जहां के वोटर्स ने भाजपा पर सबसे ज्यादा भरोसा जताया वहां समस्याओं का अंबार

जहां के वोटर्स ने भाजपा पर सबसे ज्यादा भरोसा जताया वहां समस्याओं का अंबार

sanjeev dubey | Publish: Sep, 12 2018 11:34:35 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

जहां के वोटर्स ने भाजपा पर सबसे ज्यादा भरोसा जताया वहां भी समस्याओं का अंबार

हरदा. हरदा विधानसभा क्षेत्र के इंदौर रोड से सटी कालोनियांं। दो-चार वैध बाकी सब अवैध। यहां का सबसे बड़ा मुद्दा ही अवैध कालोनी को वैध करने का है। अवैध होने के कारण सुवधिाओं का अभाव है। सरकार की की घोषणा के बाद उम्मीद जागी है। हाल ही में नगरीय सीमा में शामिल होने के बाद भरोसा बड़ा है, लेकिन हालात अभी बदले नहीं हैं। दो दशक पहले कृषि भूमि पर प्लाट काटकर बेंचे गए, इससे दूर-दूर मकान बनें हैं। शहर का दायरा बढऩे पर हाल ही में पैरासिटी, सुदामा नगर, श्रीरामशरणम, बृजधाम, कुंजविहार कॉलोनी आदि कई कॉलोनियों को नपा क्षेत्र में शामिल किया गया।
विधानसभा चुनाव के परिपेक्ष्य में इस इलाके को देखें तो इन कालोनियों के मतदाता बूथ नंबर 80 पर मत डालने जाते हैं। जहां वर्ष २०१३ के विधानसभा चुनाव में भाजपा को सबसे अधिक ६७२ वोट मिले थे। यह मतदान केंद्र पहले छोटी हरदा गांव में स्थित था। ग्रामीण क्षेत्र के तहत आने के कारण कॉलोनियों में अपेक्षाकृत विकास नहीं हुआ। लोग सड़क, नाली, स्ट्रीट लाइट, पेयजल की समस्या से जूझ रहे हैं। शहर सीमा में शामिल होने के बाद क्षेत्र में दो वार्ड बने। वार्ड क्रमांक 32 में उसी मतदान केंद्र की कॉलोनियां शामिल हैं जिस पर भाजपा को सबसे अधिक बढ़त मिली। सांई मंदिर के ठीक सामने से पैरासिटी कॉलोनी, होलीफैथ स्कूल की तरफ जाने वाला रास्ता सालों बाद भी नहीं बन सका। यहां सड़क पर इतने गड्ढे हैं कि वाहन हिचकोले खाते हैं। बारिश हो जाए तो पैदल निकलना दूभर कर देता है। सड़क किनारे सालों से बनी तवा कमांड की नहर अब नाले का रूप ले चुकी है। इस पर अतिक्रमण कर दुकानें खोल दी गई। खाली प्लाटों में भरा गंदा पानी दुर्गंध छोड़ रहा है। लंबे समय से जमा पानी में मच्छर पनप रहे हैं, जो लोगों को बीमार बना रहे हैं। होलीफैथ स्कूल के पास का नाला सालों से स्थानीय निवासियों की परेशानी का सबब बना हुआ है। इससे उपजती समस्या से निजात के लिए लोगों ने अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों से कई बार गुहार की, लेकिन कार्रवाई के नाम पर हर मर्तबा रस्मअदायगी होते रही। पेयजल को लेकर भी ठोस प्रबंध नहीं हो सके। गर्मी आते ही ट्यूबवेल सूखने लगते हैं और लोग टैंकरों के भरोसे रहते हैं। यहां के मतदाताओं का कहना है कि प्लाट खरीदने के दौरान कॉलोनाइजर्स ने लंबे-चौड़े वादे किए। सौदा होने के बाद हीलाहवाली शुरू हो गई। जिन कॉलोनियों में ड्रेनेज सिस्टम बनाया गया, वह कम समय में ही टूटने लगा। सड़कें भी खराब हो चली। शहर सीमा में शामिल होने के बाद कुछ विकास कार्य शुरू हुए हैं। सुदामा नगर में रहने वाले अधिवक्ता ऋषि पारे बताते हैं कि यहां अभी विकास की बहुत जरुरत है। भागेश के मुताबिक कॉलोनी में ड्रेनेज सिस्टम, पक्की सड़क आदि की आवश्यकता है। इन तमाम हालातों के बीच दोनों दलों के जीत के दावे बरकरार हैं। वार्ड 32 के भाजपा अध्यक्ष विजय जेवल्या का कहना है कि मतदाताओं ने पार्टी पर भरोसा जताया, लेकिन विधायक कांग्रेस का चुने जाने से काम नहीं हो सके। अब यह क्षेत्र नगरीय सीमा में शामिल हो चुका है। पार्टी शासित नपा होने से यहां विकास कार्य शुरू हो चुके हैं। मुख्यमंत्री ने नए वार्ड के लिए 1 करोड़ रुपए दिए थे, उस राशि से सड़क, नाली आदि कार्य कराए जा रहे हैं। एनएच के दोनों किनारों पर भी नपा द्वारा नाली निर्माण शुरू कराया जाएगा। गर्मी में लोगों को टैंकर से पेयजल सप्लाई की गई। कॉलोनियों को वैध करने की कार्रवाई भी प्रक्रियाधीन है। इसके बाद यहां के विकास को गति मिलेगी।

जहां कांग्रेस सबसे आगे रही उस गांव को मिले सात लाख
पिछले विधानसभा चुनाव में जिस गांव के बूथ क्रमांक 237 पर कांग्रेस को सबसे ज्यादा 6 97 वोट मिले वहां विधायक डॉ. आरके दोगने ने विकास कार्यों के लिए 7 लाख रुपए दिए। खिरकिया ब्लाक के जटपुरा माल गांव के इस केंद्र के मतदाता विकास को लेकर मौजूदा स्थिति से खुश तो हैं लेकिन अभी और काम की जरूरत बताते हैं। विधायक निधि से मिली राशि से यहां सड़क, नाली व छत चबूतरा का निर्माण कराया गया। विधायक ने पेयजल सप्लाई के लिए गांव को एक टैंकर भी प्रदान किया है। सरपंच बृजेश राजवैद्य के मुताबिक 10 से ज्यादा बार गांव पहुंचे विधायक ने हाईस्कूल भवन के लिए सरकारी जमीन दिलाने के खासे प्रयास किए। जमीन नहीं मिली तो भूमि दान कराई गई। स्कूल भवन निर्माण में उनका पूरा सहयोग रहा। गांव की अन्य समस्याओं का निराकरण भी उन्होंने समय रहते कराया।

विधानसभा क्षेत्र : हरदा
बूथ नंबर 8 0
मतदान केंद : प्राथमिक स्कूल सुदामा नगर
2013 में मतदान : ८३४ वोट
भाजपा को मिले वोट : ६७२

--
वर्ष २०१३ विधानसभा चुनाव
- २५१ बूथ पर हुआ था मतदान
- ८० नंबर बूथ पर भाजपा को मिले थे सबसे अधिक ६७२ वोट
- २३७ नंबर बूथ पर कांग्रेस को मिले थे सबसे अधिक ६९७ वोट
- १९८५९६ मतदाताओं ने डाले थे वोट
- ७४६०७ वोट मिले थे कांग्रेस को
- ६९९५६ वोट मिले थे कांग्रेस को
- ६९३४ वोट अन्य तथा 3326 वोट गए थे अन्य के खाते में
- २११४६० के लगभग वोटर्स करेंगे इस चुनाव में मताधिकार का प्रयोग

Ad Block is Banned