दो दल लौटे, अब एक दल सक्रिय,सरकारी मदद नहीं मिली तो किसानों का जीना मुश्किल हो जाएगा

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. जिले में लगातार टिड्डी दल सक्रिय रहने से किसान परेशान दिखे। इस दौरान किसानों ने खेतों में पीपे बजाकर टिड्डी दल को उड़ाने का प्रयास किया।

 

By: Purushottam Jha

Published: 30 May 2020, 09:14 AM IST

दो दल लौटे, अब एक दल सक्रिय,सरकारी मदद नहीं मिली तो किसानों का जीना मुश्किल हो जाएगा
हनुमानगढ़. जिले में लगातार टिड्डी दल सक्रिय रहने से किसान परेशान दिखे। इस दौरान किसानों ने खेतों में पीपे बजाकर टिड्डी दल को उड़ाने का प्रयास किया।
टिड्डी दल से हो रहे नुकसान को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत शनिवार को वीसी के जरिए विभिन्न जिलों में टिड्डी दल से हुए नुकसान का फीडबैक लेंगे। इसे लेकर कृषि विभाग के अधिकारी नुकसान संबंधी डाटा एकत्रित करने में जुटे रहे।
कृषि विभाग हनुमानगढ़ के उप निदेशक दानाराम गोदारा ने बताया कि जिले में तीन दल सक्रिय थे। लेकिन अब दो दल वापस लौट गया है। अब जिले में केवल एक दल सक्रिय है। छिडक़ाव आदि करके इसे नियंत्रित करने का प्रयास जारी है।
उन्होंने बताया कि ५१ आरडी के पास वन विभाग की भूमि पर इस समय टिड्डी दल सक्रिय है। इसके नियंत्रण के प्रयास जारी हैं। छितराई हुई होने के कारण इस समय ज्यादा नुकसान की सूचना नहीं है। उप निदेशक ने बताया कि इस समय टिड्डी दल नियंत्रण की स्थिति में है।
वहीं किसानों ने प्रभावित क्षेत्रों का जल्द सर्वे करवाकर मुआवजा देने की मांग की है। जिससे किसानों को राहत मिल सके। किसानों ने बताया कि लॉकडाउन के बीच किसान प्राकृतिक आपदा से जूझ रहे हैं। इस स्थिति में सरकारी मदद नहीं मिली तो इनके लिए जीना मुश्किल हो जाएगा। जिला कलक्टर जाकिर हुसैन के निर्देश पर राजस्व व कृषि विभाग की संयुक्त टीम ने नुकसान का सर्वे करने का कार्य शुरू कर दिया है। सर्वे रिपोर्ट तैयार होने में चार-पांच दिन लगने की बात कृषि अधिकारी कह रहे हैं।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned