सीएमओ एवं कर्मचारियों के फर्जी हस्ताक्षर करके बैंक से निकाले 4 लाख

नगर पंचायत की स्थापना शाखा में पदस्थ है दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी, दस कर्मचारियों की भविष्य निधि खाते से गायब हुई राशि

By: sandeep nayak

Published: 10 Mar 2019, 11:20 AM IST

खिरकिया. स्थानीय नगर पंचायत की स्थापना शाखा में पदस्थ एक दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी सीएमओ और खाताधारक कर्मचारी के फर्जी हस्ताक्षर करके उनके खाते से लगभग 4 लाख रुपए निकाल लिए। इसकी जानकारी लगने पर अधिकारी से लेकर कर्मचारी अपने खाते चेक करने में जुट गए हैं। फिलहाल सीएमओ सहित 1१ कर्मचारियों के खातों से राशि आहरित किए जाने की जानकारी सामने आईहै। अन्य कर्मचारी सोमवार १० मार्चको बैंक जाकर अपने खातों की भी जांच करवाएंगे। इसमें और कर्मचारियों को भी चपत लगने का मामला उजागर हो सकता है।

नपं सीएमओ को भी नहीं छोड़ा
जानकारी नगर पंचायत में कार्यरत् प्रत्येक कर्मचारी के भविष्य निधि खाते हैं। इस खाते से राशि निकालने के लिए खाताधारक कर्मचारी और सीएमओ के हस्ताक्षर होते हैं। इसके बाद ही बैंक से राशि आहरित होती है। सूत्रों के अनुसार नगर पंचायत की स्थापना शाखा में पदस्थ दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी ने ११ कर्मचारियों के भविष्य निधि खाते से उनके व नपं सीएमओ आत्माराम सांवरे के फर्जी हस्ताक्षर करके लगभग 4 लाख रुपए निकालने का मामला प्रकाश में आया है। इसमें दैवेभो कर्मचारी ने सीएमओ सांवरे को भी नहीं छोड़ा। उनके खाते से भी अलग-अलग डेट में राशि निकाली गई।

ऐसे पता चली पैसे निकालने की हेराफेरी
बताया जाता है कि सीएमओ सांवरे के पुत्र की गत दिनों शादी हुई थी, जिन्हें टेंट वालों सहित अन्य लोगों की राशि चुकता करनी थी। जिस पर उन्होंने कार्यालय के एक कर्मचारी को अपने भविष्य निधि खाते से राशि निकालने के लिए भेजा था। जहां पर उक्त कर्मचारी ने सीएमओ को बताया कि उनके खाते में केवल 5 हजार रुपए ही शेष है। इसके बाद वह भोपाल चले गए। अगले दिन उन्होंने नगर पंचायत के सहायक अकाउंटेंट लक्ष्मीनारायण मालवीय को फिर से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में पासबुक लेेकर भेजा। जहां पर अलग-अलग तिथियों में उनके खाते से करीब 2 लाख 21 हजार रुपए निकालने की बात पता चली।इसके बाद नगर पंचायत के ९ कर्मचारियों ने भी बैंक पहुंचकर अपने-अपने खातों की जांच करवाई तो सभी के खातों से राशि गायब होना मिली। एक कर्मचारी ने बताया कि उसके खाते से गत 18 फरवरी को ४९ हजार तथा ८ मार्च को ४८ हजार निकाले गए।

बैंक की लापरवाही से उड़ाए खातों से पैसे
उल्लेखनीय है कि नगर पंचायत में कार्यरत् कर्मचारियों के भविष्य निधि के खाते स्टेट बैंक में हैं। यह खाता नगर पंचायत और कर्मचारी का ज्वाइंट खाता है। जिस कर्मचारी को अगर खाते से पैसे निकालने होते हंै तो इसमें उसके स्वयं के और सीएमओ के हस्ताक्षर लगते हैं। किंतु जिस कर्मचारी ने उक्त दोनों के हस्ताक्षर करके बार-बार राशि निकाली गई तब भी बैंक के कर्मचारी ने दोनों के हस्ताक्षरों का मिलान नहीं किया। बैंक की इस लापरवाही की वजह से कर्मचारियों के खातों से लाखों रुपए की राशि उड़ाई गई।

इनका कहना है
हमारी शाखा से अगर बिना खाता धारकों के राशि निकली है तो इसकी जांच करवाईजाएगी। फिलहाल किसी भी कर्मचारी ने उनके खातों से राशि निकाले जाने की शिकायत नहीं की गई है। मैं सोमवार को दिखवाता हूं।
बैंक मैनेजर नरेंद्र हेड़ाउ, शाखा प्रबंधक

कर्मचारियों के भविष्य निधि खातों से राशि फर्जी तरीके से निकालने का मामला संज्ञान में आया है। इसकी जांच कराईजा रही है। इसमें जो भी दोषी होगा उसके खिलाफकार्रवाई की जाएगी।
आत्माराम सांवरे, सीएमओ, नगर पंचायत, खिरकिया

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned