अमावस्या पर नर्मदा स्नान करने पहुंचे श्रद्धालुओं को लौटाया

सामूहिक स्नान पर प्रतिबंध लगाने से नर्मदा घाटों पर पसरा रहा सन्नाटा

By: gurudatt rajvaidya

Published: 22 Jun 2020, 08:02 AM IST

हंडिया. कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए शनिवार को जिला अनुराग वर्मा ने अमावस्या एवं पूर्णिमा के साथ ही अन्य धार्मिक त्योहारों पर नर्मदा में सामूहिक स्नान पर पूर्णता प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी किया था। इस कारण रविवार को आषाढ़ मास की अमावस्या एवं सूर्यग्रहण के चलते राजस्व एवं पुलिस अमला सुबह से ही नर्मदा घाटों पर सक्रिय रहा। नर्मदा स्नान करने पहुंचे श्रद्धालुओं को पुलिस व राजस्व टीम द्वारा वापस लौटा दिया गया। सूर्य ग्रहण के चलते सुबह से ही मंदिरों के कपाट बंद रहे। दोपहर 2 बजे ग्रहण का मोक्ष होते ही मंदिरों में भगवान का पूजन अभिषेक शुरु हुआ। नर्मदा घाटों पर यहां वहां से बड़ी संख्या में लोग नर्मदा स्नान करने पहुंचे। जिन्हें पुलिसकर्मियों द्वारा घाटों पर जाकर रोका गया। देर शाम तक नर्मदा स्नान करने आने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ रही। पुलिसकर्मी नर्मदा घाटों पर पहुंच रहे श्रद्धालुओं को रोककर वापस भेजते रहे।
बादलों के कारण नहीं दिखा सूर्यग्रहण का नजारा
मसनगांव. गांव सहित क्षेत्र में सुबह से बादल छाने से लोग सूर्यग्रहण का नजारा नहीं देख सके। शनिवार रात से ही ग्रहण का सूतक लगने से सभी मंदिरों के पट बंद कर दिए गए थे। जो रविवार को दोपहर तक बंद रहे। दोपहर ढाई बजे के बाद ग्रहण समाप्त होने पर मंदिरों के पट खोलकर भगवान की पूजा व आरती की गई। कुछ श्रद्धालु नर्मदा स्नान करने हंडिया भी पहुंचे, लेकिन प्रशासन की सख्ती के कारण उन्हें बिना नर्मदा स्नान किए ही लौटना पड़ा।

gurudatt rajvaidya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned