अधिकारी देखें कि खेत, ईंट भट्टा व के्रशर पर बंधक श्रमिक तो काम नहीं कर रहे

अधिकारी देखें कि खेत, ईंट भट्टा व के्रशर पर बंधक श्रमिक तो काम नहीं कर रहे

pradeep sahu | Publish: Sep, 10 2018 03:35:47 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

जिला स्तरीय सतर्कता समिति की बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिए

हरदा. कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में कलेक्टर एस. विश्वनाथन की अध्यक्षता में बंधक श्रमिकों की पहचान, विमुक्ति एवं पुर्नवास के लिए गठित जिला स्तरीय सर्तकता समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर ने निर्देशित किया कि उपखण्ड स्तरीय सतर्कता समितियों की नियमित रूप से बैठक आयोजित कर एक सप्ताह में कार्यवाही विवरण अनिवार्यत: प्रस्तुत करें। सभी शासकीय एवं अशासकीय सदस्य, श्रम व राजस्व तथा पुलिस एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारी भ्रमण कर पता करें कि कृषि नियोजन, ईंट भट्टा, स्टोन क्रेशर एवं अन्य संस्थानों में किसी नियोजक द्वारा कर्ज या उधार देकर कार्य तो नहीं कराया जा रहा। ऐसा पाए जाने पर श्रम अधिनियम के तहत कार्रवाई सुनिश्चित करें। उन्होंने टिमरनी एसडीएम को निर्देशित किया कि पूर्व में विमुक्त कराए गए बंधक श्रमिक संतराम पिता भागीरथ निवासी झाड़बीड़ा को पात्रतानुसार संबंधित विभाग से कौषल उन्नयन का प्रशिक्षण दिलाकर रोजगार उपलब्ध कराएं। बैठक में अपर कलेक्टर बीएल कोचले, जिला शिक्षा अधिकारी, महिला एवं बाल विकास अधिकारी, उप संचालक एकीकृत बाल विकास, जिला विधिक सहायता अधिकारी, श्रम निरीक्षक, श्रम पदाधिकारी, जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण विभाग, वेदप्रकाश विश्नोई, विष्णु जायसवाल, ललित मालवीय आदि उपस्थित थे।

एसपी ने परिवार परामर्श केंद्र की कार्रवाई देखी
हरदा. एसपी राजेश कुमार सिंह ने रविवार को जिला स्तरीय परिवार परामर्श केंद्र का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने प्रकरणों की सुनवाई व कार्रवाई देखी। काउंसलर रजनीश शर्मा ने बताया कि प्रति सप्ताह आयोजित बैठक में इस बार 5 प्रकरण रखे गए थे। इस दौरान एसपी सिंह ने प्रकरणों में उपस्थित पक्षकारों से चर्चा कर रहे काउंसलरों की कार्रवाई को समझते हुए जरूरी निर्देश दिए। जिन प्रकरणों में समझौता होता है उन दंपति को स्मृति चिह्न दिया जाए ताकि उन्हें समझौते की कार्रवाई याद रहे और वे सुखी जीवन जीएं। केंद्र के सदस्य उनके संपर्क में रहते हुए पता करें कि दंपति का जीवन ठीक चल रहा है। केंद्र प्रभारी ज्योत्सना वर्मा व काउंसलर दीपा कौशल मौजूद रहीं। आज 3 प्रकरणों का निराकरण किया गया।

Ad Block is Banned