name of booking wedding weddings are tr | विवाह शादियों की बुकिंग के नाम पर लाखों वसूलने वाले सरकार को लगा रहे चूना | Patrika News

विवाह शादियों की बुकिंग के नाम पर लाखों वसूलने वाले सरकार को लगा रहे चूना

विवाह शादियों की बुकिंग के नाम पर लाखों वसूलने वाले सरकार को लगा रहे चूना
-
- सात दिवस में पंजीयन शुल्क जमा कराने के लिए संचालकों को भेजे नोटिस
हनुमानगढ़. विवाह शादी की एक बुकिंग पर लाखों वसूलने वाले मैरिज पैलेस के संचालक सरकार को चूना लगाने में लगे हैं।

हनुमानगढ़

Published: July 26, 2022 10:05:17 pm

विवाह शादियों की बुकिंग के नाम पर लाखों वसूलने वाले सरकार को लगा रहे चूना
- पंजीयन शुल्क नहीं जमा करवाने पर मैरिज पैलेस व धर्मशाला पर अब गिरेगी गाज
- सात दिवस में पंजीयन शुल्क जमा कराने के लिए संचालकों को भेजे नोटिस
हनुमानगढ़. विवाह शादी की एक बुकिंग पर लाखों वसूलने वाले मैरिज पैलेस के संचालक सरकार को चूना लगाने में लगे हैं। हैरत की बात है कि जब से हनुमानगढ़ शहरी क्षेत्र में यह मैरिज पैलेस शुरू हुए हैं। तब से अधिकांश मैरिज पैलेस संचालकों ने पंजीयन शुल्क तक जमा नहीं करवाया है और इन्हें शुल्क नहीं जमा करवाने पर कार्यवाही तक नहीं की गई। लेकिन अब इन मैरिज पैलेस पर गाज गिरनी तय है। दरअसल स्वायत्त शासन विभाग ने आदेश जारी कर पंजीयन शुल्क जमा करवाने के लिए नगर परिषद को सख्ती से कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। इसके चलते नगर परिषद क्षेत्र में मैरिज पैलेस व धर्मशालाओं का पंजीयन शुल्क जमा नहीं होने पर नोटिस भेजे गए हैं। शहर के करीब एक दर्जन विवाह स्थलों के मालिकों को नोटिस भेजकर सात दिवस पंजीयन शुल्क जमा करवाने के निर्देश दिए गए हैं। सबसे अधिक जंक्शन स्थित एमएस सेतिया पैलेस का बकाया है। रिको में स्थित पैलेस का करीब 38 लाख 94 हजार रुपए बकाया है। इसी तरह टाउन स्थित राजवी पैलेस का 2010 से 2021 तक 22 लाख 63 हजार रुपए बकाया है। एमएस बंसत पैलेस का 9 लाख 17 हजार रुपए पंजीयन शुल्क बकाया होने पर सात दिन का समय दिया गया है। इन सभी को यह नोटिस 18 जुलाई को भेजे गए थे। सात दिन पूरे होने पर नगर परिषद ने इनके खिलाफ राजस्थान नगर पालिका अधिनियम 2009 के तहत कार्यवाही करेगी।
विवाह शादियों की बुकिंग के नाम पर लाखों वसूलने वाले सरकार को लगा रहे चूना
विवाह शादियों की बुकिंग के नाम पर लाखों वसूलने वाले सरकार को लगा रहे चूना
इतने समय से बकाया
नगर परिषद सीमा में विवाह स्थल स्थापित कर रखा है। विवाह स्थल पंजीयन उपनियम 2010 के अनुसार विवाह स्थल का पंजीकरण होना आवश्यक है। लेकिन विवाह स्थलों का पंजीकरण नहीं करवाया गया। जंक्शन स्थित एमएस बंसत पैलेस की अनुमति शुल्क क्षेत्रफल 4080.58 वर्गगज है। इसके तहत 2016 से 2021 तक पंजीयन शुल्क जमा नहीं होने पर 9 लाख 17 हजार रुपए पंजीयन शुल्क जमा कराने के लिए नोटिस भेजा गया है। टाउन स्थित जीएम रिसोर्ट का अनुमति शुल्क क्षेत्रफल 4950 वर्गगज है। इसके तहत 2013 से 2021 तक 9 लाख 31 हजार रुपए बकाया है। टाउन स्थित रॉयल पैराडाइज का अनुमति शुल्क क्षेत्रफल 1704.42 वर्गगज है। 2016 से 2021 तक पंजीयन शुल्क जमा नहीं होने पर 4 लाख 99 हजार 60 रुपए बकाया है। टाउन स्थित उत्तम पैलेस का अनुमति शुल्क क्षेत्रफल 4909 वर्गगज भूमि है। इसके तहत 2010 से 2021 तक 10 लाख 74 हजार 160 रुपए जमा नहीं करवाने पर नगर परिषद की ओर से नोटिस भेजा जा चुका है।
दो लाख से अधिक लेते हैं शुल्क
नगर परिषद से मिली जानकारी के अनुसार डीएलबी के निर्देश पर शहर के सभी मैरिज पैलेस व धर्मशालाओं का रिकार्ड खंगाला जा रहा है। पंजीयन शुल्क बकाया होने पर सभी को नोटिस जारी किया जाएगा। हैरत की बात है कि इनमें से अधिकांश मैरिज पैलेस एक विवाह की बुकिंग पर हॉल व गार्डन का एक रात का किराया करीब दो लाख रुपए वसूलते हैं। वो भी बिना पंजीयन शुल्क जमा करवाए हुए।
कई बार हो चुका है सर्वे
2016-17 में भी शहर के सभी मैरिज पैलेस व धर्मशालाओं का नगर परिषद की ओर से सर्वे किया गया था। इसके लिए दो टीमों का गठन किया गया था। टीमों के सदस्यों ने रिपोर्ट तैयार कर क्षेत्रफल के आधार पर नोटिस भी भेजे थे। यह कार्यवाही दो बार हुई। अब भेजे गए नोटिस के अनुसार मैरिज पैलेस संचालकों ने अभी तक पंजीयन शुल्क जमा नहीं करवाया है।
डीएलबी ने दिए हैं निर्देश
स्वायत्त शासन विभाग ने पंजीयन शुल्क जमा नहीं करवाने वाले मैरिज पैलेस को नोटिस भेजने के निर्देश दिए हैं। इसी के तहत शहरी क्षेत्र के मैरिज पैलेस का रिकार्ड खंगालकर पंजीयन शुल्क जमा करवाने के लिए सात दिन का समय दिया गया है। शुल्क जमा नहीं होने पर राजस्थान नगरपालिका अधिनियम 2009 के अंतर्गत कार्यवाही की जाएगी।
पूजा शर्मा, आयुक्त, नगरपरिषद

भेजे हैं नोटिस
आयुक्त के निर्देशानुसार पंजीयन शुल्क जमा नहीं कराने वाले विवाह स्थलों को नोटिस भेजा गया है। इसके बावजूद शुल्क जमा नहीं करवाते तो आगामी कार्यवाही की जाएगी।
सुरेंद्र गोदारा, रवेन्यु इंस्पेक्टर, नगर परिषद

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

श्रीनगर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी को लगी गोली, जवान भी घायल38 साल बाद शहीद लांसनायक चंद्रशेखर का मिला शव, सियाचिन ग्लेशियर की बर्फ में दबकर हो गए थे शहीदराष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का देश के नाम संबोधन, कहा - '2047 तक हम अपने स्वाधीनता सेनानियों के सपनों को पूरी तरह साकार कर लेंगे'पंजाब में शुरु हुई सेहत क्रांति की शुरुआत, 75 'आम आदमी क्लीनिक' बन कर तैयार, देश के 75वें वर्षगांठ पर हो जाएंगे जनता को समर्पितMaharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.