scriptUnderpass will be seen near Satipura gate, will cost about 1.5 crores | सतीपुरा फाटक के पास दिखेगा अंडरपास, करीब डेढ़ करोड़ आएगी लागत | Patrika News

सतीपुरा फाटक के पास दिखेगा अंडरपास, करीब डेढ़ करोड़ आएगी लागत

सतीपुरा फाटक के पास दिखेगा अंडरपास, करीब डेढ़ करोड़ आएगी लागत
- 11 बॉक्स बनकर तैयार, 4 बाय ढाई का मिनी अंडरपास होगा
उधर, सतीपुरा फाटक पर ओवरब्रिज की दूसरी बार बढ़़ाई अवधि
हनुमानगढ़. आने वाले दिनों में सतीपुरा फाटक पर ओवरब्रिज से पहले अंडरब्रिज दिखाई देगा। इस पर करीब डेढ़ करोड़ की लागत आएगी।

हनुमानगढ़

Published: June 11, 2022 12:22:38 pm

सतीपुरा फाटक के पास दिखेगा अंडरपास, करीब डेढ़ करोड़ आएगी लागत
- 11 बॉक्स बनकर तैयार, 4 बाय ढाई का मिनी अंडरपास होगा
उधर, सतीपुरा फाटक पर ओवरब्रिज की दूसरी बार बढ़़ाई अवधि
हनुमानगढ़. आने वाले दिनों में सतीपुरा फाटक पर ओवरब्रिज से पहले अंडरब्रिज दिखाई देगा। इस पर करीब डेढ़ करोड़ की लागत आएगी। अंडरपास निर्माण के लिए 11 बॉक्स बनकर भी तैयार हो चुके हैं। रेलवे लाइन के नीचे बॉक्स रखने के लिए विभाग को पत्र लिखकर समय मांगा जाएगा। यह अंडरपास रेलवे लाइन सी-66 पर होगा, जोकि चार बाय ढाई का होगा। जंक्शन स्थित विद्युत निगम कार्यालय के पास सौ फीट मार्ग के सामने इसका निर्माण किया जा रहा है। इससे सौ फीट मार्ग के लोगों को संगरिया मार्ग पर आने व जाने के लिए सतीपुरा ओवरब्रिज या फिर चूना फाटक से नहीं जाना पड़ेगा। इसी अंडरपास से होकर संगरिया मार्ग पर जा सकेंगे। इससे समय की बचत भी होगी और ईंधन की खपत भी कम होगी। जानकारी के अनुसार सतीपुरा फाटक पर जिस ओवरब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। इसी बजट में अंडरपास को भी शामिल किया गया था। उसी के तहत निर्माण कार्य किया जा रहा है।
सतीपुरा फाटक के पास दिखेगा अंडरपास, करीब डेढ़ करोड़ आएगी लागत
सतीपुरा फाटक के पास दिखेगा अंडरपास, करीब डेढ़ करोड़ आएगी लागत
31 दिसंबर तक बढ़ाई अवधि, ढाई लाख फिर लगाई पैनल्टी
सतीपुरा फाटक पर निर्माणाधीन ओवरब्रिज का काम पूरा करने के लिए विभाग ने 31 दिसंबर तक अवधि बढा दी है। अभी तक 60 प्रतिशत ही कार्य हो पाया है। शेष चालीस प्रतिशत कार्य अगस्त 2022 तक पूरा करना था। लेकिन कार्य समय पर होता हुआ दिखाई नहीं दिया तो पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों ने दिसंबर 2022 तक अवधि बढाई है। जबकि यह कार्य मार्च 2020 तक पूरा होना था। प्रोगेस रिपोर्ट सही नहीं होने के कारण सार्वजनिक निर्माण विभाग ने सबसे पहले निर्माण एजेंसी पर 20 लाख रुपए की पैनल्टी लगाकर अगस्त 2022 तक इसकी अवधि बढ़ाई। इसके बाद 18 लाख रुपए की पैनल्टी लगाई गई। अब हाल ही में ढाई लाख रुपए की पैनल्टी और लगाई है। उल्लेखनीय है कि जंक्शन स्थित सतीपुरा फाटक पर 58 करोड़ की लागत से ओवरब्रिज निर्माणाधीन है
करीब 31 करोड़ का हो चुका है भुगतान
सतीपुरा फाटक पर रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण 58.34 करोड़ रुपए की लागत से होना प्रस्तावित है। सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से करीब 31 करोड़ का भुगतान किया जा चुका है। रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण 17 सितंबर 2018 को शुरू हुआ था। इसका शिलान्यास पूर्व जलसंसाधन मंत्री डॉ. रामप्रताप ने 28 सितंबर 2018 को किया था। पीडब्ल्यूडी के अनुसार ओवरब्रिज का निर्माण संगरिया मार्ग से चूना फाटक मार्ग व सतीपुरा बाइपास से अबोहर मार्ग तक होना है। ओवरब्रिज की लंबाई दोनों तरफ 800-800 मीटर के करीब रखी गई है। ओवरब्रिज की चौड़ाई 9.5 मीटर है। ओवरब्रिज के नीचे साढ़े पांच मीटर चौड़ाई की सर्विस लाइन भी रखी गई है।
बॉक्स बनकर तैयार हैं
सतीपुरा फाटक के पास अंडरपास का निर्माण भी किया जाना है। इसके लिए बॉक्स बनकर तैयार हैं। जल्द ही रेलवे से समय लेकर बॉक्स रखने का काम होगा। वहीं ओवरब्रिज का निर्माण धीमी गति से होने के कारण ढाई लाख रुपए की और पैनल्टी लगाई है।
कप्तान सिंह, अधिशासी अभियंता, पीडब्ल्यूडी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा उलटफेर: एकनाथ शिंदे ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी सीएमMaharashtra Politics: बीजेपी ने मौका मिलने के बावजूद एकनाथ शिंदे को क्यों बनाया सीएम? फडणवीस को सत्ता से दूर रखने की वजह कहीं ये तो नहीं!भारत के खिलाफ टेस्ट मैच से पहले इंग्लैंड को मिला नया कप्तान, दिग्गज को मिली बड़ी जिम्मेदारीAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: शरद पवार ने किया बड़ा दावा- फडणवीस डिप्टी सीएम बनकर नहीं थे खुश, लेकिन RSS से होने के नाते आदेश मानाUdaipur Murder: आरोपियों को लेकर एनआईए ने किया बड़ा खुलासा, बढ़ी राजस्थान पुलिस की मुश्किल'इज ऑफ डूइंग बिजनेस' के मामले में 7 राज्यों ने किया बढ़िया प्रदर्शन, जानें किस राज्य ने हासिल किया पहला रैंक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.