भाजपा नेता के बाद अब खलिहान में मिला 8 लाख का अवैध चना, पढ़ें पूरी खबर

व्यापारी ने दो दिन पहले खंडवा से बुलाया था, कृषि उपज मंडी में समर्थन मूल्य पर बेचने की तैयारी थी

By: sanjeev dubey

Published: 07 Jun 2018, 01:43 PM IST

खिरकिया। पिछले दिनों होशंगाबाद जिले के बनखेड़ी में भाजपा नेता द्बारा घुने और एक साल पुराने चने बेचने के प्रयास का खुलासा होने के दूसरे ही दिन एक व्यापारी का १८३ क्विंटल अवैध चना खलिहान से बरामद किया गया है।
ब्लाक के गांव सारंगपुर में स्थित खेत में एक व्यापारी ने सैकड़ों क्विंटल अवैध चना छुपाकर रखा था। व्यापारी द्वारा इसे मंडी में समर्थन मूल्य पर बेचने की तैयारी की जा रही थी। किंतु बुधवार को सूचना मिलने पर मंडी अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने छापामार कार्रवाई कर चना को जब्त किया। माल बरामद होने पर एक व्यापारी ने दूसरे का होना बताकर पल्ला झाड़ लिया। मंडी निरीक्षक ने व्यापारी के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए जांच प्रतिवेदन बनाकर एसडीएम को दिया।

रास्ते से वापस ले गए भरी टै्रक्टर ट्राली
मंडी अधिकारियों को गांव सारंगपूर से अवैध चने की ट्राली भरे जाने की सूचना मिली। जिस पर मंडी निरीक्षक आरके धनोरिया, सहायक निरीक्षक गजेन्द्र महाजन, सहायक ग्रेड 2 केके उमरिया एवं सदासुख विश्नोई गांव में पहुंचे। किंतु जो स्थान बताया गया था वहां पर ट्राली नहीं मिली। इसके बाद मंडी दल आगे रवाना हुआ। गांव सारंगपुर व धनवाड़ा के बीच में चने से भरी ट्राली मिली। जिसे रोककर ड्राईवर से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि वह ट्राली को तुलवाने के लिए ले जा रहा है। वहीं चना सारंगपुर के खलिहान से लाने की जानकारी दी। अधिकारियों ने ट्रैक्टर ट्राली को वापस खलिहान लेकर जाने के लिए कहा। जहां पहुंचने पर खलिहान में पॉलिथीन के नीचे चने की बोरियां ढंकी मिलीं। जांच करने पर खलिहान से १५३ क्विंटल तथा ट्राली से ३० क्विंटल चना जब्त किया। इस तरह १८३ क्विंटल चना पाया गया। जिसकी समर्थन मूल्य पर विक्रय कीमत लगभग ८ लाख १४ हजार ३५० रुपए है।

फंसने पर दूसरे व्यावसायी का नाम लिया
अधिकारियों ने खलिहान के मालिक से पूछताछ की तो उसने खिरकिया के व्यावसायी यावर बोहरा का होना बताया। उन्होंने यावर को मौके पर बुलाकर जानकारी ली तो उसने चना सोनू अग्रवाल का बताया। मंडी निरीक्षक धनोरिया द्वारा मौके पर चने के मालिक सोनू अग्रवाल से पूछताछ की तो उसने स्वीकार किया कि चना विगत 2 दिनों पूर्व खंडवा से बुलवाया था, जिसे सारंगपुर के किसान के खलिहान में रखवाया था। जिसे ट्रैक्टर ट्राली से वह मंडी में बेचने की तैयारी में था। गौरतलब है कि इससे पूर्व भी नगर में एक स्थान से बड़ी मात्रा में दल द्वारा चना जब्त किया गया था, जो महाराष्ट्र से बुलाया गया था। जिसमें कुछ बोरियों के बिल व्यवसायी के पास मिले थे। किंतु बाकी के अतिरिक्त चने पर मंडी ने 5 गुना मंडी शुल्क वसूला था। साथ ही व्यापारी का मंडी लाइसेंस भी निरस्त किया था।

इनका कहना है
खंडवा से चना बुलवाकर उसे सारंगपुर के खेत में छुपाकर रखा गया था। व्यापारी से पूछताछ कर उसके बयान लिए गए। ांच प्रतिवेदन बनाकर एसडीएम को दिया गया है। इसके बाद व्यापारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
आरके धनौरिया, मंडी इंस्पेक्टर, कृषि उपज मंडी, खिरकिया

sanjeev dubey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned