जब पति ने मंजूर नहीं किया पत्नी का दूसरा पति, प्यार से पिलाई शराब और फेंका छत से

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

 

By: adrish khan

Updated: 29 Mar 2019, 12:09 PM IST

जब पति ने मंजूर नहीं किया पत्नी का दूसरा पति, प्यार से पिलाई शराब और फेंका छत से
- रावतसर में अवैध संबंधों के चलते सिर पर ईंट मार पति को छत से फेंक हत्या
- हत्या के आरोप में मृतक की पत्नी के साथ उसकी भाभी गिरफ्तार, दोनों महिलाएं सगी बहनें
हनुमानगढ़. रावतसर कस्बे में अवैध संबंधों के चलते युवक की हत्या का मामला सामने आया। वार्ड तीन में किराए के मकान में रहने वाला मोहनलाल पुत्र प्रेम कुमार लुहार गम्भीर हालात में घर के आगन में पड़ा मिला। उसे भाई सुभाषचंद्र व आसपास के लोगों ने एम्बुलेंस की सहायता से स्थानीय राजकीय अस्पताल पहुंचाया। वहां से जिला चिकित्सालय रेफर किया गया। गम्भीर हालत देखते हुए उसे बीकानेर रेफर कर दिया। मगर उसने बीच रास्ते दम तोड़ दिया। पुलिस ने हत्या के आरोप में मृतक की पत्नी व उसकी भाभी को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपी महिलाएं सगी बहनें हैं। स्थानीय राजकीय चिकित्सालय में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया गया। मृतक के पिता की रिपोर्ट पर पुत्रवधू व उसके प्रेमी सहित तीन जनों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया।
पुलिस के अनुसार प्रेमकुमार लुहार पुत्र महावीर प्रसाद निवासी 9 डीडब्ल्यूएम हाल वार्ड तीन ने रिपोर्ट दी कि उसके सुभाष, मोहनलाल व कालुराम तीन पुत्र हैं। तीनों की शादी एक ही घर में की हुई है। परिवादी प्रेम कुमार के भाई बाबूलाल का पुत्र वेदप्रकाश उसकी पुत्रवधू दिव्या पत्नी मोहनलाल से बातें करता था। दोनों के बीच अवैध संबंध हो गए। इसका पता लगने पर उनको मना किया गया। मगर वे नहीं माने। इससे मोहनलाल परेशान रहता था। मोहनलाल के भाई कालुराम ने वेदप्रकाश को घर पर आने से मना कर दिया। इसके बाद पुुत्रवधू दिव्या के पास मोबाइल फोन पकड़ा गया जिससे वह वेदप्रकाश से बातें करती थी। वेदप्रकाश गुजरात में कार्य करता है। उससे दिव्या विवाह करना चाहती थी। इसको लेकर दिव्या ने मोहनलाल से कई बार झगड़ा किया तथा उसे जान से मारने की धमकी भी दी। तीनों पुत्रों की बहुएं रेणु, संगीता व दिव्या सगी बहने हैं। उनमें से बड़ी रेणु का चाल चलन सही नहीं है। वह कुछ दिन पूर्व दीपक मेघवाल के साथ भाग गई। उसे पुलिस ने बरामद किया था। रेणु व दिव्या दोनों एक साथ रहती है। वह भी दिव्या की शादी वेदप्रकाश के साथ करवाना चाहती थी।
पिछले कई दिनों से मोहनलाल की पत्नी जानबूझकर छत पर सोती थी। जबकि रेणु व संगीता नीचे कमरे में सोती थी। बुधवार को कालुराम व उसकी पत्नी संगीता 14 बीपीएम गए हुए थे। रात्रि को सभी खाना खा कर सो गए। दिव्या व मोहनलाल छत पर सो गए। रात को करीब एक बजे दिव्या ने शोर मचा दिया कि मोहनलाल छत पर नहीं है। परिजनों ने ढूंढ़ा तो वह घायल अवस्था में आंगन में पड़ा था। दिव्या व रेणु पर शक होने के कारण उनसे पूछताछ की। दिव्या ने सबके सामने स्वीकारा कि वह वेदप्रकाश के साथ शादी करना चाहती है। इस कारण मोहनलाल को मार दिया। पुलिस ने धारा 302, 109 120 बी व 34 में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
पत्नी व भाभी गिरफ्तार
पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए मामले की जांच कर मृतक की पत्नी दिव्या व उसकी बहन रेणु को गिरफ्तार कर लिया। थाना प्रभारी मोहम्मद अनवर ने बताया कि दिव्या ने पूछताछ में स्वीकारा है कि वह मोहनलाल के साथ नहीं रहना चाहती थी। इसके चलते अपनी बहन रेणु के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची। बुधवार रात मोहनलाल को शराब के दो पव्वे पिलाए। फिर शराब के नशे में धुत्त मोहनलाल के सिर पर ईंट से वार कर घायल कर दिया। उसे छत से नीचे फेंक दिया।

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned