पानी का इंतजाम पूरा, रेग्यूलेशन का फैसला तीस को

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. इंदिरागांधी नहर का अगला रोटेशन कैसे चलाए जाए, इसका निर्धारण करने के लिए जल संसाधन विभाग ने ३० दिसम्बर को जल परामर्शदात्री समिति की बैठक बुलाई है। बैठक की अध्यक्षता जल संसााधन विभाग के मुख्य अभियंता विनोद मित्तल करेंगे। हनुमानगढ़ स्थित मुख्य अभियंता कार्यालय में होने वाली इस इस अहम बैठक में विधायक, सांसद और विभागीय अधिकारियों की मौजूदगी में इंदिरागांधी नहर के आगे का रेग्यूलेशन निर्धारित किया जाएगा।

 


-जल परामर्शदात्री समिति की बैठक की तारीख तय
-किसानों को मांग के अनुसार पानी मिलने की उम्मीद
........फोटो.........
हनुमानगढ़. इंदिरागांधी नहर का अगला रोटेशन कैसे चलाए जाए, इसका निर्धारण करने के लिए जल संसाधन विभाग ने ३० दिसम्बर को जल परामर्शदात्री समिति की बैठक बुलाई है। बैठक की अध्यक्षता जल संसााधन विभाग के मुख्य अभियंता विनोद मित्तल करेंगे। हनुमानगढ़ स्थित मुख्य अभियंता कार्यालय में होने वाली इस इस अहम बैठक में विधायक, सांसद और विभागीय अधिकारियों की मौजूदगी में इंदिरागांधी नहर के आगे का रेग्यूलेशन निर्धारित किया जाएगा। जल संसाधन उत्तर संभाग हनुमानगढ़ विनोद मित्तल ने बताया कि ड्राइ सीजन मेें आवक के आधार पर पानी की मात्रा में कुछ इजाफा हुआ है। इसके अलावा बीबीएमबी से जुड़े राज्यों से समन्वय करके कुछ अतिरिक्त पानी का बंदोबस्त भी कर लिया गया है। इससे आगे एक बारी पानी अतिरिक्त मिलने की संभावना है। नहरों में कैसे पानी को चलाया जाएगा, इसका निर्धारण तीस दिसम्बर की जल परामर्शदात्री समिति की बैठक में ही लिया जाएगा। इस तरह साफ है कि नहरी पानी पर मंडरा रहे संकट के बादल अब छंट गए हैं। इससे किसानों को आगे मांग के अनुसार पानी मिलने की संभावना बढ़ गई है। विभागीय अधिकारी भी एक अतिरिक्त बारी पानी देने को लेकर सहमत हो गए हैं। गौरतलब है कि इंदिरागांधी नहर को चार में दो समूह में चलाने की मंाग को लेकर किसान संगठन ११ दिसम्बर से जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता कार्यालय के समक्ष धरने पर बैठे थे। जिला प्रशासन की पहल पर २६ दिसम्बर को हुई वार्ता में जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता ने चार में दो समूह में पानी चलने को लेकर संकेत जारी किए तो भारतीय किसान संघ से जुड़े किसानों ने दो जनवरी तक के लिए धरना स्थगित कर दिया।

प्रस्तावित रेग्यूलेशन पर नजर
जानकारी के अनुसार इंदिरागांधी नहर का जो रेग्यूलेशन प्रस्तावित किया गया है, उसमें आगे एक अतिरिक्त बारी पानी देने का उल्लेख किया गया है। प्रस्तावित रेग्यूलेशन के अनुसार चार में दो समूह की एक बारी, तीन में एक समूह की एक बारी तथा बाद में चार में दो समूह की दो बारी देने को लेकर विभागीय अधिकारी विचार कर रहे हैं। लेकिन नहर का रेग्यूलेशन किस तरह का होगा, इसकी सही स्थिति तीस दिसम्बर को जल परामर्शदात्री समिति की बैठक संपन्न होने के बाद ही सामने आएगी।

इन विधायकों-सांसदों की भूमिका अहम
इंदिरागांधी नहर का रेग्यूलेशन निर्धारित करने को लेकर सरकार स्तर पर जल परामर्शदात्री समिति बनाई गई है। इसमें कई विधायक और सांसदों को शामिल किया गया है। समिति की बैठक में शामिल होने के लिए श्रीगंगानगर सांसद निहालचंद मेघवाल, हनुमानगढ़ विधायक चौधरी विनोद कुमार, नोहर विधायक अमित चाचाण, संगरिया विधायक गुरदीप सिंह शाहपीनी, सूरतगढ़ विधायक रामप्रताप कासनियां, पीलीबंगा विधायक धर्मेंद्र मोची, अनूपगढ़ विधायक संतोष बावरी, रायसिंहनगर विधायक बलवीर लूथरा, खाजूवाला विधायक गोविंदराम, लूणकरणसर विधायक सुमित गोदारा, बीकानेर, चूरू, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़ के जिला प्रमुख सहित अन्य अधिकारियों को भी सूचित किया गया है। इसके अलावा बीकानेर सांसद व केंद्रीय मंत्री अर्जुुनराम मेघवाल को भी बैठक आयोजित होने की सूचना भिजवाई गई है।

बीबीएमबी सदस्य ने जांची व्यवस्था
भाखड़ा ब्यास मैनेजमेंट बोर्ड (बीबीएमबी) के सदस्य (सिंचाई) गुलाब सिंह ने शुक्रवार को राजस्थान में नहरी क्षेत्र का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होने अधिकारियों के साथ बैठक कर नहर मरम्मत कार्यों के बारे में चर्चा की। राजस्थान फीडर की रीलाइनिंग कार्य की प्रगति जानी। सदस्य सिंचाई स्काडा सिस्टम का अध्ययन भी करेंगे। इस तकनीक से नहरों में पानी के डिस्चार्ज की सूचना तत्काल प्राप्त हो सकेगी। सदस्य सिंचाई ने बताया कि बीबीएमबी का प्रयास है कि बीबीएमबी की नहरों में भी यह तकनीक लागू हो। उन्होंने बताया कि राज्यों के आपसी मामलों का अध्ययन कर उनका समाधान करने के मकसद से बीबीएमबी का गठन किया गया है। निरीक्षण के दौरान जल संसाधन हनुमानगढ़ के एक्सईएन लखपतराय मेहरड़ा, सुभाष बेदी सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned