राज्य शासन से राशि नहीं मिलने से अटका ओवरब्रीज का निर्माण

राज्य शासन से राशि नहीं मिलने से अटका ओवरब्रीज का निर्माण

sanjeev dubey | Publish: Sep, 04 2018 01:30:45 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

मुख्यमंत्री से बढ़ी नागरिकों को अपेक्षाएं, ब्रीज निर्माण से वाहन चालकों को परेशानी से मिलेगी निजात

खिरकिया. नगर सहित स्टेट हाइवे पर यातायात को सुगम बनाने के लिए रेलवे द्वारा ओवर ब्रीज तो स्वीकृत कर दिए गए है, लेकिन राज्य शासन द्वारा अपने हिस्से की राशि जारी नहीं किए जाने से निर्माण अटका हुआ है। रेलवे द्वारा अपनी ओर से तैयारियां पूर्ण कर ली गई है, लेकिन अब राज्य शासन से राशि मिलने का इंतजार है। लेकिन शासन द्वारा अनदेखी की जा रही है। 6 सितंबर को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान नगर पहुंचने वाले है। ऐसे में अब समस्या के निराकरण की अपेक्षा नागरिकों द्वारा की रही है। रेलवे बजट में होशंगाबाद खंडवा स्टेट हाइवे पर भिरंगी रेलवे गेट एवं नगर के मध्य स्थित रेलवे गेट क्रासिंग के लिए ओवर ब्रीज स्वीकृत किए है। लेकिन इसको लेकर जमीनी स्तर पर कोई कवायद शुरू नहीं की गई है। इससे हाइवे पर स्थित भिरंगी गेट वाहन चालकों के लिए परेशानियों का सबब बना है। रेलवे द्वारा ब्लाक लिए जाने व आए दिन लंबे समय तक गेट बंद रहने के कारण जाम की स्थिति निर्मित हो रही है। नगर में भी घंटों जाम लगा रहता है।

स्वीकृति को हुए ढाई वर्ष निर्माण का पता नहीं -
फरवरी 2016 में रेलवे बजट में खिरकिया नगर को जोडऩे वाले गेट क्रमांक 195 एवं होशंगाबाद खंडवा स्टेट हाइवे पर हरदा खिरकिया के मध्य स्थित भिरंगी गेट क्रमांक 199 के लिए ओव्हर ब्रीज की स्वीकृति प्रदान की थी। जिसको लेकर ढाई वर्ष से अधिक का समय बीत चुका है, लेकिन दोनों ब्रीज में जमीनी स्तर तक ही काम नहीं हुए है। भिरंगी गेट पर किसी प्रकार का स्थान को लेकर कोई पेंच नहीं था, बावजूद उसके ब्रीज निर्माण को लेकर कोई प्रक्रिया देखने को नहीं मिल रही है। ब्रीज निर्माण में स्थान के चयन को लेकर पूर्व में दो -तीन बार रेलवे एवं सेतु निगम के अधिकारियों द्वारा मिशन बंगले की भूमि एवं उससे जुड़े हुए मार्गो का निरीक्षण किया गया था। जिस पर उनकी सहमति भी बनना तय बताया जा रहा है, लेकिन राशि के चक्कर में प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ सकी। जबकि रेलवे के अधिकारियों द्वारा स्वीकृति के समय में 2 वर्षो ओवर ब्रीज के निर्माण कार्य पूर्ण होने की बात कही थी, लेकिन उससे अधिक समय बीत चुका है, और निर्माण प्रारंभ नहीं हो सका।

स्टेट हाइवे और नगर में लगता है जाम -
नगर के मध्य से रेल लाईन गुजरी हुई है। जिसमें रेल लाइन के खिरकिया के 5-5 वार्ड स्थित है। वहीं किल्लौद विकासखंड जाने का भी यही एकमात्र मुख्य मार्ग है। मुंबई दिल्ली रेल लाइन होने के चलते टे्रनों के दबाव के कारण अधिकांश समय गेट बंद रहता है। जिससे जाम की स्थिति बनी रहती है। इसी प्रकार होशंगाबाद खंडवा स्टेट हाइवे कई जिलों को जोड़ता है, जहां प्रतिदिन बड़ी संख्या में वाहनों का आवागमन होता है। लेकिन भिरंगी गेट पर वाहनों के पहिए थम जाते है। कई बार तकनीकी खराबी होने के कारण भी गेट बंद रहता है। ऐसे में रेलवे गेट के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारे लग जाती है। यही स्थिति नगर के रेलवे गेट की भी बनी रहती है।

सीएम को दोनों गेटों का करना होगा सामना -
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान को अपनी जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान दो रेलवे गेटों का सामना करना पड़ेगा। मुख्यमंत्री हेलीकाप्टर से चौकडी पहुंचेंगे, जहां से वे चार पहिया वाहन से नगर के कृषि उपज मंडी पहुंचेंगे। ऐसी स्थिति में उन्हे गेट को क्रास करना होगा। वही मंडी में सभा के बाद चार पहिया वाहन से ही हरदा की ओर प्रस्थान करेंगे, जहां पर भिरंगी गेट से गुजरना होगा। अब यदि मुख्यमंत्री के आवागमन के समय रेलवे गेट बंद रहने पर खासी दिक्कतेंं होगी।

प्रदेश शासन से राशि दिलाओ, हम ब्रीज का निर्माण शुरू कर देंगे -
12 जून 2018 को रेलवे स्टेशन के निरीक्षण पर आए डीआरएम शोभन चौधरी को नागरिकों ने ब्रीज निर्माण की समस्या से अवगत कराया था। जिस पर डीआरएम ने कहा था कि हमारी ओर से सारी तैयारी पूर्ण है, आप मप्र शासन से राशि दिला दीजिए, हम कल से ब्रीज का निर्माण प्रारंभ करा देंगे। गौरतलब है कि रेलवे एवं राज्य शासन की राशि से ओवरब्रीज का निर्माण होना है, लेकिन राज्य शासन के बजट में ओवर ब्रीज स्वीकृत नहीं हुआ है। ऐसी स्थिति में उसको लेकर राशि जारी नहीं होने से ओवरब्रीज का निर्माण नहीं हो पा रहा है।

इनका कहना है-
राज्य शासन से राशि स्वीकृत होते ही कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा। स्थलों का पूर्व में निरीक्षण किया जा चुका है।
सी आर कनाडे, सेतु निगम, होशंगाबाद

Ad Block is Banned