हनुमानगढ़ जिला अस्पताल को आवंटित 100 ऑक्सीजन कॉन्सेंटर, तीस तो रोगियों के लगाए

हनुमानगढ़. जिले को दानदाता प्रीतपालसिंह सिद्धू से मिले 335 ऑक्सीजन कॉन्सेंटर में से 100 मशीनें जिला अस्पताल को आवंटित की गई हैं। इनमें से तीस मशीनें तो मंगलवार शाम तक इंस्टॉल कर रोगियों को ऑक्सीजन सप्लाई शुरू कर दी गई थी।

By: adrish khan

Published: 11 May 2021, 10:42 PM IST

हनुमानगढ़ जिला अस्पताल को आवंटित 100 ऑक्सीजन कॉन्सेंटर, तीस तो रोगियों के लगाए
- ऑक्सीजन का संकट एकबार तो टला
- इधर हटा दिए विधायक-कलक्टर के नम्बर लिखे कागज
हनुमानगढ़. जिले को दानदाता प्रीतपालसिंह सिद्धू से मिले 335 ऑक्सीजन कॉन्सेंटर में से 100 मशीनें जिला अस्पताल को आवंटित की गई हैं। इनमें से तीस मशीनें तो मंगलवार शाम तक इंस्टॉल कर रोगियों को ऑक्सीजन सप्लाई शुरू कर दी गई थी। इससे जिला अस्पताल में ऑक्सीजन सिलेंडर की खपत अब कम होगी। ऐसे में ऑक्सीजन सिलेंडर का भंडारण जीरो नहीं होगा।
जिला अस्पताल प्रबंधन के अनुसार जिन रोगियों का ऑक्सीजन लेवल ज्यादा कम नहीं है, उनको ऑक्सीजन कॉन्सेंटर लगा रहे हैं। इससे दोहरा फायदा हुआ है। एक तो चिकित्सक एवं नर्सिंग स्टाफ इस तनाव में नहीं रहेंगे कि यकायक सिलेंडर खत्म हो गए तो क्या होगा। इसके अलावा कॉन्सेंटर मशीनें लगाने से ऑक्सीजन सिलेंडर की खपत अब कम होगी। जो रोगी कम गंभीर हैं, उनको कॉन्सेंटर लगाकर ही इलाज किया जा सकेगा।
हटा दिए नम्बर
जिला अस्पताल में ऑक्सीजन कॉन्सेंटर मिलने से ऑक्सीजन बेड की कमी और ऑक्सीजन सिलेंडर सप्लाई का संकट फिलहाल टल गया है। ऐसे में ऑक्सीजन बेड एवं ऑक्सीजन सिलेंडर सप्लाई की समस्या होने पर जिला कलक्टर एवं हनुमानगढ़ विधायक से संपर्क करने को लेकर जिला अस्पताल में चस्पा किए गए दोनों के नम्बर वाले कागज भी मंगलवार को हटा दिए गए। गौरतलब है कि जिला अस्पताल में रविवार रात मृतक के परिजनों ने हंगामा करते हुए चिकित्सक से मारपीट व दुव्र्यवहार किया। इसके बाद चिकित्सकों तथा नर्सिंगकर्मियों ने ट्रोमा सेंटर के बाहर धरना लगा दिया था। इस दौरान मारपीट के आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ ही जिला अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी का मुद्दा भी प्रमुखता से उठाया गया था। करीब छह घंटे तक धरना चला था। उसी रात पीएमओ के नाम से सूचना चस्पा कर दी गई थी कि जिला चिकित्सालय में ऑक्सीजन बेड खाली नहीं है। ऑक्सीजन भी उपलब्ध नहीं है। कोविड रोगी भर्ती नहीं कर सकते। साथ ही जिला कलक्टर तथा हनुमानगढ़ विधायक के नम्बर भी मोटे-मोटे अक्षरों में लिखकर चस्पा कर दिए गए ताकि बेड एवं ऑक्सीजन समस्या के संबंध में इनसे ही संपर्क किया जाए।

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned