Video: किसान बढ़ रहे बर्बादी की ओर, कुछ तो करो सरकार!

- भारतीय किसान संघ बैठक
- आंदोलन के मूड में हैं किसान

By: सोनाक्षी जैन

Published: 24 May 2018, 02:43 PM IST

संगरिया. किसानों को फसलों की लागत के अनुरुप लाभकारी मूल्य नहीं मिलने से किसान बर्बादी की ओर बढ़ रहे हैं। वह कर्जमें डूब चुका है। आलम ये है वे अपने बच्चों को तालीम हासिल करवाने में भी असमर्थ महसूस कर रहे हैं। अब तो सरकार कुछ करे नहीं तो हालत दयनीय हो जाएंगे। ये बात भारतीय किसान संघ के प्रांत मंत्री सुरेंद्रपाल सिंह ने मंगलवार दोपहर कृषक विश्राम गृह में हुई बैठक में कही।

 

जिलाध्यक्ष चरणजीतसिंह ने कहा कि फसलों का समर्थन मूल्य किसान के पसीने की कीमत में लगाया जाता है जबकि औद्योगिक उत्पादन उसकी लागत के आधार पर तय होता है जो उनसे कुठाराघात है। हमेशा विपक्ष अपनी भूमिका निभाने में नाकाम रहा और सरकारों ने हमेशा किसानों की उपेक्षा की है। तहसील अध्यक्ष राजपाल छाबा ने लागत के आधार पर भावांंतर योजना लागू करने, फसलों का समर्थन मूल्य घोषित कर वर्ष भर लाभकारी मूल्य पर खरीदने, एमएसपी से नीचे फसल बिकने को अपराध की श्रेणी में लाने की मांग उठाई।

 

सौंपा ज्ञापन

बैठक में हरविंद्रसिंह, पृथ्वी सहारण, गमदूर मान, अनिल सहारण, राजेश झोरड़ ने विचार रखे। उन्होंने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को किसानों के हित में लाने के लिए कंपनियों को प्रीमियम देने की बजाए केद्रांश राज्यांश तथा किसान के प्रीमियम का हिस्सा मिलाकर किसान कोरपस फंड योजना लाने की मांग की।

 

संघ ने राजस्थान में गेहूं खरीद केंद्र पंजाब व हरियाणा की तर्ज पर तीन-चार गांवों की यूनिट बनाकर सहकारी समितियों के माध्यम से करवाने, संगरिया क्षेत्र में भाखड़ा व आईजीएनपी के खाळों का निर्माण, नहरों में पंजाब से आ रहे प्रदूषि त पानी को रोकने व दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांगे करते हुए उपखंड अधिकारी को इस आशय का एक ज्ञापन भी सौंपा।

 

करेंगे आंदोलन

किसान आंदोलन के मूड में दिखाई दिए। उन्होंने समय रहते किसान हित में निर्णय नहीं लेने पर संघ की ओर से १५ से १७ जून को प्रदेश अधिवेशन में प्रभावी आंदोलन की रुपरेखा तय करने का निर्णय लिया। बैठक में कालूराम, धीरसिंह, हीराराम सहू, रमनसिंह, जीवन सहित अनेक किसान मौजूद रहे।

Show More
सोनाक्षी जैन
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned