नर्मदा में महाजाल फैलाया, दो युवकों का फिर भी पता नहीं चला

टिमरनी थाना क्षेत्र के लछौरा घाट पर स्नान के दौरान डूबे थे बावडिय़ा निवासी चार युवक, दो के शव मिले

By: gurudatt rajvaidya

Published: 16 Oct 2020, 09:30 PM IST

हरदा/करताना/खिरकिया। टिमरनी तहसील के लछौरा गांव में नर्मदा स्नान के दौरान एक के बाद एक डूबे चार में से दो युवकों के शव तो मिल गए, लेकिन बचे दो के नहीं मिल सके। गोताखोरों की मदद से चले तलाशी अभियान के दौरान छीपानेर से महाजाल (मछली पकडऩे का बड़ा जाल) बुलाकर पानी में फैलाया गया, लेकिन इससे भी सफलता नहीं मिली। शनिवार सुबह से शुरू होने वाले तलाशी अभियान के लिए इंदौर से एसडीआरएफ की टीम बुलाई गई है। ज्ञात हो कि खिरकिया तहसील के बावडिय़ा (चारुवा) गांव निवासी 11 लोग स्नान के लिए लछौरा गए थे। इनमें से एक युवक जब डूबने लगा तो उसे बचाने के लिए दो-दो कर चार युवक पानी में उतरे थे। खबर है कि शुक्रवार सुबह 11 लोग बाइक से स्नान के लिए लछौरा गए थे। इनमें से छह नहाकर बाहर आ चुके थे, वहीं पांच स्नान कर रहे थे। इसी दौरान महेंद्र नामक युवक डूबने लगा तो दो अन्य उसे बचाने के लिए उतरे। जब उनका पता नहीं चला तो दो युवक और लपके। वे डूबने लगे तो शोर मचा। इस दौरान इन्हीं में मौजूद एक व्यक्ति ने अन्य को पानी में जाने से रोका। शोरशराबा हुआ तो नाविक सतीष केवट तत्काल वहां पहुंचा और अनिल पिता जगदीश को बचा लिया। घटना की खबर फैलते ही क्षेत्र में सनसनी मच गई। प्रशासन व पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचे। एसपी मनीष कुमार अग्रवाल दोपहर में ही घाट पर पहुंचे। इसके बाद वे रात में कलेक्टर संजय गुप्ता के साथ दोबारा लछौरा गए। तलाशी अभियान में शुक्रवार शाम 5 बजे तक सुरेंद्र पिता निर्भय सिंह (22) व राहुल पिता सोहन सिंह (30) के शव बरामद कर लिए गए। रोहित पिता नर्मदा प्रसाद (30) एवं महेंद्र पिता भागवत सिंह (22) की तलाश देरशाम तक जारी रही। टिमरनी एसडीएम एमके बमहने, तहसीलदार अलका एक्का, नायब तहसीलदार संदीप गौर, टिमरनी थाना प्रभारी राजेश साहू, करताना चौकी प्रभारी अविनाष पारदी, हल्का पटवारी मनीष कुशवाहा आदि पूरे समय मौके पर मौजूद रहे।

gurudatt rajvaidya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned