एक नाव में 20 से ज्यादा नहीं बैठेंगे श्रद्धालु, डंपरों के चलने पर रहेगी रोक

-नर्मदा पंचक्रोशी यात्रा को लेकर बनाई योजन

हंडिया। नर्मदा पंचक्रोशी यात्रा व्यवस्था को लेकर बैठक का आयोजन शुक्रवार को ग्राम पंचायत भवन हंडिया में किया गया। पंचक्रोशी यात्रा 19 फरवरी से शुरू हो रही जिसमें बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल होते हैं। बैठक में एसडीएम एचएस चौधरी, तहसीलदार अर्चना शर्मा, नायब तहसीलदार भरत अहिरवार, सरपंच संजू वर्मा, हंडिया थाना प्रभारी एसएस बघेल, जिला खनिज अधिकारी ओपी बघेल, जेई महेंद्र प्रजापति, एसडीओ विजय सिंह ठाकुर, वनपाल वहीद खान, जनपद सदस्य अरुण तिवारी, गौशाला समिति अध्यक्ष अवंतिका प्रसाद तिवारी, ओम प्रकाश शर्मा आदि मौजूद रहे।

बैठक में एसडीएम चौधरी ने कहा कि हंडिया एवं ऊंचान घाटों पर पेयजल एवं प्रकाश व्यवस्था के बेहतर इंतजाम किए जाएंगे। बरसात होने की स्थिति में श्रद्धालुओं को ऊंचान घाट पर नहीं रुकने दिया जाए। उन्हें आसपास के गांव में स्कूलों एवं घरों में ठहराने की व्यवस्था की जाएगी। प्रतिवर्ष एक नाव से पंचक्रोशी यात्रियों को ऊंचान घाट से देवास जिले के राजोर घाट में उतारने की व्यवस्था रहती है जिससे यात्रियों को घंटों कतारों में खड़े रहकर नर्मदा पार करने की समस्या से जूझना पड़ता है। राजौर घाट से संदलपुर की दूरी अधिक होने से श्रद्धालु रात्रि पड़ाव वाले स्थान तक देरी से पहुंचते हैं जिसके चलते इस वर्ष एक साथ दो नावों को निकालने की व्यवस्था की जाएगी। देवास जिला प्रशासन के अधिकारियों की मौजूदगी में ही यात्रियों को उतारने का कार्य किया जाएगा। बिजल गांव घाट से नौका पार करने का 10 एवं ऊंचान घाट से नौका से नर्मदा पार करने का 20 रुपए किराया लिया जाएगा। एक नाव में 20 से अधिक यात्रियों को नहीं बैठने दिया जाएगा। एसडीएम चौधरी ने कहा कि पंचक्रोशी यात्रा के दौरान नर्मदा के आसपास की सभी खदानों से 3 दिनों तक रेत के परिवहन पर रोक रहेगी।

Rahul Saran Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned