खरपतवार मुक्त हुई राजस्थान कैनाल, तीन प्रदेशों की टेंशन टली

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

किसानों के दबाव के बाद राजस्थान ने पंजाब की मदद से इंदिरा गांधी नहर परियोजना (राजस्थान कैनाल) को खरपतवार मुक्त कर दिया है।

 

By: Purushottam Jha

Published: 07 Jul 2019, 08:12 PM IST

खरपतवार मुक्त हुई राजस्थान कैनाल, तीन प्रदेशों की टेंशन टली
हनुमानगढ़/ संगरिया. किसानों के दबाव के बाद राजस्थान ने पंजाब की मदद से इंदिरा गांधी नहर परियोजना (राजस्थान कैनाल) को खरपतवार मुक्त कर दिया है। पिछले कुछ दिनों से लगातार खरपतवार राजस्थान कैनाल में बह रहा था। गांव अबूबशहर के नजदीक पुल के पिल्लरों में फंसने की वजह से दबाव बढऩे लगा था। हरियाणा के किसानों ने बढ़ते दबाव के कारण नहर टूटने की आशंका के चलते विरोध दर्ज करवाया था। सूचना पाकर राजस्थान कैनाल के अधिकारी मौके पर पहुंचे थे। कार्यकारी अभियंता लखपत राय ने इस संबंध में निरीक्षण किया था। खरपतवार देखकर हरियाणा के अलावा पंजाब व राजस्थान के अधिकारी भी चिंतित थे। चूंकि राजस्थान कैनाल देश की सबसे बड़ी नहर है। अगर नहर टूट जाती तो भारी नुकसान होता है। राजस्थान के लोग प्यासे मर जाते है। हालातों का जिम्मेवार पंजाब होता है। बताया जाता है कि पंजाब तथा हरियाणा के डबवाली तक आने वाले हिस्से की पूरी देखभाल पंजाब के पास है। हालातों के मद्देनजर राजस्थान ने पंजाब पर दबाव बनाया। जिसके बाद पंजाब ने एक्सक्वेटर की मदद से नहर में खरपतवार निकाला। राजस्थान कैनाल से बाहर निकाले गए खरपतवार को पंजाब ने नहर की पटरी पर ही ढेरी कर दिया। हालांकि नहर में खरपतवार आना जारी है। राजस्थान के साथ डबवाली इलाके के किसान हालातों पर नजर रखे हुए हैं।

पक्के खाले के पटड़े पर विधुत पोल लगाा देने से टूट रहा खाला
पीलीबंगा. चक 2 जेडब्लयु में स्थित ङ्क्षसचाई के लिए निर्मित पक्के खाले के पटड़े पर कुछ प्रभावशाली लोगों की ओर से विद्युत के पोल खड़े कर देने से नहर चलने के दौरान खाला बार बार टूट जाने की वजह से चक की टेल पर स्थित काश्तकारों की बारी प्रभावित हो रही है। नहरी खाले के अध्यक्ष छोटूराम जांदू ने बताया कि चक के पक्के खाले के पटड़े पर कुछ लोगों की ओर से जबरदस्ती विद्युत पोल खड़े कर दिए गए हैं जिनसे खले के आस पास की मिट्टी नरम होने की वजह से किसानों की पानी की बारी पिट रही है। उन्होंने सिंचाई विभाग के अधिकारियों से काले खाले के पटड़े पर पर लगाए गए विद्युत पोलों को हटवा कर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की। (नसं.)

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned