शिवराज सरकार के मंत्री ने पूर्व सीएम कमलनाथ को बताया सबसे बड़ा झूठा, देखें वीडियो

मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने कमलनाथ को बताया देश का सबसे बड़ा झूठा नेता, बोले-प्रदेश की जनता से माफी मांगें कमलनाथ...

By: Shailendra Sharma

Published: 23 Sep 2020, 06:32 PM IST

हरदा. कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने एक बार फिर आक्रामक तेवर दिखाते हुए पूर्व मंत्री कमलनाथ को देश का सबसे बड़ा झूठा नेता बताया है, उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद कमलनाथ ने किसानों की कर्ज माफी के ऐसे आदेश पर हस्ताक्षर किए जो फिर पूरा ही नहीं किया गया। कमलनाथ ने फसल बीमा का स्केल ऑफ फायनेंस घटाकर किसानों को 1553 करोड़ रुपये का चूना लगाया है।

कमलनाथ किसान विरोधी और झूठे नेता-कृषि मंत्री
कृषि मंत्री कमल पटेल ने पत्रकारों से बातचीत में कमलनाथ को किसान विरोधी बताते हुए कहा कि उन्हीं के कारण प्रदेश के किसानों को फसल बीमा के 1553 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है। कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि किसानों की कर्जमाफी के जिन आंकड़ों को लेकर कांग्रेस और कमलनाथ फूले नहीं समा रहे वह दरअसल कागजी आंकड़े हैं, हकीकत इसके विपरीत हैं। उन्होंने कहा कमलनाथ की वादाखिलाफी के कारण 6 मंत्री और 22 विधायक उन्हें धक्का देकर बाहर आ गये अब प्रदेश की जनता होने कांग्रेस को धक्का देकर बाहर करेगी। मंत्री कमल पटेल ने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस और कमलनाथ किसान विरोधी हैं, कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही 48 लाख किसानों के 2 लाख रुपये तक के 54 हजार करोड़ रुपये के कर्ज माफ करने का आदेश निकाला था, लेकिन हरदा में ही दो भाइयों के 80-80 हजार रुपए के ऋण अब तक माफ नहीं किए गए हैं। कमल पटेल ने कहा कि कमलनाथ ने जो किया उससे सहकारी सोसायटी आर्थिक तंगी में आ गई और वह किसानों को लोन नहीं दे सके। कमलनाथ ने फसल बीमा के लिए स्केल आफ फाइनेंस भी घटाकर 75 प्रतिशत कर दिया जिससे प्रीमियम कम हो, लेकिन यह प्रीमियम भी जमा नहीं कराया जिससे किसानों को फसल बीमा का लाभ मिलना मुश्किल हो गया था।

देखें वीडियो-

काम करने के लिए पैसा नहीं नीयत होनी चाहिए-कृषि मंत्री
कमल पटेल ने कहा कि कमलनाथ खजाना खाली होने का रोना रोते रहे लेकिन शिवराज सिंह ने मुख्यमंत्री बनने के 8 दिन के भीतर 2200 करोड़ का प्रीमियम जमा कर 32 करोड़ का फसल बीमा दिलाया, उन्होंने कहा कि जब खजाना खाली था तो शिवराज जी के पास कहां से पैसा आ गया, कमल पटेल ने कहा कि पैसे नहीं नीयत होना चाहिए काम करने की। कमल पटेल ने कहा कि किसानों को 2019 के फसल बीमा के 4668 का भुगतान किया गया है जो 6200 करोड़ होना था लेकिन कमलनाथ की किसान विरोधी नीतियों से किसानों को 1557 करोड़ का नुकसान हुआ है।

'कमलनाथ जनप्रतिनिधि बनने के लायक नहीं'
कमल पटेल ने कहा कि अगर सच्चे किसान हितैषी हैं तो कमलनाथ या सोनिया गांधी किसानों के खाते में यह राशि जमा करें अन्यथा प्रदेश का किसान उन्हें माफ नहीं करेगा। कमल पटेल ने कहा कमलनाथ जनप्रतिनिधि बनने लायक नेता ही नहीं उन्हें नेता प्रतिपक्ष के पास से इस्तीफा दे देना चाहिए और प्रदेश की जनता से इस बात के लिए माफी मांगना चाहिए कि उन्होंने जनता को गुमराह किया और जनता से किया गया वादा पूरा नहीं किया।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned