जय कन्हैयालाल के उद्घोषों से गूंजा शहर

जय कन्हैयालाल के उद्घोषों से गूंजा शहर

sanjeev dubey | Publish: Sep, 04 2018 11:51:54 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

- धूमधाम से मनाई जन्माष्टमी, सरस्वती शिशु विद्या मंदिर ने निकाली शोभायात्रा, बच्चों ने श्रीकृष्ण, राधा व अन्य पात्रों का वेश धारण किया

हरदा. नंद घर आनंद भयो, जय कन्हैयालाल के उद्घोषों के साथ सरस्वती शिशु विद्या मंदिर के छात्र-छात्राओं, शिक्षकों ने शहर के प्रमुख मार्गों से भव्य शोभायात्रा निकाली। शोभायात्रा में भगवान श्रीकृष्ण के द्वारा गीता उपदेश, माखनचोर, सुदामा चरित्र, श्रीकृष्ण-राधिका की सजीव झांकियां सजाई गईं। वहीं शोभायात्रा में शामिल छात्राएं सिर पर कलश रखकर भगवान श्रीकृष्ण की आराधना में लगीं थीं, वहीं दूसरी ओर दूसरी ओर हायर सेकेंडरी के छात्र-छात्राएं जयघोष लगा रहे थे।शोभायात्रा करीब लगभग 2 किलोमीटर की थी।
शोभायात्रा पर नागरिकों द्वारा पुष्पवर्षा कर स्वागत किया गया। शोभायात्रा शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए वापस विद्या मंदिर पहुंची। जहां पर भगवान का पूजन कर महाआरती की गई। इस अवसर पर संघ के प्रांतीय शारीरिक प्रमुख चेतन भार्गव ने राष्ट्रभक्ति से ओतप्रोत प्रेरणादायी उद्बोधन दिया। इसी तरह शहर के मंदिरों में भगवान श्रीकृष्ण का विशेष अभिषेक, श्रृंगार और पूजन किया गया। वहीं मटकी फोड़ प्रतियोगिता भी आयोजित की गई।

भगवान की प्रतिमा को करागार ले जाकर मनाया श्रीकृष्ण जन्मोत्सव
हंडिया. गांव सहित क्षेत्र में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। अल सुबह से ही बड़ी संख्या में नर्मदा के तटों पर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। नर्मदा का पूजन कर लोगों ने भगवान श्री कृृष्ण के मंदिर पहुंचकर पूजन कर माखन मिश्री का भोग लगाया । दोपहर में स्वध्याय परिवार द्वारा रिद्धनाथ महादेव मंंदिर से भगवान की शोभायात्रा निकाली गई। जो बस स्टैंड होते हुए पुलिस थाना हंडिया पहुंची। जहा पर भगवान की प्रतिमा को करागार में ले जाकर जन्म उत्सव मनाया गया। पूजन किया गया। यहां से यह पालकी ग्राम के मुख्य मार्गो से होते हुए शंकर मंदिर, पुराना थाना प्रांगण पर जाकर गीता के पाठ के साथ पूर्ण हुई। सरस्वती शिशु मंदिर हंडिया प्रांगण में ग्राम की चारों आंगनवाड़ी केन्द्रों द्वारा सामूहिक रूप से श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। जहां बच्चें राधा कृष्ण बनाकर पहुंचे। बांगरूल, कुसिया, हीरापुर, डुमलाय आदि ग्रामों में वाहन रैली निकाली गई। जिसमें भगवान वंशी वाले की आकर्षक झांकी निकाली गई।

खिरकिया. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर सरस्वती शिशु मंदिर के बच्चों ने खेड़ीपुरा से शोभायात्रा निकाली। इसमें ५१ बच्चों ने सामूहिक नृत्य किया। सजीव झांकी सजाई। शोभायात्रा नगर में जगह जगह स्वागत किया गया। शोभायात्रा का समापन खिरकिया गल्ला मंडी श्री राधा कृष्ण मंदिर में महाआरती के साथ किया गया। नगर की आंगनबाड़ी केन्द्र क्रमांक 7 एवं 8 में समाजसेवी संध्या रामकृष्ण बायवार एवं आरती दरबार की उपस्थिति में श्रीकृष्ण जन्म उत्सव मनाया गया। छोटे छोटे बच्चे कृष्ण के रूप मे सजाए गए। प्रतिभा शुक्ला सरस्वती महाजन, ललिता शुक्ला आदि मौजूद थी।

टिमरनी. नगर के वार्ड नंबर 15 की आगनवाड़ी केन्द्र में पोषण माह के अंतर्गत कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें जन्म अष्टमी के अवसर पर बालक बालिकाओं को राधा कृष्ण के रूप में सजाया गया। सुरेखा सोलंकी ने राधा कृष्ण बने बच्चों को तिलक लगाकर पूजन किया। पोषण संबंधी समझाईस दी गई। प्रसाद वितरण किया गया। के्रन्द पर पोषण मंटकी टांगी गई। इस दौरान सेक्टर पर्यवेक्षक संगीता राजपूत, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता त्रिवेणी परदेशी सहायिका सहित हेमलता मालाकार सहित अन्य मौजूद थे।

बालागांव . सरस्वती शिशु मंदिर बालागांव एवं रंहाईकला में श्री कृष्ण जन्म महोत्सव मनाया गया।बच्चे राधा कृष्ण का रूप धारण पहुंचे। राधाकृष्ण की पूजा अर्चना की। मटकी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। माखन मिश्री का प्रसाद वितरण किया गया। गांव की आंगनबांड़ी केंद्रों पर भी कार्यक्रम आयोजित किए गए।

दीपगांव कला. गांव की आंगनवाड़ी केंद्र क्रमांक 1 और 2 पर पोषण आहार कार्यक्रम के अंतर्गत श्रीकृष्ण जन्म उत्सव मनाया गया। जिसमें ग्राम की महिलाओं के साथ किशोरी बालिकाओं ने भी हिस्सा लिया। दुर्गा खोदेरे , अनुसुइया राजपूत, शारदा राजपूत, शिवानी राठौर, शीतल राजपूत ममता पारे आदि मौजद थे।

कांकरिया. सरस्वती शिशु मंदिर बारंगी में श्री कृष्ण जन्म उत्सव पर कृष्ण सुदामा और वासुदेव की वेशभूषा में झांकी निकाली गईर्। ग्रामीणों ने शोभायात्रा पर पुष्प वर्षा कर स्वागत किया एवं कृष्ण सुदामा और वासुदेव बने बच्चों को तिलक लगाकर पूजा की। सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। भगवान कृष्ण की आरती कर प्रसाद वितरण किया गया।

महेन्द्रगांव. गांव की आंगनवाड़ी केंद्र क्रमांक 1 एवं 2 में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया गया। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता गिरजा पुजारी, वत्सला जोशी, सहायिका रूपा बाईए सुशीला बाई, आदि मौजूद थी। बच्चों को माखन मिश्री , केले का प्रसाद वितरित किया गया। सरस्वती शिशु मंदिर शाला परिवार द्वारा शोभायात्रा निकाली गई। बाल गोपाल एवं राधिका बने बच्चे आकर्षक का केन्द्र रहे। श्रीराम जानकी मंदिर, गायत्री मंदिर, बाजार चौक, सहित बडग़ांव चौक में चल समारोह निकाला गया। बाजार चौक स्थित सार्वजनिक चबूतरा में भगवान श्रीकृष्ण, राधारानी को झूला झुलाया गया। श्रीराम जानकी मंदिर में 24 घंटा रामायण पाठ का आयोजन किया गया। दही, मेवा, फल का प्रसाद बांटा।

धौलपुरकला. गांव के आंगनवाड़ी केंद्र क्रमांक एक में कृष्ण जन्म उत्सव मनाया गया। जिसमें मटकी फोड़ प्रतियोगिता हुई। छोटे-छोटे बच्चों को राधा कृष्ण बनाया गया। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता अरुणा गौर, उर्मिला धुर्वे आदि महिलाएं मौजूद थी ।

करताना. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर रायमल बाबा स्वच्छता संगठन के सदस्यों द्वारा गांव की आंगनबाड़ी में पौधारोपण किया गया। गांव के शंकर सिंह सोलंकी द्वारा दो हजार पौधे निशुल्क प्रदान किए गए। यह पौधे नदी किनारे सहित कूहिग्वाडी तजपुरा के 3 किलोमीटर मार्ग पर लगाए जाएंगे। संगठन द्वारा 2000 पौधे लगाने का संकल्प लिया गया । इस दौरान गांव पदमसिंह यदुवंशी धर्मेन्द्र सोलंकी, अनूपसिंह यदुवंशी, रामदाससिंह यदुवंशी, जगदीश बिल्लोरे सोहन मालवीय, संतोष मालवीय, किशोर सोलंकी, रोहित यादव, विरेन्द सोलंकी आदि मौजूद थे।

पोखरनी. गांव भगवान कृष्ण का जन्मउत्सव हषोल्लास से मनाया गया। राधा कृष्ण मंदिर में महिलाओं द्वारा तथा श्रीराम जानकी मंदिर में पुरुषों की रामसत्ता की गई। दोनों मंदिरों में भगवान श्रीराधा कृष्ण का श्रंगार किया गया। मंदिरों को पुष्पों से सजाया गया । रात 12 बजे भगवान कृष्ण का जन्म उत्सव मनाया गया ।

रहगांव. नगर में जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई गई। स्थानीय गणेश चौक पर भगवान गणेश का श्रृंगार किया। वही राधा कृष्ण मंदिर में भगवान राधा कृष्ण की आकर्षण झांकी बनाई गई। स्थानीय काली जामुन मंदिर में भजन संध्या आयोजित की गई। युवाओं ने भगवान कृष्ण कृष्ण झांकी बैंड बाजे के साथ निकाली। गुड्डू राजपूत एवं अखिलेश कनेरिया द्वारा खिचड़ी का प्रसाद बांटा गया । आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों को राधाकृष्ण बनाकर जन्म उत्सव मनाया। संध्या गौर, भावना प्रजापति, कृष्णा सातनकर लता सराठे आदि मौजूद थी।

दूधकच्छ कला. पानतलाई में कुटी गजानन मंदिर पर श्रीमद् भागवत की चोथे दिन पंडित श्याम शर्मा ने राम विवाह व वनवास की कथा का वर्णन किया। श्री कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर भगवान कृष्ण की झांकी प्रस्तुत की। कान्हा जी का पटाखे ढोल नगाड़ों के साथ स्वागत किया गया। माखन मिश्री का प्रसाद वितरण किया गया।

आलमपुर. गांव के प्राचीन मंदिर को जन्माष्टमी पर फूल माला विद्युत लाइट से सजाया गया राम भगवान का विशेष श्रृंगार किया गया। नए वस्त्रों राममोहन दोगने द्वारा विशेष श्रृंगार किया गया। भजन कीर्तन हुए। रात्रि 12 बजे नंद घर आनंद भयो जय कन्हैया लाल की जयकारों से पूरा मंदिर गूंज उठा। महाआरती हुई। माखन मिश्री पेड़े का प्रसाद बांटा गया। अजय अवस्थी के यहां जन्म उत्सव पर भगवान का प्रसाद लेने ग्रामीण पहुंचे।

मसनगांव. जन्माष्टमी पर ग्रामीण क्षेत्रों में मंदिरों में सुबह से भक्तों का तांता लगा रहा। नवनिर्मित राधा कृष्ण मंदिर में विद्युत साज सज्जा की गई। फूलों से श्रृंगार कर कन्हैया का जन्मदिन मनाया गया। शाम से भजनों का दौर देर रात तक चला। जन्म के पश्चात भगवान की आरती उतारकर प्रसाद बांटा गया। शिशु मंदिर द्वारा जन्माष्टमी पर राधा कृष्ण की झांकी व शोभायात्रा निकाली गई। जिसका ग्रामीणों ने अपने घरों के सामने तिलक लगाकर स्वागत किया।

सिराली. सिराली क्षेत्र में कृष्ण जन्माष्टमी पर्व धूमधाम से मनाया गया। स्थानीय राधा कृष्ण मंदिर में सुबह से ही भक्तों का तांता लगा रहा। भजन मंडलियों द्वारा कृष्ण के भजन गाए गए। मंदिर को आकर्षक फूल माला एवं विद्युत बल्बों से सजाया गया। अन्य मंदिरों में भी कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाया गया। भगवान श्री कृष्ण की झांकियां बनाई। सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय में बच्चे कृष्ण के रूप में सजाकर पहुंचे। कृष्ण मंदिर तक गाजे बजे के साथ चली झांकी निकाली। विश्व हिंदू परिषद एवं धर्म जागरण समिति द्वारा पुराना बस स्टैंड से भगवान कृष्ण की शोभायात्रा निकाली गई। जो नगर के मुख्य मार्गो से होते हुए राधा कृष्ण मंदिर पहुंची। रात्रि 12 बजे भगवान कृष्ण के जन्म पश्चात आतिशबाजी की पीपल्या में श्रीकृष्ण मंदिर परिसर को फूलों व विद्युत साज सज्जा से सजाया गया। जन्मोत्सव मनाया गया।

Ad Block is Banned