50 लाख से किया था सड़कों का डामरीकरण, चंद महीनों में हो गई बदहाल

-लोगों को आवागमन में परेशानी

- सड़कों का डामरीकरण उखड़

खिरकिया। नगर परिषद द्वारा कुछ दिनों पहले करीब 50 लाख रुपए की लागत से शहर की सड़कों का डामरीकरण किया गया था। यह डामरीकरण चंद महीनों में ही बर्बाद हो गया है। कई वार्डों की सड़कों में जगह-जगह गड्ढे उभर आए हैं जिससे लोगों को आवागमन में परेशानी हो रही है।
-------------
कई वार्डों में हालात बदतर
नगर परिषद ने शहर के अधिकांश वार्डों की सड़कों पर डामरीकरण कराया था। इतनी बड़ी राशि खर्च करने के बावजूद यह प्रयोग सफल नहीं हुआ। अधिकांश वार्डों में सड़कों का डामरीकरण उखड़ चुका है और गड्ढे हो गए हैं। जिन वार्डों में सड़क अच्छी नहीं है उन वार्डों मेंं लोग परेशान हैं। वार्ड10 में पावर हाउस से पानी की टंकी तक तथा स्टेट बैंक से जोशी जी के घर तक एवं बंैक ऑफ इंडिया से लेकर महेश मिस्त्री के घर तक सीसी रोड पर तो डामरीकरण भी नहीं हुआ था जिससे यहां के लोग और ज्यादा परेशान हैं। वार्ड 11 में सड़क व नाली नहीं होने से लोगों को कच्ची सड़क से आवागमन करना पड़ रहा है।
--------------
चुनिंदा वार्डों में डामरीकरण
चुनाव नजदीक आते ही नगर परिषद द्वारा विकास कार्य दिखाने के लिए चुनिंदा वार्डों में तथा मेन रोड पर ही डामरीकरण कराया है। जिन बस्तियों में गरीब लोग रहते हंै। उनके घरों के सामने नगर परिषद ने ध्यान नहीं दिया है। वार्ड के लोगों का कहना है कि चुनाव नजदीक आते ही वोट मांगने घर तक पहुंच जाते हंै और समस्या होने पर सुनते नही हैं।
------------
इनका कहना है
मौखिक तौर पर मुझे याद नही है कि कितने वार्डों में डामरीकरण हुआ है। जिन वार्डों में डामरीकरण नहीं हुआ है वहां भी जल्द डामरीकरण कराया जाएगा।
एआर सांवरे, सीएमओ खिरकिया

Show More
Rahul Saran Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned