खलिहानों में अवैध स्टॉक करके रखी थी नर्मदा की लाखों रुपए की रेत

खनिज एवं राजस्व विभाग की टीम द्वारा 10 प्रकरण दर्ज कर 517 घन मीटर रेत जब्त की, 32 लाख 31 हजार 250 रुपए का अर्थदण्ड प्रस्तावित

By: gurudatt rajvaidya

Published: 17 Jun 2020, 08:01 AM IST

हरदा। कलेक्टर अनुराग वर्मा के निर्देश पर मंगलवार को राजस्व एवं खनिज विभाग द्वारा नर्मदा नदी के पास के गांव मनोहरपुरा, सुरजना, अजनई एवं गोयत में रेत के अवैध भंडारणकर्ताओं के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई। प्रभारी अधिकारी खनिज शाखा हरदा ने बताया कि इस दौरान 10 प्रकरण दर्ज कर 517 घन मीटर रेत जब्त की गई है। अवैध भंडारणकर्ताओं द्वारा नर्मदा नदी से रेत लाकर बेचने के लिए भंडारण किया गया था। मौका जांच में अवैध भंडारणकर्ताओं द्वारा रेत परिवहन की ईटीपी नहीं बताई गई। गोयत में जितेन्द्र नारायण जाट द्वारा जांच में सहयोग नहीं किया गया। मनोहरपुरा गांव में अवैध भंडारणकर्ता दुलीचन्द कीर से 25 घन मीटर रेत जब्त कर 1 लाख 56 हजार 250 रुपए, गोविंद गुरुबक्श कीर से 15 घन मीटर रेत जब्त कर 93 हजार 750 रुपए, बबलू प्रहलाद कीर से 25 घन मीटर रेत जब्त कर 1 लाख 56 हजार 250 रुपए अर्थदण्ड प्रस्तावित किया गया। सुरजना गांव में अवैध भंडारणकर्ता भगतराम सालकराम कीर से 110 घन मीटर रेत जब्त कर 6 लाख 87 हजार 500 रुपए, गंगाराम रामसिंह कीर से 40 घन मीटर रेत जब्त कर 2 लाख 50 हजार रुपए, मनोहर सिंह अमर सिंह कीर से 80 घन मीटर रेत जब्त कर 5 लाख रुपए, शिवनारायण नर्मदाप्रसाद से 50 घन मीटर रेत जब्त कर 3 लाख 12 हजार 500 रुपए तथा मंगलेश ज्ञानदास से 60 घन मीटर रेत जब्त कर 3 लाख 75 हजार रुपए अर्थदण्ड प्रस्तावित किया गया। अजनई में अवैध भंडारणकर्ता जयनारायण रामविलास कीर से 22 घन मीटर रेत जब्त कर 1 लाख 37 हजार 500 रुपए तथा गोयत में अवैध भंडारणकर्ता जितेन्द्र नारायणदास जाट से 90 घन मीटर रेत जब्त कर 5 लाख 62 हजार 500 रुपए अर्थदण्ड प्रस्तावित किया गया। संयुक्त टीम द्वारा 10 प्रकरण दर्ज कर 517 घन मीटर रेत जब्त की गई। इस मामले में 32 लाख 31 हजार 250 रुपए अर्थदण्ड प्रस्तावित किया गया है।
जब्ती की रेत खुर्द-बुर्द की तो होगी अलग से वसूली
जब्तशुदा अधिकतम रेत अवैध भंडारणकर्ताओं को उन्हीं की सुपुर्दगी में दी गई है। यदि वे इसे खुर्द-बुर्द करते हैं या बेचते हैं तो उनसे जुर्माने के अतिरिक्त 454.60 रुपए प्रति घन मीटर राशि वसूली जाएगी। प्रकरणों को निराकरण के लिए अपर कलेक्टर न्यायालय में प्रस्तुत किया जा रहा है।

gurudatt rajvaidya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned