फसल कटाई का काम तेज हुआ, शहर में रहने वाले किसानों को खेत जाने में हो रही असुविधा

लॉकडाउन के दौरान पुलिस की सख्ती से डरे किसान गांव नहीं पहुंच पा रहे

हरदा। जिले में इन दिनों रबी फसल की कटाई का काम तेज हो गया है। चना की कटाई निपट चुकी है, वहीं सीजन की मुख्य फसल गेहूं की कटाई जारी है। इसी बीच कोराना वायरस के संक्रमण को लेकर लॉकडाउन होने से किसानों का वह वर्ग परेशानी का सामना कर रहा है जो हरदा, खिरकिया, टिमरनी सहित अन्य कस्बों में रहकर खेती करता है। नाकाबंदी के दौरान पुलिस के सख्ती बरतने के कारण उन्हें यह समझ नहीं आ रहा कि वे खेतों तक कैसे पहुंचें। बीते दो दिन में ऐसे कई किसान पुलिस कार्रवाई के भय से गांव नहीं जा सके। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि गांव जाने के लिए छूट दी जाए।
कीटनाशक की दुकानें भी खुलवाए प्रशासन
दूसरी ओर जिले में मूंग की बुवाई भी की जा रही है। जहां पहले बुवाई हो चुकी वहां फसल को कीट प्रकोप से बचाने के लिए स्प्रे करने की जरुरत है। लेकिन किसानों के पास कीटनाशक नहीं है। लॉकडाउन के दौरान इसकी दुकानें बंद होने से उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। किसानों का कहना है कि प्रशासन को इन दुकानों का समय भी निर्धारित कर खुलवाना चाहिए, ताकि समय पर कीट नियंत्रण किया जा सके।
-------------------
कटाई के लिए आए दूसरे जिलों के मजदूर लॉकडाउन में फंसे
हरदा। रबी सीजन की चना फसल की कटाई के लिए हर साल की तरह इस बार भी बैतूल व खंडवा जिले से बड़ी संख्या में मजदूर आए थे। चना फसल की कटाई लगभग पूर्ण होने को है। अब इन मजदूरों को अपने गांव जाना है, लेकिन लॉकडाउन के दौरान आवागमन के साधन नहीं होने से वे चाहकर भी नहीं जा पा रहे। आम किसान यूनियन के राम इनानिया के मुताबिक जिले के गांवों में सैकड़ों ऐसे मजदूर हैं जिन्हें दूसरे जिलों में जाना है। उनके परिवार के कई सदस्य वहीं हैं। बेवजह यहां रुकने से उन्हें कई तरह की समस्या हो रही है। कलेक्टर को ट्विीट कर इस आशय की जानकारी दी गई है, ताकि मजदूरों को उनके गांव तक जाने की व्यवस्था हो सके।
-----------------------------

बृजेश चौकसे Editorial Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned