सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र स्टॉफ के लिए एक करोड़ से बनेंगे नए आवास

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र स्टॉफ के लिए एक करोड़ से बनेंगे नए आवास

pradeep sahu | Publish: Sep, 03 2018 01:52:09 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

कर्मचारियों को जर्जर आवास में होने वाली परेशानी से मिलेगी निजात

खिरकिया. सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में सेवा देने वाले चिकित्सकों सहित स्टाफ को नए आवास उपलब्ध होंगे। वर्तमान में जर्जर हो रहे भवनों में स्टाफ रहने पर मजबूर है। वहीं कुछ कर्मचारी किराए के मकानों में निवास कर रहे हैं, लेकिन अब उनके लिए अस्पताल परिसर में ही नए आवासों का निर्माण किया जाएगा। जिसका प्रक्रिया लगभग पूर्ण हो चुकी है। शीघ्र ही निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा। जानकारी के अनुसार सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परिसर में मल्टी आवासों का निर्माण होगा जो पुलिस क्वार्टरो की तर्ज पर होंगे। जिसमें स्टाफ के लिए सर्वसुविधायुक्त भवन का निर्माण होगा। शासन स्तर से भवन के निर्माण को लेकर स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है। इन आवासों के निर्माण से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के कर्मचारियों को राहत मिलेगी।
मुख्यमंत्री करेंगे भूमिपूजन: सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में बनने वाले आवासों का भूमिपूजन मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान करेंगे, हालांकि यह भूमिपूजन स्थानीय स्तर पर नहीं होकर भोपाल से होगा। प्रदेश में होने वाले निर्माण कार्यो का भूमिपूजन 17 सितंबर को मुख्यमंत्री भोपाल में सामुहिक रूप से करेंगे। जिसमें सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के आवासों का भी भूमिपूजन शामिल हंै। भूमिपूजन के बाद ही आवासों का निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा।
हटाए जाएंंगे पुराने आवास : नए भवन के निर्माण के लिए पुराने आवासों को हटाया जाएगा। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में वर्तमान में 11 पुराने भवन है जिसमें से लगभग आधा दर्जन काफी क्षतिग्रस्त एवं जर्जर हो रहे हैं, लेकिन मजबूरी में कर्मचारियों को उन्हीं में निवास करना पड़ रहा है। पुराने कबेलू एवं मिट्टी की दीवारे होने की वजह से गिरने का भय बना रहता है। अस्पताल परिसर मुख्य मार्गों से नीचा होने की वजह से इन भवनंों में बारिश का पानी भी भर जाता है। वर्तमान में बारिश के चलते छत पर पॉलीथिन डालकर काम चलाया जा रहा है। इन आवासों को शीघ्र ही डिस्मेंटल किया जाएगा।
इनका कहना है...

&नए आवासों के निर्माण की स्वीकृति प्राप्त हुई है। जिसका भोपाल से शीघ्र भूमिपूजन किया जाएगा। पुराने भवनों को डिस्टमेंटल किए जाने के प्रस्ताव भेजे गए है।
डॉ. आरके विश्वकर्मा, बीएमओ, खिरकिया

Ad Block is Banned