कोरोना का असर : बैंड संचालक बैंड-बाजा बजाते हुए सहायता राशि मांगने कलेक्ट्रेट पहुंचे

कलेक्टर के नाम ज्ञापन देकर आर्थिक सहायता की मांग की

By: rakesh malviya

Published: 18 Sep 2020, 11:59 PM IST

हरदा. कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए लागू लॉकडाउन ने हमारा काम-धंधा बंद करा दिया। अपै्रल से जुलाई तक घर में बैठे रहने से परिवार का भरणपोषण कठिन हो गया है। ऐसे में शासन आर्थिक सहायता उपलब्ध कराए। शहर के बैंड संचालक इस आशय की मांग लेकर शुक्रवार को कलेक्ट्रेट पहुंचे। इस दौरान वे बैंड-बाजा भी साथ लेकर गए। इस दौरान बैंड यूनियन एक समिति द्वारा कलेक्टर के नाम एक ज्ञापन भी दिया गया।
जानकारी के अनुसार शुक्रवार को बैंड यूनियन एकता समिति द्वारा शहर के विभिन्न चौक-चौराहों पर बैंड बाजार बजाकर जनता का ध्यान आकर्षित कराया गया। बैंड यूनियन एकता समिति के बैनर तले कई लोग रैली के रूप में कलेक्ट्रेट पहुंचे। इस दौरान कलेक्टर के नाम ज्ञापन दिया गया। बैंड यूनियन एकता समिति के सदस्यों ने बताया कि कोरोना वायरस और लॉकडउन के कारण शहर में शादी विवाह नहीं हुए हैं जिसके कारण हमारा धंधा पूरी तरह से चौपट हो गया है। इसके अलावा गणेश उत्सव में हो बैंड वालों को सीजन अच्छा रहता था लेकिन वह भी कोरोना के कारण न के बराबर ही रहा। सदस्यों का कहना है कि जब से लॉकडाउन लगा था तब से अभी तक उनके पास काम नहीं है। उन्होंने ज्ञापन में बताया कि कई लोगों के परिवार के पास दो वक्त के भोजन की व्यवस्था नहीं भी पा रहे हैं, बैंड बाजा बंद होने से दूसरी जगह काम भी नहीं मिल रहा है जिसके कारण उनके सामने आर्थिक संकट आ गया है। इसके अलावा अभी तक शासन द्वारा उन्हें अब तक किसी भी प्रकार की सहायता नहीं दी गई है। समिति द्वारा मांग की गई है कि उन्हें आर्थिक सहायता व काम उपलब्ध कराया जाए। इस दौरान धनराज गौर, मनीष बाघेला, मनोज, दिनेश मौजूद रहे।

rakesh malviya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned